Log in

 

updated 4:51 PM UTC, Feb 19, 2018
Headlines:

डीएम दफ्तर से बुज़ुर्ग महिला को पुलिस वालों ने सरेआम सड़क पर घसीटा.

सीतापुर। उत्तर प्रदेश के सीतापुर में एक बुज़ुर्ग महिला के साथ अमानवीय व्यवहार का एक विडियो सामने आया है. विडियो 45 SEC का है. लेकिन ये विडियो बेहद ही दर्दनाक और शर्मनाक है. इस विडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है की डीएम दफ्तर के बहार पुलिस वाले एक बुज़ुर्ग महिला को बड़ी ही बेरहमी से सड़क पर सरेआम घसीट रहे है. धक्के दे रहे है. इतना ही नहीं उसे इतनी तेज़ी से बार - बार धक्के दिए जा रहे है जिसकी वजह से वो सड़क पर गिरती हुई दिखाई दे रही है. जब पुलिस वालो का मन इससे भी नहीं भरा तो उन्होंने उस महिला को पुलिस जीप से घसीट कर बैठा दिया और वहा से लेकर चले गए. इस बीच महिला फर्यादी जोर जोर से अपनी शिकायत को बताने के लिए डीएम सीतापुर से मिलने की बात कहती रही लेकिन उसकी किसी ने नहीं सुनी. पुलिस के अमानवीय व्यवहार का ये नज़ारा मौजूद लोगों ने अपने मोबाइल कैमरे में रिकार्ड कर लिया।


बुज़ुर्ग महिला के साथ हुई शर्मनाक घटना के बारे में जब सीतापुर की डीएम सारिका मोहन से बात की गयी तो उनका कहना था की मामला मेरे संज्ञान में नहीं है. ऐसी घटना हुई है ये मीडिया वालों की वजह से पता चला है. दोषी पुलिस वालो के खिलाफ जांच कर कार्यवाही की जायेगी।

 

ठीक दूसरी तरह जिला सुचना अधिकारी ने सीतापुर डीएम की बातो को झुट्लाते हुए कहा की जो कुछ भी हुआ डीएम सारिका मोहन की जानकारी में है. महिला उनसे मिली थी. बात भी हुई थी. अभी महिला से बात ही हो रही थी की बात बिगड़ गयी और पुलिस वालों से महिला की हाथापाई शुरू हो गयी.

योगी जी अगर यहां होगा खनन तो 35000 लोग हो जाएंगे तबाह

योगी जी अगर यहा होगा खनन तो 35000 लोग हो जाएंगे तबाह

 

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद जिस तरह से खनन माफियाओं पर नकेल लगी थी उससे लगने लगा था कि अब नदियों से बालू खनन कर अरबो रुपया कमाना खनन माफियाओं के लिए आसान नही होगा लेकिन समय बीतता गया तो प्रसाशन की खनन माफियाओं पर नकेल भी मोटी कमाई के चक्कर मे ढीली पड़ने लगी और हो भी क्यो न जब सत्ताधारी नेता और विधायक ही इन खनन माफियाओं के संरक्षण करने लगे तो प्रसाशन  सुस्त होता दिखाई पड़ने लगता है आप को बता दे खनन के इस खेल में ज्यादातर वही लोग है जो पिछली सरकारों में लागतार अवैध खनन कराकर राजस्व को अरबो रुपये का चूना लगते रहे है और अवैध खनन की काली कमाई का आपस मे बंदरबाट करते रहे है

 

सीतापुर जनपद में खनन का खेल करने वालो की नजर अब ऐसे नदी के क्षेत्र पर पड़ी है जहाँ नदी के किनारे ग्रामीणों हरे भरे खेत है और मकान भी है लेकिन ग्रामीणों की इस उपयोगी कृषि भूमि को साशन को फर्जी रिपोर्ट भेज कर खनन का पट्टा भी कर लिया गया है जिसके विरोध में लहरपुर तहसील के ग्राम रतौली सहित लगभग 15 गांव के ग्रामीणों ने सीतापुर जिलाधिकारी कार्यालय में आकर अपना विरोध दर्ज कराया साथ सीतापुर जनपद की प्रभारी मंत्री रीता बहुगोड़ा जोशी से मिलकर अपनी समस्या से अवगत कराने के साथ पट्टे को निरस्त करने की मांग भी की साथ ग्रामीणों ने सीतापुर खनन अधिकारी पर मामले में फर्जी रिपोर्ट भेजने के गम्भीर आरोप भी लगाए जिसके चलते प्रभारी मंत्री जी के सामने ग्रामीणों और खनन अधिकारी के बीच तीखी झड़प भी हो गयी थी।

 

 

मामले की गम्भीरता देख  प्रभारी मंत्री जी ने ग्रामीणों को आस्वासन दिलाया की मौके पर खनन को तत्काल रोक दिया

 

खनन होने पर ख़तरे में पड़ेगा 15 गांवों का अस्तित्व और पहले से बाढ़ पीड़ित 35 हज़ार की आबादी हो जाएगी पूरी तरह तबाह।



ग्राम पंचायत-रतौली परगना-तंबौर तहसील-लहरपुर जनपद-सीतापुर में गाटा संख्या 8क/195 जिसमें राजस्व राजस्व अभिलेखों में नदी दर्ज है और वर्तमान में भी बड़ी नदी शारदा बह रही है-में खनन का पट्टा प्राप्त करके प्रार्थीगण के हरे-भरे खेतों को खोद ले जाने व नदी-बाढ़ से गांव की रक्षा हेतु बने तटबंध को ढहाकर ग पंचायत रतौली पूरी तरह शारदा नदी के तट पर स्थित है, जिसकी राजस्व अभिलेखों में दर्ज गाटा संख्या 8 का क्षेत्रफल करीब 125 हेक्टेयर है जिसमें लगभग 108 हेक्टेयर भूमि किसानों के नाम दर्ज है तथा लगभग 16.782 हेक्टेयर भूमि नदी के नाम गाटा संख्या 8क/195 दर्ज है।

 

2- यह शारदा नदी वर्तमान में गाटा संख्या 8 के दर्ज क्षे. 16.782 हेक्टेयर से भी अधिक भू-भाग में बह रही है, जिसके कारण बड़ी संख्या में किसानों को आज भी उनकी पुश्तैनी जमीन पर कब्जा प्राप्त नहीं हो सका है तथा जो किसान अपनी पुश्तैनी जमीन पर कब्जा करके कृषि कार्य कर रहे हैं उनकी भूमि भी गाटा सं. 8क/195 नदी में खनन के नाम पर खोद ले जाने की साज़िश खनन माफियाओं की तरफ से रजी जा रही है।

 

3- पंचायत रतौली जिसमें 3 छोटे गांव आते हैं-रतौली पश्चिम, रतौली पूर्व और रतौली डीह- में शासन ने काफी पैसा खर्च करके एक तरफ तटबंध बनवाया था, तब जाकर गांव का अस्तित्व नदी से बच पाया ऐसी स्थिति में यदि गांव में बालू के खनन कार्य की इजाजत दी जाती है तो गांव की रक्षा हेतु बने तटबंध(स्टडस) भी ढह जाने की पूरी संभावना है। फलस्वरूप गांव का अस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा।



4-शारदा नदी की भूगोलिक स्थिति ऐसी है जिसमें-रतौली पश्चिम, रतौली पूर्व और रतौली डीह का अस्तित्व ही समाप्त नहीं होगा..बल्कि शारदा जैसी विकराल नदी के किनारे पड़ने वाले गांव सोनसरी, मुसियाना, सेमिरिया, बुढ़नापुर, रम्पुरवा, पट्टी दहेली, गुड़पुरवा,गोड़ियन पुरवा, बरेती,महम्दापुर समेत दर्जनभर गांव बाढ-कटान से पहले से ही पीड़ित हैं और खनन की इजाजत मिलने पर/बाढ-कटान होने से करीब 15 गांवों की 35 हजार की आबादी पूरी तरह तबाह हो जाएगी और पलायन करने को लोग मजबूर हो जाएंगे।



बच्ची को मरने के लिए कूड़े में फेंका गैरो ने अपनाया

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद के रेउसा थाना क्षेत्र से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है यहा एक कलयुगी माँ ने अपनी नवजात बच्ची को जन्म के तुरंत बाद कूड़े के ढेर में मरने के लिए फिकवा देने का मामला सामने आया है।लेकिन शायद इस मासूम नवजात बच्ची पर ईश्वर की मेहरबानी थी जिसके चलते देर रात लगभग 1 बजे बच्ची के रोने की आवाज सुनकर कूड़े के ढेर के पास झोपड़ी में रहने वाले दीपक ओर उसकी माँ ने बच्ची को उठा कर आपने साथ ले आये।

 

दीपक ने बताया की बीती रात भीषण ठंड थी और कोहरा भी था जिसके चलते कोई इस बच्ची को जन्म के तुरंत बाद कूड़े के ढेर में फेंक गया था वह रात में कुत्तो की आवाज सुनकर जब मौके पर पहुच तो बच्ची को रोते पाकर आपने घर ले आया दीपक का कहना है कि बच्ची को अब मेरा परिवार अपना कर अपनी बच्ची की तरह लालन पालन करूँगा।

छात्राओं ने किया कटान पीड़ितों को शीत कालीन वस्त्रो का वितरण

 

सीतापुर में भीषण ठंड के चलते बहुत ही सराहनीय कार्य सरस्वती बालिका विद्या मंदिर पुखारी टोला बिसवां सीतापुर की छात्राओं द्वारा एकत्र किये गये शीतकालीन वस्त्रों का वितरण विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती प्रतिभा श्रीवास्तव जी साथ में उनके सहयोगी शिक्षिका प्रेमलता गुप्ता, कनिका दीक्षित तथा अन्य सहयोगियों के साथ विद्यालय से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर सुदूर स्थित घाघरा कटान पीड़ित क्षेत्र गौलोक कोडर, मारूबेहड़, चहलारी घाट के निवासियों को किया गया। तथा साथ ही साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला सद्भाव प्रमुख प्रेम शंकर बाजपेयी जी ने भी सामाजिक कार्य में सहयोग करते हुए बिस्कुट के पैकेट का वितरण किया। इस अवसर पर ABVP के विभाग प्रमुख रूपेश अवस्थी व जिला संयोजक अमित शुक्ल के साथ- साथ विद्यालय परिवार के अन्य सदस्य भी मौजूद रहे। लोगों ने इस कार्य की काफी प्रसंशा की।

यूपी के स्वास्थ्य विभाग का हाल -अस्पताल के खुले प्रांगण में महिला ने दिया बच्चे को जन्म

गौरव शर्मा/सीतापुर।यूपी के सीतापुर में सफेद हाथी बनकर रह गया सीतापुर का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र महाराज नगर। सीतापुर जनपद के एक ऐसे  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में आज एक ऐसा ही दृश्य देखने को मिला है कि धरती पर भगवान कहे जाने वाले डॉक्टरों की घोर लापरवाही के कारण एक प्रसूता को अस्पताल के ही प्रांगण में खुली जगह में प्रसव करना पड़ा ।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार नीतू वर्मा पत्नी श्री खुशीराम वर्मा ग्राम बंजरिया रतना पुर पोस्ट मदनापुर ब्लॉक सांडा सकरन से प्रसव हेतु  प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र महाराज नगर में  परिजनों के द्वारा लाई गई जहां पर धरती  के भगवान कहे जाने वाले डॉक्टर उपस्थित  नहीं मिले एवं ए एन एम सहित स्टाफ नर्स भी उपस्थित नहीं थे।

 

धीरे धीरे महिला की तबीयत बिगड़ती चली गई और उसने अस्पताल के ही प्रांगण में ही खुली जगह में बच्चे को जन्म दे दिया ।इस प्रकार से मानवता को शर्मसार करने वाली यह घटना दिखाती है कि हमारे धरती के भगवान अपने नैतिक कर्तव्यों के प्रति कितने जिम्मेदार हैं अगर  इस महिला एवं बच्चे को किसी प्रकार की  कोई भी स्वास्थ्य के प्रति अनहोनी हो जाती तो इसका जिम्मेदार कौन होता ।

थाना परिसर में ही थानाअध्यक्ष ने प्रेमी जोड़े की कराई शादी, जानें पूरा मामला

गौरव शर्मा/सीतापुर। यूपी के सीतापुर थाना पिसावां में 3 साल से युगल जोड़ी प्रेम करते थे लड़के का तिलक होने वाला है जान कर लड़की ने थाने पर जाकर थानाअध्यक्ष को अपनी पूरी बात कही और थाना अध्यक्ष जयशंकर सिंह ने 24 घंटो में लड़के को थाने पकड़ ले आये और थाने में ही दोनो की शादी करा दी गई।

  

दरअसल निवासी दिनेश की उन्नीस वर्षीय पुत्री पूजा का प्रेम प्रसंग करीब तीन वर्षों से इलाके के ही चौकनिया निवासी आल्हा के बीस वर्षीय पुत्र अंकित से चल रहा था एक ही जाति के होने के बाद भी दोनों के परिजन शादी करने पर सहमत नही थे लड़के के परिजनों ने अंकित का विवाह दूसरी जगह से तय कर दिया था बुधवार को अंकित का तिलक कार्यक्रम होना निश्चित था लेकिन उसी दिन पूजा थाने पहुचं कर एसओ जयशंकर सिंह से फरियाद लगाते हुए अंकित के साथ जीने मरने की बात कही विवाह ना होने पर अपनी जान खोने की बात कहते हुए न्याय की गुहार लगाई।

   

एसओ द्वारा लड़की व लड़के के पक्ष को थाने पर बुलाने के बाद दोनों पक्ष विवाह के लिए राजी हो गए गुरुवार को थाना परिसर में ही स्थित मंदिर पर दोनों पक्षो की मौजूदगी में बैंडबाजे के साथ विवाह कराया गया लड़के लड़की ने एक दूसरे को जयमाल डालकर मंदिर के फेरे लिए जिसके बाद मौजूद सैकड़ो लोगो ने मुँह मीठा करते हुए वर वधू को आशीर्वाद दिया थाना अध्यक्ष जय संकर सिंह ने लड़की को दक्षिणा देकर पुलिस डिपार्मेन्ट का गौरव बढ़ाया

अन्तर्जनपदीय वाहन चोरों के गैंग का पर्दाफाश

रामपुर मथुरा (सीतापुर)।अन्तर्जनपदीय वाहन चोरों के गैंग का पर्दाफाश पुलिस ने किया है। इनके कब्जे से 13 चोरी की बाइक बरामद हुई हैं। वाहन चोरी की घटनाओ पर अंकुश लगाए जाने हेतु पुलिस अधीक्षक आनन्द कुलकर्णी द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत थानाध्यक्ष रामपुर मथुरा अमित प्रताप सिंह व पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर रायसेनपुर गाँव के पास भट्ठा मोड़ पर अन्तरजनपदीय गैंग के दो सदस्य गुड्डू पुत्र नत्था लोध निवासी तरसेवरा थाना थानगाव को मय एक अदद तमंचा 315 बोर व दो अदद जिंदा कारतूस व दूसरे अभियुक्त इखलाख पुत्र इकबाल निवासी गाँव कचनापुर थाना मोहम्मदपुर खाला जनपद बाराबंकी को रात में गिरफ्तार किया।जिनके कब्जे से थाना माड़ियाव जनपद लखनऊ से चोरी की गई दो अदद मोटरसाइकिल बरामद हुई।

 

साथ ही कड़ाई से पूँछताछ करने पर अभियुक्त गणों की निशान देही पर ग्राम रायसेनपुर जँगल से अभियुक्त इस्लाम पुत्र शुबराती निवासी भदमरा थाना रेउसा को एक अदद तमंचा 12बोर मय 4अदद जिंदा कारतूस व इम्तियाज पुत्र उसमान अली निवासी बहादुरगंज थाना रामपुर मथुरा को गिरफ्तार किया। जिसके कब्जे से 11अदद मोटर साइकिल कुल 13अदद मोटर साइकिल चोरी की बरामद हुई। जो जनपद लखनऊ, बाराबंकी, बहराइच व खीरी से चोरी की गई थी। अभियुक्तगणों पर मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेजा दिया गया है। पुलिस टीम मे थानाध्यक्ष अमित प्रताप सिंह, एचसीपी अमर बहादुर, सिपाही दारा सिंह, हरिसहाय सिंह, विशाल कुमार, सुधीर कुमार व योगेश कुमार शामिल रहे ।

मानवता हुई शर्मसार, पहले जमीन करो नाम तब होगा माँ का अंतिम संस्कार

गौरव शर्मा/उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद से मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है यहा अपनी ही मरी हुई माँ का बेटो ने अंतिम संस्कार करने से साफ इंकार कर दिया लालची बेटो ने सर्त रक्खी फक जमीन हमारे नाम लिख जाये तभी माँ का अंतिम संस्कार करेंगे

 

इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सीतापुर जनपद के थाना संधना क्षेत्र के मानपुर गांव से सामने आया है जहा परिवारिक क्लेस और पति द्वारा पिटाई से तंग आ कर 65 वर्षीय महिला ने फासी लगाकर आत्म हत्या कर ली जिसके बाद पति ने बगैर पुलिस को सुचना दिए शव को फंदे से उतार कर अंतिम संस्कार करने की तैयारी करने लगा वही सुचना मिलने पर पंजाब से आये मृत माँ के बेटो ने अंतिम संस्कार करने से पिता को रोक दिया पिता से सर्त रक्खी पहले जमीन हमारे नाम लिखो तब अंतिम संस्कार होने देंगे पिता पुत्र के बिच विवाद होता देख ग्रामीण ने पुलिस को जानकारी देकर बुलाया जब पुलिस मौके पर पहुची तो शव जमीन ने पड़ा था और मृत महिला का पति और बेटे तहसील जमीन का ट्रांसफर कराने गए है ग्रामीणों ने बताया महिला की मौत को लगभग 24 घण्टे बीत जाने के बाद भी अंतिम संस्कार नही किया गया है इसी लिए पुलुस को सुचना देकर मौके पर बुलाया गया है

 

मौके पर पहुची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है

 

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px