Log in

 

updated 1:03 PM UTC, Aug 18, 2017
Headlines:

बाढ से इंसान ही नही जंगली जानवर भी परेशान,सडक पर आए हिरन से हुई बाईक सवार की टक्कर

गोण्डा। नेपाल से छोडे गए पानी से तराई इलाके पानी से भर चुके हैं सबसे ज्यादा असर बलरामपुर गोण्डा बहराइच जैसे तराई इलाकों में पडा है। बाढ़ का कहर गोण्डा में जारी है, बाढ़ के पानी के रौद्र रूप से जहां गांव गांव परेशान है वही अब इसका असर जंगल मे रहने वाले जानवरो पर भी दिखने लगा है। जंगली जानवर अब जंगल से निकलकर सड़कों व ऊँचे स्थानों की और रुख करने लगे है।

 

परेशान जानवर ऊँची जगहों कि तलाश में इधर उधर भाग कर ठिकाना तलाश रहे हैं। ऐसे जानवरों का झुंड का झुंड सडकों पर आ जाता है जिससे जानवर औऱ इंसान आमने सामने आ जाते हैं। इसी जद्दोजहद में एक बाइक सवार व हिरण की बीच सड़क पर जोरदार टक्कर हो गई। बाढ़ से परेशान हिरण कल रात सड़क पार कर ऊँचे स्थान की तलाश कर रहा था, तभी सड़क से गुजर रही एक तेज रफ्तार बाइक की हिरण से टक्कर हो गई, जिसमे हिरण सहित बाइक सवार बुरी तरह से घायल हो गए। जोरदार भिड़ंत की आवाज़ सुनकर सड़क के आसपास के लोग मौके पर दौड़कर पहुँचे, तो उन्होंने देखा कि सड़क पर बाइक सवार व हिरण बुरी तरह से घायल हो पड़े है और कराह रहे है।

 

टक्कर इतनी तेज थी घायल हिरण व बाइक सवार खड़े नही हो पा रहे थे।  लोगों ने तुरंत पुलिस को फोन किया, मौके पर पहुँची पुलिस ने घायल व्यक्ति को एम्बुलेंस से जिला अस्पताल भेज दिया जिसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। घायल हिरण की जानकारी पुलिस ने फॉरेस्ट विभाग को दी। हिरण को आंख, कान ,पैर व मुँह के पास गहरी चोट लगी है। फॉरैस्ट विभाग के पशु डॉक्टर हिरण का मरहम पट्टी कर इलाज़ कर रहे है। ये घटना तब हुई जब रात में बाइक सवार अपने घर वापस जा रहा था तभी उसके सामने जंगल से निकलकर हिरणों का एक झुंड बीच सड़क पर आ गया।मामला गोण्डा के कर्नलगंज क्षेत्र का है।

बाढ़ के बीच ट्रैक्टर पर सवार होकर निकली बारात, दूल्हे को छोडनी पडी कार

बहराइच। की तीन तहसीलों महसी, कैसरगंज व मोतीपुर के लाखों लोग जहां बाढ़ की त्रासदी झेल रहे हैं इन इलाकों में बाढ़ का पानी क्या घर क्या बाहर हर जगह लबालब भरा है प्रशासन नावों के सहारे लोगों को ऊपरी इलाकों में सुरक्षित पहुचाने में जुटा है। लोग जब किसी तरह पेड़ पर छप्पर बैठकर जीवन बचाने की जद्दोजहद में लगे हैं।इस भीषण आपदा के बावजूद कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने मांगलिक आयोजन भी हर हाल में निपटाने पर आमादा हैं अब जिले के सलमान की ही बात करें जो दूल्हा बनकर इस बाढ़ से बेपरवाह शादी करने निकले हैं घर से कार में बैठकर ससुराल के लिए निकले थे लेकिन जब बाढ़ में जाने से कार वाले ने मना कर दिया तो दूल्हा सलमान ससुराल से आये ट्रैक्टर ट्राली पर ही सवार होकर बारातियों संग चल निकले।इनका कहना है जब तारीख तय हो गई तो शादी करने तो जाना ही था।

 flood in up.png

ये नजारा है जिले की महसी तहसील के बौंडी इलाके का बीते दो दिनों के दौरान इस इलाके के 75 फीसद भूभाग पर घाघरा का पानी बाढ़ बनकर तबाही मचा रहा है। बौंडी बाजार थाना, स्कूल समेत पूरे गांव में पानी ही पानी है इतना ही नही इस क्षेत्र के कई गांवों में सम्पर्क पूरी तरह कटा है। लोगों को अपने घर पहुचने के लिए कहीं घुटने से ऊपर तो कहीं कमर से ऊपर पानी मे चलकर अपने घर पहुंचना पड़ रहा है। लेकिन इस सबके बीच इसी इलाके में आज कुछ अलग नजारा देखने को मिला जब बहराइच के सुदूरवर्ती क्षेत्र जरवल कस्बे के सलमान शादी का सेहरा बांधे हुए कार में सवार होकर इसी बाढ़ ग्रस्त इलाके के रतनपुर गांव में शादी रचाने पहुंचे।लेकिन रतनपुर गांव से करीब तीन किलोमीटर पहले से बाढ़ के लबालब भरे पानी ने उनकी कार में ब्रेक लगा दी।

 Flood balrampur.png

अब इस भीषण पानी मे दूल्हे सलमान की कार जाए तो जाए कैसे सो उन्होंने वहीं उतरना मुनासिब समझा फिर उनकी ससुराल रतनपुर से ट्रैक्टर ट्राली भेजी गई जिसमें सवार होकर दूल्हा सलमान व उनके साथ बाराती पानी मे ही रवाना हुए। दूल्हा सलमान के मुताबिक पानी कुछ कम हुआ था लेकिन पानी आज और अधिक बढ़ गया। जब शादी की तारीख तय थी तो जाना तो था ही।

नेपाल द्वारा रुक-रुक कर छोड़े गए पानी से बाढ़ का कहर जारी

बलरामपुर। भारत नेपाल सीमा से सटे उत्तर प्रदेश के देवीपाटन मंडल श्रावस्ती बहराइच बलरामपुर और सिद्धार्थ नगर के निचले हिस्सों में पड़ोसी राष्ट्र नेपाल द्वारा रुक-रुक कर छोड़े गए पानी से बाढ़ का कहर जारी है जिला प्रशासन बचाव और राहत कार्य दिन रात एक किए हुए हैं वही क्षेत्र के स्वयं सेवी संस्थाएं तथा जनप्रतिनिधि स्थिति की गंभीरता को देखते हुए अपने निजी संसाधनों से राहत कार्य में सहयोग दे रहे हैं बाढ़ की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ के जनपद भ्रमण की सूचना पर जिला प्रशासन राहत और बचाव कार्य से हटकर मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक और उनके सुरक्षा के इंतजाम में व्यस्त हो गया है

 

जिले में मुख्यमंत्री को लेकर हेलीपैड और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के लिए जिला अधिकारी राकेश मिश्रा पुलिस अधीक्षक स्थानीय स्टेडियम परेड ग्राउंड में तैयारियों की समीक्षा की और बताया कि मुख्यमंत्री बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा कर राहत और बचाव कार्य की समीक्षा करेंगे जिससे बाढ़ पीड़ितों को अधिक से अधिक बचाव और राहत कार मिल सके।

 

बाढ़ विभीषिका से जूझ रहे जनपद वासियों को मुख्यमंत्री की समीक्षा से अधिक बचाव और राहत कार्य की आवश्यकता है जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधि तथा स्थानीय एवं राजनेता स्वयंसेवी संस्थाएं और जनप्रतिनिधि बखूबी अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में बचाव एवं राहत कार्य को जारी किए हुए हैं जिला प्रशासन एनडीआरएफ और PSC के जवानों के साथ राहत कार्यों का जायजा ले रही है ऐसी दशा में मुख्यमंत्री के आवागमन के चलते जिला प्रशासन का ध्यान बचाओ रहस्य कार से हटकर मुख्यमंत्री के सुरक्षा और समीक्षा को लेकर व्यस्त हो गए हैं जिले के सभी अधिकारी अपने अपने विभागों के कार्यों और तैयारी को लेकर व्यस्त नजर आ रहे हैं वही पुलिस प्रशासन बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र हटाकर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में कोई चूक रह न जाए इस पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित किए हुए है वही राहत कार उपेक्षित नजर आ रहा है।

 

सत्ता परिवर्तन के बाद जनपद की विकास कार्यों में  रुकावट के कारण जनपद को राजधानी से जोड़ने वाले मुख्य मार्ग गोंडा बलरामपुर आवागमन चल रहा है तथा मुख्यालय से उतरौला तहसील को जोड़ने वाला उतरौला बलरामपुर मार्ग आधे अधूरे निर्माण कार्य के चलते तालाबों में तब्दील हो चुके हैं जिसके कारण राज्य परिवहन निगम की बसें इन मार्गों पर अपना संचालन बंद कर चुकी है बलरामपुर तुलसीपुर तथा बलरामपुर गौरा चौराहा तथा बलरामपुर हरिहरगंज ललिया शिवपुरा मार्ग बाढ़ के चलते बंद पड़ा हुआ है जनपद को अन्य जनपदों और राजधानी से जोड़ने का एक एक मात्र साधन भारतीय रेल संचालित हो रही है।

फिर सडकों पर उतरे शिक्षामित्रों ने किया प्रदर्शन लगाया जाम

बुलंदशहर । प्रदेशभर के शिक्षामित्र एक बार फिर अपनी मांगों को लेकर सड़को पर हैं। बुलंदशहर में आज तिरंगे को लेकर हजारों शिक्षामित्रों ने कलैक्ट्रेट गेट पर धरना प्रदर्शन कर जाम किया। शिक्षामित्रों का कहना था कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के बाद सहायक पद पर समायोजित किये गये शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द किया हैं तब से उनका भविष्य अंधकार में हो गया हैं। उनका कहना था कि वे 17 वर्षें से लगातार शिक्षण कार्य कर रहे हैं अब अधिक उम्र हो जाने के कारण उन्हें रोजगार कोई अन्य विकल्प नही रह गया हैं। शिक्षामित्रों ने दावा किया कि उनके सभी शिक्षामित्र स्नातक व बीटीसी की योग्यता रखते हैं। धरना प्रदर्शन और जाम के बाद शिक्षामित्रों ने डीएम के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया। ज्ञापन में शिक्षामित्रों ने सहायक अध्यापक पद पर बने रहने के लिये नया अध्यादेश लाने तक समान कार्य समान वेतन के आधर पर कार्य करने की मांग की।

"हम पहले मुसलमान हैं बाद में हिंदुस्तानी" उसके बारे में सपा के मुस्लिम नेता ने दिया ये बडा बयान

सहारनपुर। सपा के देवबंद नगर अध्यक्ष तंजीम खान ने एक प्रेस काॅफ्रेंस में मीडिया के सामने बयान  दिया कि देवबंद सीमा का विवाद पूर्व विधायक माविया अली की देन है। वे कुछ क्षेत्र का परिसीमन बीजेपी के इशारे पर मनमाने ढंग से कराना चाहते हैं।हम ऐसा नही होने देगें। वैसे तो परिसीमन डेढ़ लाख की आबादी से ऊपर होनी चाहिए । परिसीमन सभी जातियों के अक्षेत्रो का होना चाहिए  यदि परिसीमन  गलत ढंग से होता है तो हम हाईकोर्ट जाएंगे।

 

माविया अली के बयान पर कि हम पहले मुसलमान हैं बाद में हिंदुस्तानी हैं इस के जवाब में खान ने कहा कि माविया को में ।मुसलमान नही मानता वे बीजेपी के इशारे पर  देवबंद में झगड़ा करना चाहते हैं।लेकिन हम ऐसा नही होने देंगे ।

 

तंजीम खान ने कहा कि माविया ने पहले भी दारुल उलूम पर हमला कराया । गोलियाँ चलवाई उनकी नियत सही नही है। हम उनके इरादों को सफल नही होने देंगे।

 

 

 

गोरखपुर हादसे के बाद जागे अधिकारी, प्रमुख सचिव पहुँचे दौरे पर

गणेश दूबे/सोनभद्र।। गोरखपुर में 76 बच्चो की मौत के बाद जागी सरकार ने प्रत्येक प्रमुख सचिव को जिले का दौरा कर विकास कार्यो की समीक्षा के  साथ ही स्वास्थ सेवाओं का भी जायजा लेने का निर्देश मिलने पर आज सोनभद्र में प्रमुख सचिव चीनी उद्योग व  गन्ना विकास विभाग व जिले के नोडल अधिकारी संजय आर भुस रेड्डी ने जिले का दौरा किया।

 

देर रात उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया और वार्डो में गन्दगी मिलने पर कड़ी नाराजगी जताई। इसके साथ ही जिलाधिकारी को निर्देश दिया की वार्डो में लगे ऑक्सीजन पाइप लाइन को अगस्त के अंतिम सप्ताह तक शुरू करा दें। जिले में दो दिवसीय दौरे पर आये प्रमुख सचिव चीनी उद्योग व गन्ना विकास विभाग और जिले के नोडल अधिकारी संजय आर भुस रेड्डी ने देर रात जिला अस्पताल का अचौक निरीक्षण किया ।

 

इस दौरान जिला अस्पताल के वार्डो में गन्दगी देख मातहतों को कड़े निर्देश दिये तथा वार्डो में लगे ऑक्सीजन पाइप लाइन को अगस्त के अंतिम सप्ताह तक शुरू कराने का निर्देश सीएमओ को दिया। जिला अस्पताल के निरीक्षण के बाद प्रमुख सचिव ने बताया कि ट्रामा सेंटर का संचालन स्टाफ की कमी की वजह से शुरू नही किया जा रहा है इसके लिए शासन स्तर से प्रयास किया जा रहा है।

 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि लोगो को बेहतर स्वास्थ्य सेवा मिले इसको लेकर सरकार पूरी तरह से गंभीर है। पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा की जिला अस्पताल के सभी वार्डो में लगे ऑक्सीजन पाइप लाइन को अगस्त लास्ट तक शुरू कर दिया जायेगा।

दो बार लडकी पैदा हुई तो पति ने पत्नी को गोली मार कर दे दी मौत

वरुण शर्मा/बुलंदशहर। लड़की होने से नाराज एक पति ने अपनी पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपी पति परिवार सहित मौके से फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम ने घटना स्थल से साक्ष्यों को एकत्र कर शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा हैं। पुलिस ने मृतका के भाई की तहरीर पर आरोपी पति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली हैं।

 

मामला बुलंदशहर के नगर कोतवाली क्षेत्र के धमेड़ा अडडा नई बस्ती का हैं। डिबाई दौराहे की रहने वाली महिला की शादी 5 साल पहले बुलंदशहर निवाली आरिफ के साथ हुई थी। शादी के बाद शबाना को दो बेटियां हुई थी। इस बात से आरिफ और उसके परिवार वाले काफी नाराज थे। बता दे कि दोनों में इस बात को लेकर कई बार झगड़े भी हुए थे। मृतका के भाई ने बता कि चार दिन पहले भी शबाना के लड़की हुई। शबाना के एक लड़का लड़की तो थी तीसरी भी उसके लड़की हो गई थी उससे काफी नाराज थाऔर दोनो में इस बात को लेकर झगड़ भी हुआ था।

 

आज सुबह आरिफ नें अपनी पत्नी शबाना की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरिफ परिवार सहित मौके से फरार हो गया। दोपहरे को मृतका के भाई की सूचना पर पहुंची पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम के घटना स्थल से साक्ष्यों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने मृतका के भाई की तहरीर पर आरोपी पति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली हैं। पुलिस की मानें तो आरोपी अभी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही हैं। जल्दी ही आरोपियों को अरेस्ट कर लिया जायेगा।

बाढ पीडितों को राहत सामग्री बाँटने सीतापुर पहुँचे योगी,अधिकारियों को दी हिदायत

गौरव शर्मा/सीतापुर। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आज बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने पीलीभीत और लखीमपुर पहुंचकर हैलीकॉप्टर से हवाई सर्वे करने के बाद सीतापुर के रेउसा पहुंचे। जहां से मुख्यमंत्री अपने काॅफिले के साथ वाया सड़क मारूबेहड़ पहुंचे और एक जनसभा को सम्बोधित किया।

 

सीतापुर से 90 किलोमीटर दूर सीतापुर-बहराइच के बॉर्डर पर घाघरा और शारदा के किनारे बसे मारूबेहड़ गांव में सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ एक प्राक्रतिक आपदा है लेकिन इतनी भी बड़ी आपदा नहीं है कि इसका स्थाई समाधान न निकाला जा सके हम लोग इसका स्थाई समाधान निकालेंगे,इसके लिए जिला प्रशासन को पर्याप्त मात्रा में धनराशि उपलब्ध करायी गई है और यह भी कहा गया है कि आपदा से पीड़ित परिवारों को जो भी आर्थिक सहायता देनी हो तो प्रदेश सरकार को लिखें, सरकार धनराशि उपलब्ध करायेगी।

 

सहायता वितरण में किसी प्रकार की कोताही बरती नही जानी चाहिए, पीड़ितों को पूरी सहायता मिले यह प्रशासन सुनिश्चित करे और जनप्रतिनिधियों के हाथों इसका वितरण कराये जिससे पता लग सके कि जनप्रतिनिधि भी अपनी सहभागिता दे रहें हैं।

 

इस दौरान उन्होंने बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री के साथ-साथ प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चेकों, आवासीय भूमि के पट्टों का भी वितरण अपने हाथों से किया। मुख्यमंत्री के हाथों लाभन्वित होने वाले लोगों के चेहरों पर ख़ुशी साफ दिखाई दी, ऐसा लग रहा था जैसे उनकी दुनिया बदलने वाली है और बाढ़ का सारा दर्द भूल गए हो।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px