Log in

 

updated 4:51 PM UTC, Feb 19, 2018
Headlines:

मकर सक्रांति पर्व पर संगीत सिंह सोम ने किया गौ दान

नोएडा। मकर सक्रांति के पर्व पर  महागुरू गौरव मित्तल की देखरेख में विधायक संगीत सिंह सोम द्वारा गौ दान किया गया । प्रसिद्ध एस्ट्रो न्यूमरोलॉजिस्ट एवं वस्तु एक्सपर्ट, कर्मवीर चक्र अवार्ड विनर महागुरु, गौरव मित्तल, की देखरेख में विधायक संगीत सिंह सोम द्वारा आज नोएडा में मकर सक्रांति के पर्व पर गौ दान संम्पन्न हुआ।

 

इस मौके पर महागुरु गौरव ने कहा “परहित सरिस धरम नहिं भाई , पर पीड़ा सम नहिं अधमाई।“ परोपकार से बढ़ कर कोई धर्म नहीं है और दूसरों को कष्ट देनें से बढ़ कर कोई अधर्म नहीं है। यह विचार या यह चिंतन हमें सुधार की ओर ले जाता है, बुरे कार्यों से सचेत रहने को कहता है, तभी हम जीवन मे सफल हो सकते हैं।

 

वहीं मकर सक्रांति की महत्ता को बताते हुए महागुरू गौरव ने कहा...

 

*भास्करस्य यथा तेजो मकरस्थस्य वर्धते।*

*तथैव भवतां तेजो वर्धतामिति कामये।।*

*मकरसंक्रांन्तिपर्वणः सर्वेभ्यः शुभाशयाः।*

 

मकर संक्रांति से सूर्य का प्रकाश बढ़ने लगता है। प्रकाश बढ़ने के कारण प्रकृति के जीवन में नई चेतना तथा ऊष्मा आने लगती है तथा अन्न पकने लगता है। सर्दी के कारण शिथिल पड़े मानव के अंगों में पुनः उत्साह और स्फूर्ति का संचार होता है। इसी प्रकार मकर संक्रांति का यह दिन समाज को अज्ञान रूपी अंधकार से ज्ञान रूपी प्रकाश की ओर जाने की प्रेरणा देता है। जिस प्रकार प्रकृति में होने वाले सम्यक् दिशा के परिवर्तन का हम स्वागत करते हैं, ठीक उसी प्रकार समाज जीवन को बढ़ाने एवं मजबूत करने वाले परिवर्तनों का भी समर्थन अति आवश्यक है। इस दृष्टि से मकर संक्रांति का यह उत्सव सामाजिक परिवर्तन का सन्देश  देता है। संगीत जी का यह कदम प्रशंसनीय है जो लोगों का गाय के प्रति अपने दृष्टिकोण को बदलने एवं गाय की महत्ता को समझने में सहायक होगा।

 

महागुरू गौरव मित्तल एवं संगीत सिंह सोम के साथ संगीत जी की धर्मपत्नी प्रीति सोम, आशीष, गौशाला के कार्यकारणी संस्था के सदस्य वरुण गोयल एवं संतोष भी शामिल हुए।‎

भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा है ताजमहल-संगीत सोम

नई दिल्ली: भाजपा विधायक संगीत सोम ने ताजमहल को "भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा" और आताताईयों द्वारा निर्मित" स्मारक कहकर एक नया विवादित बयान दे दिया है। मेरठ में सरधना विधायक की यह टिप्पणी उत्तर प्रदेश सरकार के अपनी पर्यटन पुस्तिका में आकर्षण की सूची से ताजमहल को हटाने के बाद आया है।

 

बीजोपी नेता ने रहा कि "बहुत से लोग निराश थे कि ताजमहल को यूपी पर्यटन पुस्तिका से क्यों हटा दिया गया । हम किस इतिहास के बारे में बात कर रहे हैं? किसका इतिहास है? ताजमहल के निर्माता (शाहजहां) ने अपने पिता को कैद कर दिया। वह सभी हिंदुओं को भारत से मिटा देना चाहता था। अगर ये लोग हमारे इतिहास का हिस्सा हैं, तो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है।

 

उन्होंने कहा कि मैं आपको इस बात की गारंटी देता हूं कि हम इस इतिहास को बदल देंगे।एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए सरधना के विधायक संगीत सोम का दिया यह बयान  सोशल मीडिया में वायरल हो गया है। टीवी रिपोर्टों में कहा गया है कि भाजपा नेता मेरठ में एक सभा को संबोधित कर रहे थे।

 

  • Published in Politics
Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px