Log in

 

updated 6:53 PM UTC, Jan 16, 2018
Headlines:

साढ़े नौ मुख्यमंत्री होने से यूपी को नहीं मिल पा रहा नया डीजी--रामगोविंद चौधरी

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ: सीआईएसएफ के महानिदेशक ओपी सिंह का यूपी पुलिस का मुखिया बनाने की घोषणा के 17 दिन बाद भी राज्य को नया डीजी नहीं मिलने से भाजपा सरकार की किरकिरी हो रही है। अब विपक्ष सरकार की चुटकी लेते हुए कह रहा है कि प्रदेश में साढ़े नौ मुख्यमंत्री होने के कारण घोषणा तो हो जाती है लेकिन क्रियान्वयन में पसीने छूट जा रहे हैं।

 

30 दिसंबर को जब राज्य सरकार ने ओपी सिंह को डीजीपी बनाने का ऐलान कर उन्हें केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से रिलीव करने का पत्र लिखा था। उस समय किसी को अंदाजा नहीं था कि इसमें इतनी मुश्किलें आएंगी। नए डीजीपी के नाम का ऐलान हुए एक पखवारा बीत चुका है, लेकिन वह अभी केंद्र से रिलीव नहीं हुए हैं।

 

सूत्रों की मानें तो अब राज्य सरकार नए नाम की तलाश में जुटी है। बताते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगरा लौटने के बाद आज शाम सीएम और प्रमुख सचिव यूपी के नए डीजीपी के नाम को लेकर चर्चा करेंगे। देर शाम यूपी के नए डीजीपी के लिए फाइनल घोषणा कर दी जाएगी।

 

यूपी के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब डीजीपी के लिए नाम का ऐलान होने के बाद किसी अफसर की 15 दिन बाद भी केंद्र से रिलीविंग नहीं हो पाई है। एक वरिष्ठ अधिकारी की मानें तो 30 दिसंबर को ओपी सिंह को रिलीव करने का जो पत्र यूपी सरकार ने केंद्र में भेजा, उसमें दो गलतियां हुईं।

 

एक तो उसमें लिखा गया कि ओपी सिंह को डीजीपी बनाया गया है, इसलिए उन्हें कार्यमुक्त किया जाए। दूसरी गलती यह कि वह पत्र गलत सेक्शन में चला गया। हालांकि, राज्य सरकार ने दूसरे पत्र में दोनों गलतियों में सुधार कर लिया है।

 

जब कि सत्ता से जुड़े सूत्रों की मानें तो ओपी सिंह सीएम की सीधी पसंद नहीं हैं। संगठन के एक बड़े नेता की सिफारिश पर उनके नाम की घोषणा कर दी गई थी। इसीलिए सीएम ने अचानक दिल्ली जाकर प्रधानमंत्री से मुलाकात की और अपना पक्ष रखा था। उसी मुलाकात के बाद से ओपी सिंह की रिलीविंग लटक गई। चूंकि घोषणा के तुरंत बाद डीजीपी का नाम बदले जाने से प्रदेश में गलत संदेश जाता। इसलिए रिलीविंग में देरी की जा रही है। ताकि, लंबे समय तक कुर्सी खाली न छोड़ने को आधार बनाकर नए डीजीपी के नाम की घोषणा की जा सके।

 

इस संदर्भ में नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी ने कहा कि यूपी में साढ़े नौ मुख्यमंत्री हैं इस लिए मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर अमल होने में बार-बार फजीहत होती है। जब उनसे पूंछा गया कि कौन-कौन साढ़े नौ मुख्यमंत्री हैं तो उन्होंने कहा कि यह में सदन में बता चुका हूं। भाजपा के लोगों से ही पूंछ लीजिये।

 

 

 

मकर सक्रांति पर्व पर संगीत सिंह सोम ने किया गौ दान

नोएडा। मकर सक्रांति के पर्व पर  महागुरू गौरव मित्तल की देखरेख में विधायक संगीत सिंह सोम द्वारा गौ दान किया गया । प्रसिद्ध एस्ट्रो न्यूमरोलॉजिस्ट एवं वस्तु एक्सपर्ट, कर्मवीर चक्र अवार्ड विनर महागुरु, गौरव मित्तल, की देखरेख में विधायक संगीत सिंह सोम द्वारा आज नोएडा में मकर सक्रांति के पर्व पर गौ दान संम्पन्न हुआ।

 

इस मौके पर महागुरु गौरव ने कहा “परहित सरिस धरम नहिं भाई , पर पीड़ा सम नहिं अधमाई।“ परोपकार से बढ़ कर कोई धर्म नहीं है और दूसरों को कष्ट देनें से बढ़ कर कोई अधर्म नहीं है। यह विचार या यह चिंतन हमें सुधार की ओर ले जाता है, बुरे कार्यों से सचेत रहने को कहता है, तभी हम जीवन मे सफल हो सकते हैं।

 

वहीं मकर सक्रांति की महत्ता को बताते हुए महागुरू गौरव ने कहा...

 

*भास्करस्य यथा तेजो मकरस्थस्य वर्धते।*

*तथैव भवतां तेजो वर्धतामिति कामये।।*

*मकरसंक्रांन्तिपर्वणः सर्वेभ्यः शुभाशयाः।*

 

मकर संक्रांति से सूर्य का प्रकाश बढ़ने लगता है। प्रकाश बढ़ने के कारण प्रकृति के जीवन में नई चेतना तथा ऊष्मा आने लगती है तथा अन्न पकने लगता है। सर्दी के कारण शिथिल पड़े मानव के अंगों में पुनः उत्साह और स्फूर्ति का संचार होता है। इसी प्रकार मकर संक्रांति का यह दिन समाज को अज्ञान रूपी अंधकार से ज्ञान रूपी प्रकाश की ओर जाने की प्रेरणा देता है। जिस प्रकार प्रकृति में होने वाले सम्यक् दिशा के परिवर्तन का हम स्वागत करते हैं, ठीक उसी प्रकार समाज जीवन को बढ़ाने एवं मजबूत करने वाले परिवर्तनों का भी समर्थन अति आवश्यक है। इस दृष्टि से मकर संक्रांति का यह उत्सव सामाजिक परिवर्तन का सन्देश  देता है। संगीत जी का यह कदम प्रशंसनीय है जो लोगों का गाय के प्रति अपने दृष्टिकोण को बदलने एवं गाय की महत्ता को समझने में सहायक होगा।

 

महागुरू गौरव मित्तल एवं संगीत सिंह सोम के साथ संगीत जी की धर्मपत्नी प्रीति सोम, आशीष, गौशाला के कार्यकारणी संस्था के सदस्य वरुण गोयल एवं संतोष भी शामिल हुए।‎

शर्मशारःदिनदहाडे नाबालिग से गैंगरेप,विरोध पर आग में जिंदा धूधूकर जलाया

रवि उपाध्याय/दिल्ली|..लो फिर लग गया औरत के दामन में एक ओर दाग,लो लग गया मानवता के माथे पर एक ओर कलंक। इस बार औरत के दामन में यह कलंक उत्तर प्रदेश के हमीरपूर जिले में लगा।जहां गैंगरेप की एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आयी है।जहां दो पड़ोसियों ने घर में घुसकर एक नाबालिग लड़की से गैंगरेप किया और विरोध करने पर उसे जिंदा आग के हवाले कर दिया।

 

सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुँचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार,हमीरपुर जनपद के मझगवां थाना क्षेत्र के गाँव में रहने वाली एक युवती घर पर अकेली थी।माँ मायके गयी हुई थी और पेशे से ड्राईवर पिता गाड़ी लेकर बांदा गया हुआ था।भाई भी घर पर नहीं था। मौके का फायदा उठाकर दो पडोसी घर में करीब दोपहर 12ः30 बजे घर में घुस आये और नाबालिग के साथ गैंगरेप किया।

 

इस दौरान युवती के विरोध करने पर दोनों पडोसियों ने युवती के ऊपर कैरोसिन उडेलकर जिंदा आग के हवाले कर दिया।तभी युवती का भाई घर पर पहुँचा लेकिन हवस का भूत सिर पर सवार होने के कारण इन दरिंदों का दिल जरा भी नहीं पसीजा.इन्होंने युवती के भाई को भी जमकर पीटा।

 

युवती की चीख पुकार सुनकर गाँव वाले भी आ गये.तब तक आरोपी मौके से फरार हो चुके थे।गाँव वालों की मदद से युवती को अस्पताल ले जाया गया। जहाँ चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

बताया जा रहा कि युवती की शादी तय हो गयी थी.शादी के लिए पिता पैसे एकत्र करने बाहर गये हुए थे। लेकिन इस बज्रपात ने पूरे परिवार को सदमे में ला दिया है।

 

पुलिस के अनुसार पीड़ित मृतका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

 

Tagged under

खुद को गोली मारकर युवक ने की आत्महत्या,पुलिस साक्ष्य मिटाने में जुटी

उन्नाव,योगेन्द्र गौतम..|उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक युवक ने संदिग्ध परिस्थितियों में  खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। युवक के परिजन पारिवारिक कलह को हत्या की वजह मान रहे है। लेकिन उन्नाव पुलिस ने तमंचे को कपड़े से साफ करके फिंगर प्रिंट के निशान ही मिटा दिए है।

 

रविवार को उन्नाव गंगाघाट थाना इलाके में एक युवक की संदिग्ध हालात में गोली लगने से मौत हो गयी।परिजन इसे आत्महत्या बता रहे है।

 

गंगाघाट थाना इलाके में रविवार को हुई इस मौत की गुत्थी को सुलझाने के लिए पुलिस हत्या या आत्महत्या में ही उलझी हुई है। इस मौत के साक्ष्य खुद पुलिस ने मिटा दिए।मृतक के परिजन इस हत्या को परिवारिक कलह मान रहे है।

 

लेकिन ऐसे हालात में सवाल यह उठता है कि मौके से बरामद तमंचे पर जिस फिंगर प्रिंट के सहारे पुलिस को मौत की वजह का खुलासा करने में मदद मिलती, उसे खुद पुलिस ने ही मिटा दिया।

 

अब सवाल यह उठता है कि क्या पुलिस हर मामले में साक्ष्यों के साथ ऐसे ही खिलवाड़ करती है। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।परिजन इस हत्या को परिवारिक कलह बताने में लगे है।

जहरीली शराब का बड़े पैमाने पर हो रहा था व्यापार ,आबकारी टीम ने मारा छापा

गोण्डा।  गोंडा में आबकारी विभाग ने मुखबिर की सूचना पर नवाबगंज के जैतपुर गांव में कच्ची शराब और कई हजारों लीटर लहन को बरामद कर उसे नष्ट कर दिया। मुखबिर की सूचना पर आबकारी विभाग ने यह छापेमारी की जिसमें पाँच महिलाएं व दो पुरुषों को आबकारी विभाग की टीम ने मौके पर ही पकड़ लिया जबकि एक अन्य आदमी मौका पाकर वहां से फरार हो गया।

 

मामला थाना नवाबगंज के जैतपुर गांव का है जहाँ मुखबिर की सूचना पर पहुंची आबकारी विभाग की टीम ने गांव में जब छापा मारा तो वह यह देखकर दंग रह गई कि जहरीली शराब का इतना बड़े पैमाने पर व्यापार चल रहा था। इस बात से यह भी सवाल उठता है कि कहीं ना कहीं पुलिस की देखरेख में यह गोरखधंधा चल रहा था। आबकारी विभाग की टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर जब उस जगह पर मिट्टी को हटा हटा कर देखा गया तो वहां पर टंकियों में रखें 500-500 लीटर के लगभग 50 सिंटेक्स की टंकिया बरामद की गई, 10 छोटी टंकियों को बरामद किया गया जिसमें 400 लीटर शराब, गुड बरामद किया गया, महुआ, नौसादर की बरामदगी के साथ ईस्ट भी बरामद हुआ है। जबकि 5000 किलोग्राम में लहन भी बरामद हुआ है।

मौके से आबकारी विभाग की टीम ने 5 महिलाएं  और दो पुरूषों को दबोच लिया जबकि एक व्यक्ति मौका पाकर फरार हो गया। गोंडा में आबकारी विभाग द्वारा कच्ची शराब बनाने के ठिकानों पर यह एक बड़ी कार्यवाही के तौर पर देखी जा सकती है। तस्वीरों में आप साथ देख सकते हैं कि किस तरह से लहन को आबकारी विभाग की टीम ने नष्ट किया है आपको यह भी बता दें नदी के किनारे होने के कारण खेतों में काफी भारी मात्रा में चोरी छिपे यह गोरखधंधा चल रहा था जिस पर किसी का ध्यान नही जाता था लेकिन मुखबिर की सूचना और आबकारी विभाग द्वारा दिखाई गई फुर्ति का नतीजा है की इस गोरखधंधे से पर्दा उठ गया।

वर्चस्व की लड़ाई में भिडे छात्रों के दो गुट, देखें सिरफुट्टौअल का वीडियो

गोण्डा। यूपी के गोण्डा जिले में आज छात्रों का गुट आपस में भिड़ गया जिसमे छात्रों के एक गट ने दूसरे गुट पर आपस मे चल रहे विवाद के चलते जमकर पिटाई शुरू कर दी और इस पिटाई का लाइव का वीडियो पास ही खड़े एक शख्स के मोबाइल में कैद हो गया। जिसके बाद आसपास मौजूद लोगों ने पिट रहे छात्रों को बचाने के लिए दौड़े तब तक एक छात्र की बुरी तरह से हुई पिटाई के कारण उसका सर फट गया।

 

हालांकि स्थानीय लोगो की मदद से घायल छात्र को प्राथमिक उपचार के लिए भेजा गया। नगर कोतवाली थानाक्षेत्र के एलबीएस चौराहे की इस घटना की सूचना स्थानीय लोगो ने डायल 100 पुलिस को दिया जिसके बाद मौके पर डायल 100 पुलिस पहुचकर जांच में जुट गई फिलहाल पुलिस के पहुचने से पहले ही छात्रों का पूरा गुट मौके से भाग निकला।

 

इस पूरे विवाद व भयानक मारपीट के मामले पर सीओ सिटी भारत यादव ने बताया कि कोतवाली थानाक्षेत्र के एलबीएस चौराहे पर एक छात्र को छात्रों के गुट ने पिटाई कर दिया हालांकि चुनाव के लिए वर्चस्व की लड़ाई है यहां चुनाव होना ही नही है फिर भी छात्र आपस मे भिड़ गए है पुलिस इस मामले में जांच कर रही है दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

कोर्ट के आदेश से ही बनेगा अयोध्या में राम मंदिर-भूपेन्द्र चौधरी

दीपक श्रीवास्तव-प्रदेश के पंचायत एंवम लोक कल्याण मंत्री भूपेन्द्र चौधरी शनिवार को  अयोध्या दर्शन के लिए पहुंचे। प्रदेश के राज्य मंत्री भूपेंद्र चौधरी ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण आपसी सहमति या फिर कोर्ट के आदेश पर ही संभव है।

 

रामलला दर्शन करने के बाद श्री चौधरी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि राम मंदिर हिंदुओं की आस्था का केंद्र है।लोक कल्याण मंत्री भूपेन्द्र चौधरी ने सरकार की योजनाओं पर बातचीत करते हुए कहा कि गांव का विकास और गांव में आधारभूत सुविधाएं सरकार की प्राथमिकता में है।

 

उन्होंने कहा कि गांव का विकास देश के विकास से जुड़ा हुआ है जब तक गांव का विकास नहीं होगा देश का विकास संभव नहीं है।भ्रष्टाचार के बारे में श्री चौधरी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि  भ्रष्टाचार रोकने के लिए सरकार कृत संकल्प है और कई योजनाओं में भी जांच पूरी हो चुकी है।

 

आरोपी लोगों को जेल भी भेजा चुका है। कुछ मामलों में जांच चल रही है। दोषी लोगों को जल्द ही जेल भेजा जाएगा।पंचायती एवं लोक निर्माण राज्य मंत्री भूपेंद्र चौधरी ने आज अयोध्या पहुंचकर राम लला हनुमानगढ़ी व कनक भवन का दर्शन किया। इस मौके पर अयोध्या नगर निगम के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय, भाजपा विधायक खब्बू तिवारी व भाजपा जिला अध्यक्ष अवधेश पांडेय के साथ भाजपा कार्यकर्ता भी मौजूद रहे।

Tagged under

शादी के पाँच माह पूर्व भागकर प्रेमी युगल बना दुल्हा दुल्हन ,बना कोतूहल का विषय

दीपक श्रीवास्तव.फैजाबाद|.. विवाह को लेकर फैजाबाद में एक ऐसा दिलचस्प मामला सामने आया है जो कि चर्चा का विषय बना हुआ है।आमतौर पर देखा जाता है कि प्रेमी प्रेमिका भाग कर मंदिर में शादी तब करते है.जब घर वाले शादी के खिलाफ होते है.लेकिन फैजाबाद जिले के थाना मवई क्षेत्र में निश्चित समय पर शादी तय होने के बावजूद युवक युवती ने भाग कर पुलिस चौकी में शादी की।

 

जी हां विवाह के निश्चित समय के पाँच माह पहले मवई क्षेत्र स्थित पुलिस चौंकी के मंदिर में सात फेरे लेकर विवाह के पवित्र बंधन में बंधकर एक दूसरे को हमेशा के लिए अपना लिया।इस प्रेम विवाह के मौके पर घर वालों सहित पुलिस भी घराती तथा बाराती की भूमिका में नजर आयी।

 

थाना मवई के सैदपुर चौकी क्षेत्र के सैदपुर गांव निवासी दिलीप कुमार की शादी नजर अली का पुरवा, थाना शुकुल बाजार, जनपद अमेठी निवासी आरती के साथ तय हुई थी.दोनों पक्षों ने मिलकर शादी की तिथि चार जुलाई को सुनिश्चित किया था ।

 

लेकिन फोन पर अधिक बात करते-करते मोहब्बत इस कदर परवान चढ़ी कि समय से पहले ही दोनों प्रेमी युगल भागकर सैदपुर चौकी पहुंचे और आपबीती चौकी प्रभारी को बतायी।प्रेमी जोड़े की बात सुनकर चौकी प्रभारी ने फोन का सहारा लेते हुए प्रेमी और प्रेमिका के परिजनों को सैदपुर चौकी आने को कहा।

 

जब परिवजनों ने भागने की खबर सुनी तब परिजनों के होश उड़ गये।जब उन्होंने सुना कि दोनों लोग अपनी मर्जी से सैदपुर चौकी में पहुंचकर अपना विवाह करना चाहते हैं। इसके बाद लड़की और लड़के के परिजनों ने सैदपुर चौंकी पहुंचकर दोनों का विवाह करा दिया।

 

इस मौके पर भाजपा के मंडल महामंत्री शीतला प्रसाद शुक्ल, रमेश तिवारी, कोटेदार नंद कुमार तिवारी, चौकी इंचार्ज नन्द हौसिला यादव, कांस्टेबिल दुर्गेश दुबे, सुरेश पटेल, हरेंद्र कुशवाहा सहित अन्य लोग मौजूद रहे।



Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px