Log in

 

updated 6:22 PM UTC, Mar 26, 2017
Headlines:

हत्याकांड के मास्टर माइंड की गिरफ्तारी को लेकर सीएम योगी सामने धरना देंगे परिजन

कविश/ बुलंदशहर, औरंगाबाद थाना क्षेत्र के गांव इस्माइला निवासी कांग्रेसी नेता शांति स्वरूप शर्मा हत्याकांड के मास्टर माइंड अमित ठाकुर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मुख्य गवाह मृतक का पुत्र समेत अन्य परिजन सोमवार को लखनऊ में सीएम आदित्यनाथ योगी के आवास पर धरना देंगे।

 

साथ ही वह डीजीपी जावीद अहमद से पुलिस की शिकायत करेंगे। बता दें कि गत 29 अक्टूबर को गांव इस्माइला निवासी कांग्रेसी नेता शांति स्वरूप शर्मा की नगर कोतवाली के सुशीला विहार में दीपावली पर्व की रात प्रधानी चुनावी रंजिश में गांव के ही अनिल दुजाना गैंग के टॉप शूटर अमित ठाकुर ने अन्य साथियों के साथ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी।

 

हत्याकांड के मुख्य गवाह मृतक के पुत्र शुभम ने मुकदमा दर्ज कराया था। पांच माह के भीतर पुलिस मात्र अमित के भाई सुमित को ही गिरफ्तार कर सकी है। जबकि हत्याकांड का मास्टर माइंड फरार चल रहा है और मुकदमा वापस न लेने पर लगातार जान से मारने की धमकी दे रहा है। जिससे पीड़ित का परिवार गांव में भय के साये में जीने का मजबूर है।

 

यूपी के उर्जा मंत्री और मथुरा के विधायक श्रीकांत शर्मा के हस्तक्षेप पर रविवार को लखनऊ में सीएम आदित्यनाथ योगी के पीए से फोन पर वार्ता की। हत्याकांड के गवाह शुभम ने बताया कि सोमवार को कई संगठनों के लोग सीएम आवास के बाहर परिजनों संग धरना देंगे

 

रोमियो को घर बुलाकर परिजनों ने किया गंजा, गांव में घुमाया

संभल। योगी सरकार की एंटी रोमियो टीमें जहां मनचलों पर शिकंजा कस रही है तो वही दूसरी तरफ लोग भी जागरूक होते जा रहे है। अश्लील हरकत करने वाले को परिजन खुद ही सब‌क सिखाने नगे है। जीं हां ऐसे ही मामला देखने को मिला संभल के असमोली गांव में। मनचले को परिजनों ने घर बुलाकर उसकी पिटाई की और फिर सिर का मुडंन कर दिया और गांव में घुमाया।

 

संभल जिले कें असमोली गांव की युवती को गांव का ही एक रोमियो काफी दिन से अश्लील बाते करके परेशान कर रहा था। काँल करने का विरोध करने पर भी युवक नही माना। उसके बाद परेशान होकर युवती ने परिजनों को जानकारी दी। जिसके बाद परिजनों ने युवती से मनचले को फोन कराया, युवती ने मनचले से कहा कि आज मेरे घर कोई नही है, सभी लोग बाहार गये हुए घर आ जाओ,मुलाकात हो जायेगी।

 

फिर क्या मनचले पर इश्क का भूत सवार था और वह सीधे मुलाकात के लिए घर चले गये। जैसे ही मनचला घर पहुंचा तो परिजनों ने दबोच कर घर में बंद कर लिया और जमकर धुनाई की। मजमा देखने पहुंचे लोगों ने भी पिटाई करनी शुरू करदी। एक युवक ने उस्तरा से मनचले के सिर का मुंडन कर गांव में घुमाया। जानकारी मिलने के बाद असमोली थाने के पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने युवक को अपनी हिरासत में लेकर थाने ले आयी।

 

 

शराब के ठेके पर टूटा महिलाओं को कहर, निर्माणाधीन शराब ठेके को ढहाया

कविश/ बुलंदशहर, खानपुर थाना क्षेत्र के गांव शेखपुर गढ़वा से देशी शराब का ठेका हटकर गांव के रास्ते पर बन रहे निर्माणाधीन ठेके पर रविवार दोपहर महिलाओं ने धावा बोल दिया। गुस्साई महिलाओं ने ठेके के निर्माण को ढहा दिया। महिलाओं ने पुन: निर्माण करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। बुलंदशहर-औरंगाबाद-गढ़मुक्तेश्वर स्टेट हाईवे स्थित गांव शेखपुर गढ़वा पर देशी शराब का ठेका कई वर्षों से स्थापित है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ठेका स्वामी गांव के मुख्य मार्ग के पास एक खेत में महिलाओं के डर से रात्रि के समय निर्माण करा रहा था। रविवार दोपहर करीब दो बजे महिलाओं को ठेका स्थापित होने की जानकारी मिली। सूचना मिलने पर दर्जनों महिलाएं हाथों में लाठी-डंडे लेकर मौके पर जा धमकी। उस दौरान वहां कोई भी मजदूर मौजूद नहीं था। महिलाओं ने निर्माणधीन ठेके को लाठी-डंडों से दीवार गिराकर उसे ध्वस्त कर दिया और पुन: निर्माण होने पर आंदोलन की चेतावनी दी।

 

महिलाओं का कहना था कि इस मार्ग से अधिकतर लड़कियां पैदल ही कालेज जाती हैं। जिनके साथ आये दिन शराबी गाली गलौच करते रहेंगे। महिलाओं ने ठेका निर्माण होने पर लड़कियों को कालेज में न पढ़ाने की चेतावनी दी है। प्रदर्शन में गीता, पूनम, उर्मिला, सविता, महेन्द्री, मुन्नी देवी, पिंकी, ललिता, जगवीरी, मितलेश, देवेन्द्री, रजनी, किरण, बसंती, अंजलि, पुष्पा आदि मौजूद रही।



 

इस आईएएस ने चुनाव आयोग के 20 करोड़

पंकज चतुर्वेदी/लखनऊ। इस आइएएस ने अपने तकनीकी ज्ञान से केंद्रीय चुनाव आयोग के 20 करोड़ रुपये बचाए। उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय में अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी (एसीईओ) पद पर कार्यरत अनिल गर्ग ने मतदाताओं और चुनाव प्रबंधन में लगे अधिकारियों व कर्मचारियों की सुविधा के लिए कई वेब एप्लिकेशन और मोबाइल ऐप बनवाए। यही काम आउटसोर्सिंग के जरिए कराए जाने पर चुनाव आयोग को 20 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ते।


वर्ष 1997 बैच के आईएएस अनिल गर्ग पटियाला (पंजाब) के थापर इंस्टीट्यूट आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नालॉजी से इलेक्ट्रानिक्स में बीटेक हैं। मतदान प्रक्रिया शुरू होने तक सीईओ की वेबसाइट पर उपलब्ध कराए गए 7 मोबाइल ऐप और 7 वेब एप्लिकेशन प्रयोग में लाए जा रहे थे। यह सब तैयार करने के लिए एसीईओ अनिल गर्ग ने किसी बड़ी आईटी कंपनी से आउटसोर्स नहीं किया बल्कि राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के तकनीकी विशेषज्ञों की मदद से ही अपना मकसद हासिल कर लिया। इस मुहिम में आईटी कोर्डिनेटर के तौर पर एनआईसी के प्रमुख प्रणाली विश्लेषक शैलेष श्रीवास्तव ने अहम भूमिका निभाई। विशेषज्ञों का कहना है कि आउटसोर्सिंग करने पर आयोग को कम से कम 20 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ते। इनमें कुछ वेब एप्लिकेशन व मोबाइल ऐप भारत निर्वाचन आयोग को बहुत पसंद आए। उसने देश के अन्य राज्यों को उत्तर प्रदेश की इस पहल से सीखने की सलाह दी। आयोग की सलाह पर कुछ राज्यों ने अपने प्रतिनिधियों को यहां भेजा भी।


-बेहद लोकप्रिय हुआ सर्च इंजन-
इन प्रयोगों का ही नतीजा रहा कि इस बार मतदाता सूची में अपना नाम खोजने के लिए एक बेहद आसान तरीका इस्तेमाल में लाया गया। इसके लिए अनिल गर्ग ने एक सर्च इंजन तैयार कराया। सीइओ यूपी की वेबसाइट पर मौजूद यह वेब एप्लिकेशन ‘सर्च योर नेम इन इलेक्टोरल लिस्ट’ इतना लोकप्रिय हुआ कि मात्र तीन महीने में 28 लाख से ज्यादा मतदाता इसका उपयोग कर चुके हैं। इसमें आप अपने नाम या वोटर आईडी नंबर से मतदाता पर्ची देख सकते हैं। यह एप्लिकेशन 25 अक्टूबर 2016 को लांच हुआ था। इसके अलावा मोबाइल ऐप ‘एम वोटर’ ने भी खासी धूम मचाई। मतदाताओं के मतलब की सभी सूचनाएं इस ऐप में एक साथ उपलब्ध करा दी गई थीं।

 

-हाईटेक तरीके से हुई चुनाव की निगरानी-
केंद्रीय निर्वाचन आयोग और मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय इस बार हाईटेक तरीके से चुनाव व्यवस्था की निगरानी की। पहली बार एक नए साफ्टवेयर ‘पोल डे मॉनीटरिंग सिस्टम’ (पीडीएमएस) के जरिए मतदान प्रतिशत एवं ईवीएम मशीनों में आने वाली समस्याओं के बारे में पल-पल की सूचनाएं आयोग के पास पहुंचीं। सीईओ और एसीईओ ने पूरे दिन अपने-अपने कमरे में बैठकर कम्प्यूटर स्क्रीन पर ही मतदान प्रतिशत और ईवीएम मशीनों से जुड़ी दिक्कतों का अपडेट लिया।

महिला डॉक्टर पर लगा नवजात शिशु को बदलने का आरोप परिजनों ने काटा हंगामा

कन्हैयालाल यादव/बलरामपुर। भगवान का दूसरा रुप कहे जाने वाले डॉक्टरों पर अवैध वसूली और मरीजो से अभद्रता करने का आरोप लगता रहा है भ्रष्टाचार के क्रम में एक कदम आगे बढ़ते हुए जिला महिला चिकित्सालय में रविवार को बच्चा बदलने का आरोप परिजनों ने लगाते हुए काफी हंगामा काटा। जिला महिला चिकित्सालय में उस समय परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया जब डिलेवरी के बाद मृत बच्चा पैदा होने की सूचना आशा बहू ने परिजनों को दिया ।मृत बच्चे को आशा ने परिजनों को दे दिया।

 

परिजन उसे मिटटी देने के लिये श्मशान घाट ले गए तो वहा बच्ची होने का मामला सामने आया ।आशा और स्टॉप नर्स के खेल से परिजनो ने हंगामा शुरू कर दिया । हंगामा को देखकर स्टॉप नर्स ने महिला मरीज को डिस्चार्ज कर दिया परिजन प्रसूत का अस्पताल परिसर में जमीन पर लिटा कार हंगामा शुरू कर दिया  परिजन मुंशी राम ने बताया की 25 मार्च को शाम अपनी पत्त्नी बड़का को भर्ती कराया था ।इलाज के लिये 3500 रु लिया गया और डिलवरी के बाद मृत बच्चा बताकर मृत बच्ची पकड़ा दिया गया का आरोप लगाया है।

change of kids in hospital.jpg

इस संबंध में सी एम एस महिला डाक्टर नीना वर्मा ने बताया अस्पताल में कोई बच्चा बदली नहीं की गई है आज के दिन हमारे यहां सुबह 7:20 पर एक डिलीवरी हुई थी जिसका बच्चा जीवित है और दूसरी डिलीवरी 7:30 पर कोडरी निवासी बडका  पत्नी मुंशीराम ही हुई है जिसमें मृत्य बच्ची नॉर्मल डिलीवरी हुई है   प्रमाण पत्र में कार्बन कॉपी देने का प्रवधान है इन्हें उपलब्ध कराई गई प्राप्ति मे  स्पष्ट नहीं हो रहा था इसलिए इन्हें मूल कॉफी की छायाप्रति उपलब्ध करा दी गई है

 

सिद्धार्थनगर में सीमा सुरक्षा बल के इस काम से महिलाएं हुईं खुश

धर्मवीर गुप्ता/सिद्वार्थनगर जिले मे भारत नेपाल के सीमाई क्षेत्रों मे एसएसबी ने महिलाओ को जागरूक करने के लिए एक अनोखी पहल शुरू की है। एसएसबी ने बार्डर क्षेत्रो की महिलाओ को सिलाई कढाई प्रशिक्षण कराकर स्वलंबी बनाने का बीडा उठाया है। बजहा बार्डर पर एक महीने तक चलने वाले इस प्रशिक्षण मे सैकडों की संख्या मे महिलाये और बच्चियां सीलाई कढाई सीख रही है।

ssb.png

बाकायदा एसएसबी ने अपने खर्च पर एक महिला ट्रेनर रखकर इन महिलाओ को सीलाई के हर गुण को सिखाने मे जुट गयी है ताकि इन गरीब महिलाये और बच्चियां इससे ज्यादा से ज्यादा लाभ ले सके। एसएसबी के इस पहल से महिलाये तो खुश है ही साथ ही क्षेत्र के लोग भी इसे एसएसबी से मधुर संबध होने की बात कह रहे है।

ssbe.png

वहीं एसएसबी के अधिकारी का कहना है कि इस प्रशिक्षक से महिलाओं और बच्चियो मे एक अत्मविश्वास जागेगा। साथ महिलाओ आत्म निर्भरता बनी रहेगी।

"टुल्ली" होकर सडक पर नागिन की तरह लोटी पियक्कड लडकी,पुलिस बनी तमाशबीन-देखें वीडियो

गौरव शर्मा/सीतापुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने भले ही इस बात पर जोर दिया हो की महिलाओ का सम्मान और उनकी सुरक्षा उनकी सरकार की प्राथमिकता है लेकिन जनपद सीतापुर के पिसावां थाना क्षेत्र में थाने से चंद कदमो की दूरी पर एक शराबी महिला घण्टो गिरती और रगड़ती रही लेकिन वहां मौजूद पुलिस और सैकड़ो की संख्या में खड़े लोग तमाशबीन नजर आये।

vlcsnap-2017-03-26-01h03m01s563.png

वही मौके पर मौजूद पुलिस ने इस बात की भी जहमत नहीं उठायी की महिला पुलिस को बुलाकर उस शराबी महिला को थाने या अन्य किसी सुरक्षित स्थान पर पहुचाया जाय।  घंटो लोग सड़क पर इस महिला का नाच गाना और उसके गिरने पर ठहाका और मजे लेते नजर आये।

vlcsnap-2017-03-26-01h02m48s199.png

पत्रकारों के पहुचने के बाद  पुलिस टीम ने बताया कि यह महिला दोपहर में दो युवकों के साथ तहरीर लेकर थाने गयी थी लोगों के अनुसार इस महिला के साथ दो व्यक्ति थे, वह भी काफी  नशे में थे. वे लोग इसे चौराहे पर इसे छोड कर चले गए। जानकारी करने पर पता चला की महिला थाना क्षेत्र की है जिसे पत्रकारों की पहल पर पुलिस द्वारा गांव की  दो महिलाएं बुला कर उसे उसके गाँव तक ले जाया गया। जिसके बाद से ये मामला लोगो में चर्चा का विषय बना हुआ है।

पीलीभीत में 6 वर्षीय मासूम बच्ची से बलात्कार

नीरज मिश्रा/पीलीभीत। मुख्यमंत्री योगी के नाम की दहशत के बाबजूद बच्चियों से बलात्कार की घटनाएं अभी नही रुकी हैं। यूपी के जनपद पीलीभीत में शनिवार को शर्मसार करने वाली घटना घट गई। शौच को गई छह बर्षीय बालिका दुष्कर्म का शिकार हो गई।

 

घटना जहानाबाद क्षेत्र के ग्राम चाँददांडी की है। गांव के ही निबासी एक व्यक्ति की 6 बर्षीय पुत्री शुक्रवार को देर शाम गांव में स्तिथि अस्पताल भवन के पीछे शौच करने गई थी। इस बीच वहां पहले से मौजूद किसी युवक ने उसको पकड़ कर उसके साथ दुष्कर्म कर डाला। अँधेरे का फायदा उठाकर आरोपी वहां से भाग गया। दुष्कर्म के बाद बालिका के रक्तश्राव होने लगा। तब उसने जाकर घर पर बताया। परिजनों ने जहानाबाद पुलिस को बताया कि पहले लोकलाज के कारण इसको छुपाया गया। जब रक्त नही रुका तो इसकी शिकायत पुलिस से की गई।

 

उसको जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों ने बतया कि अभी उसका रक्तश्राव रुका नही है। उसके गुप्तांग को काफी चोट पंहुची है।  सी ओ जहानाबाद निशांक शर्मा ने बतया कि बालिका के परिजनों की तहरीर पर अज्ञात के विरुद्ध मुकदमा लिख कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px