Log in

 

updated 4:36 PM UTC, Apr 30, 2017
Headlines:

पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता लूट कांड के तीन आरोपी गिरफ्तार

बलरामपुर, उतरौला पुलिस ने  व्यापारी के साथ हुई लूट कांड का खुलासा करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल रवाना कर दिया है। एसपी बलरामपुर ने पुलिस टीम को इस त्वरित कार्यवाई के लिए पुरस्कृत भी किया।

 

क्या है पूरा मामला..

2 जनवरी को थाना सादुल्लानगर क्षेत्र के ग्राम धेनया मदनपुर निवासी शमुसुददीन पुत्र बैठोले अपनी दुकान बंद करके घर के लिए निकला। मोहनडीहवा के पास सुनसान स्थान पर अज्ञात बदमाशों ने शमसुद्दीन के सर पर डण्डे से प्रहार कर लहुलुहान कर दिया था। बदमाशों ने उसका मोबाईल, 30 हजार रूपए नकद तथा एटीएम कार्ड आदि लूट लिया था। घटना के खुलासे के लिए पुलिस अधिक्षक एसपी उपाध्याय ने प्रभारी निरीक्षक सादुल्लानगर अली हमजा सिद्दीकी व उप निरीक्षक इकरार अहमद, कांस्टेबल सलामुद्दीन, आशुतोष यादव, अहमद हुसैन व श्रीकांत यादव की टीम कार उतरौला के नेतृत्व में घटना के खुलासे को लेकर काम कर रही थी।

 

लूट की रकम के साथ पकडे गए अपराधी

गुरूवार को घटना में शामिल मकसूद आलम उर्फ सद्दाम पुत्र स्वर्गीय मोहम्द अनवार, नियाज अहमद उर्फ भल्लू पुत्र अनवार तथा अशोक कुमार वर्मा उर्फ भया वर्मा पुत्र छट्ठी लाल निवासीगण ग्राम एदहा को सायं काल मनकापुर रोड यदहा मोड़ के पास चाय के दुकान से गिरफ्तार किया। अभियुक्तों के पास घटना में लूटे गये नकदी में से मकसूद के पास से 2450 रूपए नकद व लूटा हुआ मोबाईल तथा नियाज के पास से एक अदद तमंचा, दो जिन्दा कारतूस 12बोर व 1900 रूपए नकद बरामद हुआ। जबकि अशोक कुमार वर्मा के पास 1630 रूपए नकद बरामद किया गया।


पूछताछ के दौरान मुख्य अभियुक्त मकसूद आलम ने घटना को स्वीकार किया साथ ही यह बताया कि वह लोग शमसुद्दीन को लूटने की योजना काफी पहले से बना रहे थे। मौका लगते ही घटना को अंजाम दिया गया। पुलिस अधिक्षक एसपी उपाध्याय ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों को जेल रवाना कर दिया गया है। साथ ही घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत किया जायेगा।

विधायक के फरार भाईयों पर पुलिस ने घोषित किया 2500 रूपए का इनाम

बलरामपुर,  सत्तारूढ़ पार्टी के जिले के सदर विधायक जगराम पासवान के भाईयों केा पकड़वाने पर पुलिस ने 2500 रूपए का पुरस्कार घोषित किया है। बता दें बीते वर्ष में विधायक भाईयों ने मामूली बात पर एक व्यक्ति की गोली मार कर हत्या कर दी थी। अपनी कार्यशैली व भाईयों के गुण्डई के चलते सदर विधायक जगराम पासवान हमेशा विवादों से घिरे रहें है। एक बार फिर ऐसे समय में विधायक पासवान में चर्चा में आये है जिस समय में वह टिकट के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से टिकट की आश लगाये बैठे है। वर्ष 2016 में बरातियों की गाड़ी ने विधायक के भाईयों की गाड़ी को ओवरटेक किया था। जिस बात से आक्रोशित सदर विधायक पासवान के भाई पप्पू पासवान, अन्नू पासवान व अंगद पासवान ने जयराम यादव को गोली मार दी थी। जिससे जयराम की मौके पर ही मौत हो गई थी। घटना के बाद गोण्डा पुलिस ने अन्नू पासवान को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया था। मगर पप्पू पासवान तथा अंगद पासवान केा पुलिस अभीतक गिरफ्तार नहीं कर पाई थी। सदर विधायक जगराम पासवान के फरार भाईयों को पकड़वाने के लिए पुलिस ने 2500 रूपए का पुरस्कार घोषित किया है।

चौकीदार पुलिस व्यवस्था की नीव होते हैं -पुलिस अधीक्षक एस पी उपाध्याय

बलरामपुर। चौकीदार क्षेत्र में अपराध को रोकने की बुनियाद है। पुलिस यदि सो गई तो जनता को राहत नही मिल सकती। यदि पुलिस सजग है तो ही जनता को राहत मिलेगी। चैकीदार समाज के रक्षक है। जब सब चैन की नींद सो रहे होतें है तो चैकीदार अपना कर्तव्य पूरी निष्ठा और ईमानदारी से निभाते हुए समाज की निगरानी कर रहा होता है।

 

यह बातें पुलिस अधीक्षक एसपी उपाध्याय ने कोतवाली उतरौला परिसर में आयोजित कम्बल वितरण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में कही। श्री उपाध्याय ने कहा कि चैकीदार पुलिस परिवार से जुडे है। यही पुलिस व्यवस्था की नीव है। इनका महत्व अंग्रेजी हुकुमत से ही रहा है। जो गाव में होने वाले अपराध की प्रथम सूचना देते रहे। आज के समय में इनका दायित्व बढ गया है। ऐसे में सभी चैकीदार गांव में अपनी पैनी निगाह रखें। किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या ऐसा कोई कृत्य जो संदिग्ध लगे उसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें। उन्होने कहा कि यदि चैकीदार सजग है तो गंाव में अपराध पर अंकुश लग सकता है।

 

पुलिस अधीक्षक श्री उपाध्याय ने चैकीदारो का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि उनके द्वारा दिये गये सूचना को पुलिस विभाग गुप्त रखेगी। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मथुरा राय ने सभी उपस्थित चैकीदारो का धन्यवाद करते हुए बताया कि क्षेत्र में 218 चैकीदार तैनात है। जिन्हे कम्बल वितरण किया गया।

समाचार पत्र वितरक के हत्यारे गिरफ्तार पुलिस टीम को एसपी ने किया पुरस्कृत

 बलरामपुर.  गत दिनों थाना कोत0उतरौला  में कृषक राष्ट्रीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में समाचार पत्र वितरक  की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा नृसंश हत्या कर दी गयी थी। के हत्यारों को पुलिस ने गिरफ्तार कर और हत्या में प्रयुक्त हथियार बरामद कर जेल रवाना किया गुरुवार को पुलिस अधीक्षक बलरामपुर ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि राजकुमार सिंह यादव प्रभारी निरीक्षक कोत0 उतरौला एवं सर्विलांस सेल के उ0नि0श्री संतोष कुमार सिंह व कान्स0 नसरूद्दीन, कां0 रिपुसूदन शुक्ला आदि की अलग-अलग टीमों का गठन कर अपर पुलिस अधीक्षक बलरामपुर एवं क्षेत्राधिकारी उतरौला के नेतृत्व में अभियोग के अनावरण के कड़े निर्देश दिये गये  थे जिसके अनुपालन में टीमों के अथक प्रयास के उपरान्त  अभियुक्त दिनेश त्रिपाठी पुत्र बावन प्रसाद निवासी तख्तरवा थाना कोत0उतरौला तथा हरीश मिश्रा पुत्र स्व0राजकिशोर निवासी बाघाजोत थाना कोत0उतरौला जनपद बलरामपुर को  गिरफ्तार किया गया।

पूछतांछ के दौरान मुख्य अभियुक्त द्वारा घटना को स्वीकार करते हुए बताया गया कि समाचार पत्र वितरण करने की एजेंसी मृतक रामानन्द जायसवाल के पास थी, लड़के की तबीयत खराब हुई, जिसका इलाज कराने मृतक लखनऊ चला गया, इसी बीच एजेंसी को अभियुक्त दिनेश त्रिपाठी अपने नाम से करा लिया,  जब मृतक लड़के के दवा इलाज के बाद वापस आने पर एजेंसी स्वयं लेने का प्रयास किया । पेपर एजेंसी को लेने की रंजिश के चलते मृतक की हत्या कर दी गई अभियुक्त दिनेश त्रिपाठी ने अपनी मोटरसाइकिल से रामानन्द(मृतक) को श्रीदत्तगंज बाजार से चाय पीने की बात करके मोटरसाइकिल पर बैठाकर स्कूल में लेकर गया और वहाॅ पर अपने सहयोगी के साथ हॅसिया से पेट व गर्दन पर कई वार करते हुए नृसंश हत्या किया जाना बताया।

अभियुक्तगण की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल हॅसिया व मोटरसाइकिल बरामद किया गया। अभियुक्तगणों को रवाना जेल किया जा रहा है। गठित टीमों द्वारा अथक मेहनत एवं लगन से अज्ञात हत्या का अनावरण करते हुए उत्कृष्ट कार्य किया गया,जिसकी सराहना करते हुए पुलिस अधीक्षक बलरामपुर द्वारा 5000/-रूपये नकद पुरस्कार से पुरस्कृत किये जाने की घोषणा की गयी।

नवागत एसपी को चुनौती दे रहे अपराधी 72 घंटो में हुए अपराध ने जिले में बनाया खौफ का माहौल

बलरामपुर। विगत 72 घंटो में हुए तीन हत्या व एक हत्या और रेप के प्रयास के मामले को लेकर अपराध से जिले में खौफ का माहौल बना हुआ है।  एसपी राजीव मल्होत्रा के जाने के बाद जिले में बढा  क्राइम ग्राफ चर्चा का विषय बना है। ऐसा लग रहा है जैसे अपराधी नावगत  एसपी को खुली चुनौती दे रहे हो।


पिछले  दो दिनों में हुई तीन हत्यो में पुलिस के हाथ पहले से खाली थे। घटना के चलते पहले से ही जनता का आक्रोश पुलिस को झेलना पड रहा था। मंगवालवार को हुई घटना ने एक बार फिर पुलिस की कार्य शैली पर एक बार फिर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। गोरखपुर जनपद से नौकरी की तलाश में आई लड़की को उसके ही मौसरे भाई ने सड़क पर चौकू मार कर घायल कर दिया। पीड़िता पूरी रात जान बचाने के लिए भटकती रही लेकिन किसी पुलिस की गश्ती टीम ने उसे नही देखा। दिल्ली में हाईवे पर हुई घटना के बाद पुलिस के उच्चाधिकारियो ने निर्देश दिया था की  रात में पुलिस की गस्त बढ़ाई जाये जिससे इस तरह के अपराधो को रोका जा सके। पीड़िता ( मनीषा यादव पुत्री सुरेशी यादव काल्पनिक नाम )निवासी नरहरपुर थाना बड़हलगंज जनपद गोरखपुर ने बताया की उसके मौसरे भाई वीरेंद्र यादव जो की सयुंक्त हॉस्पिटल में वार्ड बॉय है ने उसे यह कह कर बुलाया था की उसकी नौकरी लेखाधिकारी के पद पर लग गई है आकर ज्वाइन कर लो। उसने बताया की वह ट्रेन से सोमवार की रात गोंडा स्टेशन पहुची।

जहाँ पर उसे लेने विरेन्द्र अपने तीन साथियो के साथ बोलेरो गाड़ी से आया था। बलरामपुर पहुच कर वीरेंद्र ने अपने दो साथियो को सयुंक्त हॉस्पिटल के पास उतार दिया। रास्ते में पूछने पर उसने तीसरे साथी को छोड़ने की बात कह कर गाड़ी उतरौला मार्ग पर बढ़ा दिया। एक पुल के पास गाड़ी रोक कर वीरेंद्र और उसके साथी ने मेरे साथ बलात्कार करने की कोशिस की। असफल होने पर वीरेंद्र ने धार दार हथियार से मेरा गला रेट दिया और बाद में बोलेरो से रौंदने का प्रयास किया। लेकिन गाड़ी के बीच में आ जाने के कारण मै बच गई। किसी तरह चलते चलते एक गांव के पास पहुची जहा ग्रामीणों ने एम्बुलेस बुलाकर मुझे हॉस्पिटल पहुचाया। 72 घंटे में हुई चौथी घटना ने पुरे जनपद को हिला कर रख दिया।


पुलिस अधीक्षक बलरामपुर के निर्देशन एवं क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व तथा कुशल मार्गदर्शन में गठित टीम प्रथम- प्रभारी वरिष्ठ उपनिरीक्षक श्री जितेन्द्र थाना कोत0नगर मय हमराही फोर्स एवं गठित टीम द्वितीय-श्री राजकुमार यादव प्रभारी निरीक्षक कोत0देहात बलरामपुर मय फोर्स द्वारा अथक प्रयास कर तत्परता से कार्यवाही करते हुए अभियोग में नामित अभियुक्त वीरेन्द्र यादव पुत्र राजमंगल यादव निवासी सतनई थाना बड़हलगंज जनपद मऊ को 24 घन्टे के अन्दर गिरफ्तार कर उसके कब्जे से लूटा गया बैग, कपड़ा, घड़ी, 1000/-रूपये नकद, 02 पीले धातु की अंगूठी, 01 पीले धातु का माला एवं घटना में प्रयोग की गयी वाहन संख्याः यूपी 47एच-3155 बोलेरो तथा एक अदद चाकू बरामद कर लिया घटना में संलिप्त शेष अन्य अभियुक्तों गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। पुलिस अधीक्षक बलरामपुर के स्तर से गठित की गयी पुलिस टीम द्वारा किये गये इस सराहनीय कार्य के लिए पुरस्कृत किया गया।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px