Log in

 

updated 4:36 PM UTC, Apr 30, 2017
Headlines:
Namamibharat Reporter

Namamibharat Reporter

तलाक, शराबबंदी आतंकवाद और नक्सलवाद पर जमकर बोले मंत्री

 

गोंडा, यूपी सरकार के आबकारी व मद्यनिषेध मंत्री जय प्रताप सिंह आज एक महाविद्यालय के प्रशासनिक कक्ष का उद्घाटन करने गोण्डा के बभनान कस्बा पहुंचे थे। यहां पर मीडिया से शराबबंदी पर बात करते हुए मंत्री ने कहा कि सरकार की शराबबंदी की कोई योजना नही, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद शराब की दुकानों की शिफ्टिंग से 500 करोड़ रुपये राजस्व का घाटा हुआ है। तीन तलाक पर कहा कि मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है, जैसा सुप्रीम कोर्ट कहेगा वैसा निर्णय लिया जाएगा। आतंकवाद और नक्सलवाद पर अपने ही सरकार को घेरते नजर आए, मंत्री ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने में एनडीए और यूपीए की नीतियों में कोई फर्क नही, दोनो की नीतियां एक जैसी है।

 

जैसा सुप्रीम कोर्ट कहेगा वैसा निर्णय लिया जाएगा

 

तीन तलाक पर प्रधानमंत्री मोदी के बयान मुस्लिम समाज खुद सुलझाए तलाक का मुद्दा पर यूपी सरकार के मंत्री जय प्रताप सिंह से प्रश्न करने पर जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है, जैसा सुप्रीम कोर्ट कहेगा वैसा निर्णय लिया जाएगा।  आपको बता दे कि तीन तलाक पर पीएम मोदी के बयान के बाद मुस्लिम महिलाएं अपने को ठगा महसूस कर रही है, मुस्लिम महिलाएं तीन तलाक से कानूनी व सवैधानिक तरीके से छुटकारा चाहती है, लेकिन पीएम मोदी द़वारा यह जिम्मेदारी मुस्लिम समाज पर डाल देने से तीन तलाक से पीडित महिलाएं आहत है। उनका कहना कि जो समाज तीन तलाक का दुर्रप्रयोग कर रहा है प्रधानमंत्री जी उन्हीं से ही इसके समाधान के लिए अपील कर रहे है। तीन तलाक पर योगी सरकार के केबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के हवस वाले बयान पर मंत्री जय प्रकाश सिंह बोले कि मौर्या के बयान से सरकार की नीतियों का कोई लेनादेना नहीं है, ये उनका अपना बयान होगा लोग बहुत कुछ बोला करते हैं।

 

500 करोड़ का राजस्व नुकसान

 

देश भर में शराब बंदी की मांग व रिहायशी इलाकों में खुली शराब की दूकानों के विरोध में महिलाओं द्वारा किये जा रहे तोड़फोड़ व आगजनी पर मंत्री जय प्रताप ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि शराबबंदी पर सरकार अभी कोई विचार नहीं कर रही है। महिलाओं के विरोध पर मंत्री ने कहा कि साढ़े आठ हजार शराब दूकानें हाईवे से हटाई गयीं है जिनमें से 50 प्रतिशत दूकाने केवल विरोध के चलते निरस्त हो गयीं। इससे सरकार को पिछले वित्तीय वर्ष में 500 करोड़ का राजस्व नुकसान हुआ है।

 

यूपीए व एनडीए की नीतियों कोई अंतर नही

 

मीडया से बातचीत के दौरान सुकमा में नक्सलियों द्वारा मारे गए 26 जवानों व काश्मीर में आतंकवादियों द्वारा लगातार मारे जा रहे सेना के जवानों की प्रतिक्रिया में केवल बयानबाजी पर पूछे गए प्रश्न पर मंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर यूपीए व एनडीए की नीतियों कोई अंतर नही है। जबकि आपको बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में गुजरात के तत्कालीन मुख्ययमंत्री व भाजपा के सुपरडुपर प्रचारक नरेंद्र मोदी पूरे देश में यह कहकर की "एक सिर के बदले दस सिर काट के लाऊंगा" के बदौलत देश के प्रधानमंत्री बन गए। अब आज इनके मंत्री इतनी बड़ी संख्या में सेना के जवानों की शहीद होने पर देश की नीतियों को जिम्मेदार बता रहे हैं।

 

क्या नही रहा अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहीम! छोटा शकील ने दिया बड़ा बयान, जाने पूरा मामला

नई दिल्ली: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत के सबसे वांछित अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद इब्राहीम की हालत बेहद चिंताजनक है और कराची के एक अस्‍पताल में उसका इलाज हो रहा है। 1993 मुंबई बम धमाके के मास्टरमाइंड दाऊद इब्राहिम को पाकिस्तान के कराची में दिल का दौरा पड़ने की खबर है। दाउद को एक अस्पताल में वेंटिलेटर पर रखा गया है। एक रिपोर्ट ये भी है कि दाउद को लकवे के बाद वेंटिलेटर पर रखा गया है। बताया जा रहा है कि दाऊट को ब्रेन ट्यूमर हुआ था, जिसका ऑपरेशन पाकिस्तान के कराची में हुआ, लेकिन ऑपरेशन सफल नहीं हो पाया।

 

दाऊद के पारिवारिक सूत्रों ने हार्ट अटैक की खबरों को सिर्फ अफवाह करार दिया है। भारतीय खुफिया एजेंसियां दाऊद इब्राहिम की हालत पर करीब से नजर रखे हुए हैं। 1993 में हुए मुंबई बम धमाकों में 250 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद दाऊद पाकिस्तान भाग गया था। हालांकि पाकिस्तान इस बात को लगातार नकारता रहा है।

 

छोटा शकील ने कहा


अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद अब्राहिम की मौत की खबर को उसके करीबी छोटा शकील ने गलत और झूठा बताया। छोटा शकील ने कहा, ‘मेरी आवाज सुनकर क्या तुम्हें लगता है कि ऐसा कुछ हुआ होगा? यह सब अफवाह है। भाई फिट और ठीक है।’ खबर के मुताबिक, छोटा शकील कराची में दाउद इब्राहिम के साथ है।

तीन तलाक: यूपी के इस मंत्री ने कहा हवस मिटाने के लिए पत्नियाँ बदलते हैं मुस्लमान

बस्ती: उत्तरप्रदेश कि योगी साकार के काबीना मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने ऐसा बयान दिया है जो विवाद पैदा कर सकता है। चुनाव से ठीक पहले बीएसपी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए मौर्य ने कहा मुस्लिम 3 तलाक देकर अपनी हवस पूरी करने के लिए लगातार पत्नियां बदलते रहते हैं। स्वामी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मुस्लिम महिलाओं के साथ खड़ी है, जो अकारण, बेवजह और मनमाना तरीके से जब चाहा तलाक दे दिया।

 

स्वामी ने बताया मुस्लिमों के 3 तलाकके मामले में तलाक का कोई आधार नहीं है कोई अपनी हवस को पूरा करने के लिए लगातार पत्नियां बदलते रहने का काम करे, अपने ही बच्चे, अपनी ही पत्नी को सड़क पर भीख मांगने के लिए खड़ा कर दे , इसे ना आप अच्छा कहेंगे, ना कोई दूसरा अच्छा कहेगा। इस प्रकार की जो पीड़ित महिलाएं हैं, भुक्तभोगी महिलाए हैं, उन्हें भारतीय जनता पार्टी सम्मान दिलाने का काम करेगी।


स्वामी प्रसाद मौर्य के इस बयान पर ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड ने कड़ी आपत्ति जताते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मौर्य को बर्खास्त करने की मांग की है।

केजरीवाल ने मानी गलती कहा अब नहीं बनाऊंगा बहाने, जाने और क्या कहा

नई दिल्ली: हाल ही में हुए चुनावों में आम आदमी पार्टी के लगातार बुरे प्रदर्शन के बाद पार्टी का एक धड़ा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मिलने पहुंचा। उन्होंने केजरीवाल से सरकार पर ध्यान देने और पार्टी का राजनीतिक कामकाज कुमार विश्वास को सौंपने की सलाह दी। करीब आधा दर्जन पार्टी विधायकों ने बताया कि इस तरह का प्रस्ताव केजरीवाल के आगे रखा गया है जिस पर सकारात्मक रुख नजर आ रहा है।

 

जिसपर केजरीवाल ने ट्विट करते हुए कहा है कि 'पिछले दो दिनों में मैंने कई वॉलंटियर्स और वोटरों से बात की है। वास्तविकता यह है कि हमने गलतियां की हैं। हम इन गलतियों पर आत्मचिंतन करेंगे और उसे सुधारेंगे।' इधर केजरीवाल के गलती मानने के बयान पर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने चुटकी ली है। उन्होंने केजरीवाल के बयान को स्टंट बताते हुए कहा, 'केजरीवाल ने माफी मांगने में देरी कर दी।'


एमसीडी में हार के बाद से ही आप के भीतर इस्‍तीफों का दौर शुरू होने के बाद असंतोष की सुगबुगाहट देखने को मिली है। उसी की ताजा कड़ी में आप नेता आम आदमी पार्टी (आप) के नेता कुमार विश्वास ने शुक्रवार को कहा कि पार्टी के पास नेतृत्व में बदलाव का विकल्प खुला हुआ है, क्योंकि जब लोगों के बीच हमें लेकर एक अविश्वास है, ऐसे में अपनी हार का इल्जाम पूरी तरह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) पर लगाना गलत है।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px