Log in

 

updated 10:09 AM UTC, Jan 18, 2017
Headlines:

"लाईफलाइन एक्सप्रेस" ट्रेन में हुई कैंसर की सर्जरी

मुंबई, लाईफलाइन एक्सप्रेस में भारत के पहले कैंसर सर्जरी को अंजाम दिया गया। इस सर्जरी को अंजाम दिया विश्व के जाने माने कैंसर रोग विशेषज्ञ डाॅक्टर पंकज चतुर्वेदी और उनकी टीम ने। यह अपनी तरीके का बिल्कुल अलग आॅपरेशन था क्योंकि कैंसर के पेसेंट की सर्जरी में कई तरीके के विशेष सामान और डायग्नाॅस्टिक की जरुरत होती है।6 दिसंबर को ही 25 साल पहले लकडी के डिब्बों से शुरु हुई लाईफ लाइन एक्सप्रेस में 2 डिब्बे कैंसर के इलाज के लिए जोडे गए थे।

 

इम्पैक्ट इंडिया फाउंडेशन रेलवे तथा स्वास्थ्य मंत्रालय से हाथ मिला कर मुहिम के तौर पर लाइफ लाइन एक्सप्रेस चलाई है। लाइफ लाइन एक्सप्रेस नाम की इस गाड़ी में कैंसर और परिवार-नियोजन सेवा के लिए नए डिब्बे जोड़े गए हैं। यह चलता-फिरता अस्पताल देश के दूरदराज के इलाकों में पहुंचता है। रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक, अब तक लाइफ लाइन एक्सप्रेस से छोटी-बड़ी मिलाकर दस हजार सर्जरी की गई। करीब 20 से 25 दिन एक इलाके में रुक कर मरीजों का इलाज करता है। अब से पहले मोतियाबिंद व दूसरी छोटी-मोटी बीमारियों की सर्जरी की जाती रही है। ट्रेन में विशेषज्ञ चिकित्सकों, नर्सों और नकनीकी कर्मचारियों के अलावा सफाई कर्मियों का पूरा दल मौजूद है।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px