Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

यहाँ के भू माफिया से डरता है पुलिस प्रशासन, जिस-जिस ने की जाँच उसका हुआ तबादला

गौरव शर्मा/उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसको जानने के बाद आप भी हैरान रह जाएंगे और कई बार सोचने पर मजबूर हो जायेंगे अगर आप के पास जमीन मकान  कारखाना आदि है तो आप भी ये जान ले की भू-माफिया यहाँ इस तरह से हावी हैं कि आपको जानकारी भी नहीं होगी और प्रशासन की मदद से आप की जमीन भू माफिया बेच लेंगे और जब आपको जानकारी होगी तब आप थानों के चक्कर लगाते रहेंगे। उसके बाद आपको कार्यवाही के नाम पर मिलेगी सिर्फ तारीख। क्योंकि यहाँ के भू-माफिया दबंग होने के साथ राजनीति और प्रशासन में अपना बड़ा रसूक भी रखते है जिसके चलते कोई भी अधिकारी इनके खिलाफ कार्यवाही की हिम्मत नहीं जुटा पाता है। और जो अधिकारी न्याय संगत कार्यवाही करने की सोचता है उसका स्थानांतरण हो जाता है।

 

कुछ ऐसा ही मामला  सीतापुर जनपद के इमलिया थाना क्षेत्र से सामने आया है थाना क्षेत्र के काजीकमालपुर में पीड़ित सुरेश कुमार ने वर्ष 2003 में जमीन खरीदी थी जिस पर वर्ष 2005 में आनन्द ब्रिक फिल्ड नाम का भट्ठा संचालित कर दिया था जो आज तक संचालित हो रहा है लेकिन रसूकदार भूमाफिया की नजर पड़ने पर वर्ष 2015 में कूटरचित तरीके से फर्जी बैनामा कर जमीन को जनपद के बड़े रसूकदार ललित मेहरोत्रा के नाम कर दिया गया।

 

 

जिसके सम्बन्ध में पीड़ित के द्वारा मुकदमा संख्या 419,420,467,468,471, धारा के तहत इमलिया थाने में मामला दर्ज कराया गया था मामले की जांच करने वाले विवेचक को सभी दस्तावेज उपलब्ध कराने बावजूद अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी है जबकि पीड़ित के द्वारा दिए गए सभी दस्तावेज साक्ष्य सिद्ध हो चुके है मामले में सीतापुर पुलिस से न्याय न मिलता देख पीड़ित ने सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से मामले में न्याय दिलाने की मांग की है।

जिलाधिकारी गोरखपुर ने किया बांध का निरीक्षण दिये आवश्यक निर्देश

गोरखपुर, गुरूवार की दोपहर में जिलाधिकारी द्वारा बन्धो के निरीक्षण की खबर मिलते ही सिचाई विभाग के अधिकारियों ने आनन फानन में बन्धो पर हुए रेंन कट की भराई शुरू करा दिया और उनके पहुचने  पर  भी ट्रैक्टर ट्राली से मिटटी भराई का कार्य चलता  रहा।

 

सिचाई विभाग के अधिकारियों ने भगवानपुर से पक्की सड़क  से रबेलिया के रास्ते से बन्धे पर महुआसर के समीप बने बोरी से बनाये गए लांचिंग का निरीक्षण किया  जहां जिलाधिकारी राजीव  रौतेला ने किये गए कार्य पर संतोष व्यक्त  किया जबकि महुआसर में बने कटान स्थल पर लांचिंग के कई जगहों पर बैठने की ग्रामीणों की शिकायत पर सिचाई विभाग के अधिशाषी अभियंता एवं सहायक अभियंता  को डीयम ने चेतावनी भी दिया ।

 

 

ग्रामीणों ने इस दौरान जिलाधिकारी को बताया कि पिचिंग में पड़ी बोरियो में रेत की जगह मिटटी भरकर डाली गयी है इसलिए अभी नदी में महज एक मीटर पानी बढ़ने पर ही हाल ही में बना लांचिंग आधे से अधिक दूरी  में बैठ गया है।जिलाधिकारी ने बंधे के निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों को अविलंब सभी कमियों को दूर करने का निर्देश दिया

मौत के तीन महीने बाद सऊदी अरब से घर पहुंचा युवक का शव

सुलतानपुर, जिले के एक युवक की सऊदी अरब में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के तीन महीने बाद जब उसका शव जब गांव पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया। पिछले ढाई महीने से परिजनों ने शव को मंगाने के लिये लखनऊ और दिल्ली के चक्कर लगाए, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इसके बाद एक सामाजिक कार्यकर्ता की मदद से शव भारत आ सका,अखंडनगर थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव के रहने वाले रघुनन्दन का बड़ा बेटा सुरेन्द्र रोजी राटी की तलाश में तीन साल पहले सऊदी अरब गया था। वह दम्माम शहर के मुतलक बिन नासिर के यहां खाना पकाने का काम करता था।

 

 

करीब दो साल रहकर वह जुलाई 2016 में छुट्टी पर वापस घर लौटा था। चार महीने की छुट्टी के बाद सुरेन्दर नवम्बर 2016 को दम्माम लौट गया। 31 मार्च को उसकी पत्नी के पास अचानक एक फोन आया और सुरेन्द्र की मौत की खबर दी। मौत की खबर सुनकर घर में कोहराम मच गया। परिजनों ने फोन पर सुरेन्दर के मालिक से बात करने की तमाम कोशिशें की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। किसी तरह सुरेन्द्र के परिजनों का सऊदी अरब में रह रहे पडोसी कफील से बात हुई तो उसने बताया कि सुरेन्दर दम्माम के एक गांव में था और उसके ऊपर आकाशीय बिजली गिर जाने से मौत हो गई।इसके बाद परेशान परिजनों ने शव को जल्द से जल्द मंगाने के लिये दौड़ भाग शुरू की लेकिन इन्हे निराशा हाथ लगी। तब जाकर इन्होंने अपने क्षेत्र के एक सामाजिक कार्यकर्ता अब्दुल हक की मदद ली। अब्दुल हक ने एम्बेसी से कोशिश कर शव को सऊदी अरब से मंगवा लिया।

डीएम कार्यालय पर आत्मदाह की कोशिश, हिरासत में ग्रामीण

पीलीभीत, जिलाधिकारी कार्यालय में अजब नज़ारा सामने आया। 11 बजे के बीच एक अधेड़ ग्रामीण ने अपने ऊपर अचानक केरोसीन डाल लिया और आग लगाने की कोशिश की। जिससे कलेक्ट्रेट परिसर में हड़कम्प मच गया। ग्रामीण के इस कृत्य पर डीएम के सुरक्षा गार्ड की नज़र पड़ी तो उसने ग्रामीण को पकड़ लिया,साथ ही शोर भी मचा दिया। कलेक्ट्रेट परिसर में ही मौजूद सीओ सिटी निशांक शर्मा ने पुलिस वल के साथ पहुँच ग्रामीण को आग लगाने में नकाम कर दिया और हिरासत में ले लिया। ग्रामीण जमीनी विवाद में उलझा हुआ था। उसका कहना है कि उसकी कोई सुनवाई किसी स्तर पर नहीं हुई जिसकी बजह से उसने आत्मघाती कदम उठा लिया। उसने पुलिस पर पैसे लेकर दूसरे पक्ष पर रिश्वत लेकर सहयोग का आरोप भी लगाया।

 

घटना अपराहन लगभग 11 बजे की है। जब कलेक्ट्रेट परिसर में बीसलपुर कोतवाली क्षेत्र के गाँव भौनिया का ग्रामीण श्रीपाल तेज कदमों से आया। उसने जिलाधिकारी कार्यालय पहुँचकर अपने ऊपर केरोसीन तेल छिड़कना शुरू कर दिया। इसी बीच डीएम के सुरक्षा गार्ड राम श्रंगार की नजर पड़ी। वह तुरंत दौड़े और उससे केरोसिन छीन लिया तथा शोर मचा दिया।

 

कलेक्ट्रेट परिसर पुलिस वल के साथ मौजूद पुलिस कर्मियों ने श्रीपाल को आग लगाने में नाकाम कर दिया। श्रीपाल ने बताया कि उसने एक दलित महिला की जमीन खरीदी थी। लेकिन एक परमीशन जो दलित की जमीन खरीदने के लिए जरूरी होती है। उसे कराने की मृत्यु हो गई। महिला की मृत्यु के बाद में कुछ लोगों ने जमीन पर यह कहते हुए कब्जा कर लिया कि महिला ने मृत्यु से पूर्व जमीन उन्हें बेच दी है। इसी मामले में न्याय मांगने के लिए वह हर जगह चक्कर लगाकर थक गया तो उसने यह कदम उठाया। वही पुलिस ने आत्मदाह की कोशिश करने वाले ग्रामीण श्रीपाल को हिरासत में ले लिया है।

 

एडीएम अजयकांत सैनी ने बताया कि इस प्रकरण में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार ग्राम भोनी तहसील व कोतवाली बीसलपुर निबासी गेंदा पत्नी स्व0 केदार की मृत्यु हो चुकी है। रिहायशी जमीन का प्लाट है। मामले में पुलिस ने गत 22 अप्रैल को दोनों पक्षों पर शांति भंग की कार्रवाई कर जेल भी भेजा था। गुरुवार को दवाब बनाने के उद्देश्य से श्रीपाल  ने आत्मदाह की कोशिश की। इस प्रकरण में जांच की जा रही है। आरोपी ने पुलिस पर दूसरे पक्ष से धन लेकर सहयोग करने का आरोप भी सरे आम लगाया।

 

 

विदेशो में कमाने जाने वाले रहे जागरूक, किसी के झाँसे में न आएं-चारु निगम

पवन पांडे/गोरखपुर। अक्सर यह सुनने में आता है दूसरे देशों में जाकर अच्छे जॉब की सब्जबाग दिखा कर भोले भाले नवयुवकों को फ़सा कर एजेन्ट दूसरे देश भेज देते और जब वहां नवयुवक पहुँचते है तो उन्हें बताया गया काम और सेलरी न देकर छोटी काम और काम सेलरी दिया जाता है साथ ही उनका वीजा और पासपोर्ट भी रख लिया जाता है ऐसे मामलों की आये दिन वृद्धि को देखते हुए गोरखपुर की गोरख़नाथ क्षेत्र की तेज तर्रार पुलिस क्षेत्राधिकारी आईपीएस  चारु निगम ने ऐसे लोगो से बचने का दिया सुझाव दिया है। गौरतलब हो कि गोरखपुर में आये दिन विदेश (मस्कट, दुबई,कतर,औमान,बहरीन जैसे अरब देशों) भेजने के नाम पर वहाँ अच्छे काम दिलाने के नाम पर हो रही धोखाधड़ी लगातार बढ़ती ही जा रही है।

 

ऐसे धोखेबाजों द्वारा भोली भाली जनता को वहाँ भेज के घर के काम कराने जैसे कामो में फँसा दिया जाता है। ऐसा 2 से 3 व्यक्तियों द्वारा नही पूरे गिरोह द्वारा किया जा रहा है। सीओ साहिबा ने यह अपील किया है कि लोग ऐसे लोगो के झाँसे में न आयें जो उन्हें ऊँचे ऊँचे ख्वाब दिखाकर विदेश में अच्छे पैसे कमाने का लालच देते है। इनको पैसे न दे और विदेश जाने से पहले वीसा की सारी शर्ते और नियम पूरी तरह से समझ ले।

 

 

दूतावास कार्यालय द्वारा ही वीसा का कार्य करवाये ऐसे दलालो के चंगुल में न फँसे।और ऐसे लोगो अथवा गिरोह की जानकारी मिलते ही पुलिस को सूचित कर पुलिस की मदद करे।

सड़क पर घटों तड़पता रहा घायल, मूकदर्शक बनी रही पुलिस

गोंडा, सूबे में सरकार बदली निजाम बदला यहां तक कि प्रशासनिक फेर बदल भी किये गए लेकिन जो बदलने का नाम नही ले रहा वो है पुलिस और स्वास्थ्य विभाग का सूरत और सलीका। कल शाम गोण्डा शहर के फुरकनिया मदरसा के सामने हैरान व परेशान कर देने वाला दृश्य बेपरवाह पुलिसिया रवैये की विफलताओं का सबूत बन रहा था । जहां एक 30 वर्षीय अज्ञात युवक मदरसे के सामने तकरीबन ढाई घंटे से बेहोसी के हालत में अपनी तड़पती जान लेकर सड़क के किनारे पड़ा था जो पहले से ही बीमार और फैक्चर्ड था । जिसकी हालत देखकर स्थानीय लोगो ने 100 डायल को सूचना दी मौके पर पहुंची 100 डायल के पुलिस कर्मियों ने उस अज्ञात तड़पते युवक को एम्बुलेंस के इंतजार में 2:30 घंटे तक तड़पता छोड़ दिया इस बीच स्थानीय युवकों ने अज्ञात की मदद करनी चाही तो पुलिस ने उनको 108 के एम्बुलेंस का इंतजार करने को कहा।

 

स्थानीय लोगो ने पुलिस से घायल की मदद करने को कहा तो वो अपनी जिम्मेदारियों से ये कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि ये काम उनके अंदर में नही आता, उन्हें इसकी इजाजत नही है और इस बीच घायल युवक सड़क के किनारे ही तड़पता रहा। जब तक की 102 नम्बर एम्बुलेंस नही आई और जब एम्बुलेंस आयी तब तक ढाई घंटे इंतजार में बीत चुके थे और बाद में एम्बुलेंस कर्मी ने बताया कि 108 की एम्बुलेंस व्यस्त थी इसलिये 102 की एम्बुलेंस भेजी गई है ।

 

इस पूरे घटना क्रम से यह तो स्पष्ट हो जाता है कि न तो पुलिस को और न ही स्वास्थ्य विभाग को अपनी जिम्मेदारीयो का तनिक भी अहसास है। शासन प्रशासन के 15 मिनट में एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध कराने के दावे को मुंह चिढ़ाता यह सच सरकार की किरकिरी का जीता जागता उदाहरण बन रहा है। जबकि इस पूरे मामले पर जिला अस्पताल प्रसाशन की बड़ी लापरवाही तब सामने आई जब घायल को उपचार के लिए अस्प्ताल लाया गया तो उसका नाम भर्ती रजिस्टर में अज्ञात नाम से दर्ज़ करा दिया गया लेकिन जब सुबह उसके परिजन मरीज को घर लेकर जाने लगे तब भी मरीज को डिस्चार्ज करते वक़्त भी अस्प्ताल प्रसाशन ने उसका नाम दर्ज करने की जरूरत नही समझी। इस विषय पर जिला अस्प्ताल के सभी आला अधिकारी बयान देने से बचते रहे।

 

 

Tagged under

46 यूपी बटालियन एन सी सी का योग दिवस सम्पन्न

गोरखपुर।अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 46 बटालियन एन सी सी द्वारा आयोजित संयुक्त वार्षिक  प्रशिक्षण 153 में जवाहर नवोदय बिद्यालय  जंगल अगही में कैडेटो ने प्रतिभाग किया. इस अवसर पर करीब 1000से अधिक कैडेट्स प्रतिभाग किये. कैम्प कमाण्डिग अफिसर कर्नल जोगिन्दर लेफ्टिनेंट कर्नल योगेन्द्र  कैप्टन अखिलेश राव, लेफ्टिनेंट हेमंतराज  उपाध्याय ,लेफ्टिनेंट संजय कुमार सिंह  ,लेफ्टिनेंट यू के सिंह, चीफ अफसर नागेन्द्र श्रीवास्तव, फस्ट अफसर दिनेश पाण्डेय थर्ड अफसर संजय कुमार यादव जाम शैलेन्द दास उपप्रधानाचार्य आर. के. दीक्षित ने भाग लिया.

 

योग दिवस के अवसर पर विविध योग आसनो में कैडेट्स ने योग  ध्यान किया. योग से  होने वाले लाभ कैडेट्स को बताये गये. इस अवसर पर कैडेट्स ने मनमोहक व रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया. ग्रूप डांस  ग्रूप सांग के अलावा लघु नाटिका का  मंचन किया  गया।

 

तीसरा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस सम्पन्न

उपजिलाधिकारी की मौजूदगी में सम्पन्न हुआ योग शिविर

योग से मिलती है मन को शांति-पूजा मिश्रा

 

पीपीगंज के बसन्त बहार वाटिका में विश्व योग दिवस के अवसर पर योगशिविर का  शुभारंभ उपजिलाधिकारी कैपियरगंज पूजा मिश्रा द्वारा किया गया।योग शिविर में तहसीलदार बिपिन कुमार सिंह,नायब तहसीलदार मृदुला दुबे,अधिशाषी अधिकारी संजय कुमार जैसवार,चेयरमैन रामशंकर मद्धेशिया,भाजपा के जिलाउपाध्यच्छ शेषमणि त्रिपाठी,विन्दराशन चौधरी,वन्दना गुप्ता,महेंद्र वर्मा,गन्जु वर्मा,शैलेंद्र भारती, विजय बहादुर सिंह,लेखपाल धनंजय श्रीवास्तव,हेमन्त शुक्ला,निधि यादव समेत तहसील के कई कर्मचारी,कोटेदार एवं नगर पंचायत के कर्मचारी मौजूद रहे।

 

योग में भारी संख्या में नगर पंचायत गणमान्य लोग उपस्थित रहे वही बापू पोस्ट ग्रेजुएट कालेज में प्राचार्य डाक्टर एस0 पी0 एल0 श्रीवास्तव के नेतृत्व में योगा का कार्यक्रम सम्पन हुआ प्राचार्य ने बताया कि योग करने से तन एवं मन दो स्वास्थ्य रहता है अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 46 बटालियन एन सी सी द्वारा आयोजित संयुक्त वार्षिक  प्रशिक्षण 153 में जवाहर नवोदय बिद्यालय  जंगल अगही में कैडेटो ने प्रतिभाग किया. इस अवसर पर करीब 1000से अधिक कैडेट्स प्रतिभाग किये. कैम्प कमाण्डिग अफिसर कर्नल जोगिन्दर लेफ्टिनेंट कर्नल योगेन्द्र  कैप्टन अखिलेश राव, लेफ्टिनेंट हेमंतराज  उपाध्याय ,लेफ्टिनेंट संजय कुमार सिंह  ,लेफ्टिनेंट यू के सिंह, चीफ अफसर नागेन्द्र श्रीवास्तव, फस्ट अफसर दिनेश पाण्डेय थर्ड अफसर संजय कुमार यादव जाम शैलेन्द दास उपप्रधानाचार्य आर. के. दीक्षित ने भाग लिया।

.

 

योग दिवस के अवसर पर विविध योग आसनो में कैडेट्स ने योग  ध्यान किया. योग से  होने वाले लाभ कैडेट्स को बताये गये. इस अवसर पर कैडेट्स ने मनमोहक व रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया. ग्रूप डांस  ग्रूप सांग के अलावा लघु नाटिका का  मंचन किया  गया.दिग्विजय नाथ इण्टर कालेज चौक माफी में प्रधानाचार्य केशव प्रसाद त्रिपाठी प्रबंधक वी पी त्रिपाठी लालबहादुर शास्त्री उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में प्रबंधक मुकुल कुमार पांडेय के नेतृत्व में योग शिविर सम्पन्न हुआ इस अवसर पर मुकुल कुमार पाण्डेय ने बताया कि योगा को नियमित अभ्यास में लाने की जरूरत है योगा से तमाम प्रकार की असाध्य विमारियों पर विजय प्राप्त किया जा सकता है।

Tagged under

सीतापुर शिक्षण संस्थान पर लगे गम्भीर आरोप प्रशासन नही करता है कार्यवाही

गौरव शर्मा/उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद में सीतापुर शिक्षण संस्थान के द्वारा 290 छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का मामला सामने आया है और सीतापुर शिक्षण संस्थान प्रबन्धन के रसूक के चलते पीड़तों की बार बार शिकायत के बावजूद जिला प्रशासन मामले कोई भी कार्यवाही करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा है।

 

आपको बता दें की भारत सरकार के द्वारा संचालित योजनाओ में सीतापुर शिक्षण संस्थान प्रबन्धन के द्वारा लगभग 20 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट में घोटाले का आरोप लगा है बावजूद प्रशासन मामले में कोई कदम नही उठा रहा है सीतापुर जनपद के सभी अधिकारियो के चक्कर लगाने के बाद पीड़ित छात्रों ने मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगायी है।

 

जानें क्या है मामला

नमामि भारत से पीड़ित छात्रों से की गयी बात में छात्रों ने सीतापुर शिक्षण संस्थान के मालिक ललित मेहरोत्रा पर गम्भीर आरोप लगाते हुए बताया की भारत सरकार के द्वारा चलायी गयी आजीवका मिशन और पंडित दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल विकास योजना के अंतर्गत वर्ष 2014-15 में 290 अल्पसंख्यक छात्रों को प्रशिक्षण के बाद सभी को सार्टिफिकेट के साथ टैबलेट और नॉकरी दिलाने का वादा किया गया था। किंतु आज तक छात्रों को टैबलेट और नॉकरी नही दिलायी गयी है जबकि छात्रों को सीतापुर शिक्षण संस्थान के मालिक ललित मेहरोत्रा के द्वारा फर्जी कम्पनियो के कागज बनाकर उनमे छात्रों को नौकरी दिला देने का ख्वाब दिखा कर योजनाओं का तमाम पैसा डकार लिया है।

 

 

मामले में सभी छात्र 2015 से अभी तक प्रशासन से मामले में जांच कराने की मांग करते हुए सभी उच्च अधिकारियो से मिल चुके है किंतु अभी तक मामले में प्रशासन की तरफ से कोई भी कार्यवाही नहीं करी गयी है। सीतापुर जनपद के अधिकारियों से न्याय न मिलता देख पीड़ितों ने प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी जी से मिल कर न्याय की गुहार लगायी है।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px