Log in

 

updated 8:08 AM UTC, Apr 24, 2018
Headlines:

कान्हा गौशाला सहित दस परियोजनाओं का सीएम योगी ने किया शिलान्यास

गाजियाबाद। इन्सान का इन्सान से हो भाईचारा-यही पैगाम हमारा व खाते हैं देश की रोटी और गाते हैं गीत विदेशों का-की सुमुधुर लहरी के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासनिक अमले और पुलिस के अधिकारियों व रंगरूटों के बीच यूपी गेट से राजनगर एक्सटेंशन तकनवनिर्मित 6 लेन के एलिवेटिड रोड का उद्घाटन करने के बाद आयोजित जनसभा के दौरान एलान किया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जो विकास रथ चल पड़ा है उसे रूकने नहीं दिया जाएगा। इस अवसर पर केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री डा. वी. के सिंह, केन्द्रीय राज्य मंत्री डा. सत्यपाल सिंह,उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री अतुल गर्ग, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, स्वतंत्र देव सिंह, महापौर आशा शर्मा, जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी, खोड़ा पंचायत चेयरमैन रीता भाटी सहित अनेक गणमान्यजनों ने अपनी सराहनीय उपस्थिति दर्ज की।

कविनगर रामलीला मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि गरीबों और किसानों के विकास और उत्थान के लिए उनकी सरकार कृतसंकल्प है। एक साल के दौरान अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में निरंतर तरक्की कर रहा है। गाजियाबाद को सौभाग्यशाली जिला बनाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि हमारी सरकार किसानों और गरीबों के चेहरे पर मुस्कान लाने को वचनबद्व है। इस अवसर पर उन्होंने सौभाग्य योजना के तहत 149.73 करोड़ रूपए की परियोजना का भी शुभारंभ किया जिसके तहत बिजली कनेक्शन विहीन सभी 721026 घरों को बिजली से जोड़ने की पहल शुरू की गयी है। इसके साथ ही जिले में शहरी और ग्रामीण इलाके में ऐसा कोई घर नहीं होगा जहां बिजली की आपूर्ति नहीं हो रही हो।

 

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा तैयार की गयी आरोग्यम एप्प का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने .14 करोड़ की लागत से 0 से 5 वर्ष की बालिकाओं की सेहत पर ध्यान देने का लक्ष्य बनाया है साथ ही गर्भवती महिलाओं को भी एप्प के जरिए सभी सूचनाएं आसानी से मिल सकेंगी। 70.64 करोड़ की लागत से तैयार होने वाली जीटी रोड से राजनगर एक्सटेंशन तक बन्धा रोड का सुदृढ़ीकरण एवं नाले के निर्माण कार्यों का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने जनसभा के दौरान बेरोजगारों को जाॅब कार्ड भी वितरित किए।

 

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की चेयरपर्सन रितु माहेश्वरी की मौजूदगी मेंमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि यूपी गेट से महज 5 मिनट में राजनगर पहुंचने के लिए बनाए गए 10.38 किलोमीटर लम्बे 6 लेन के एलिवेटिड रोड के चालू होने के बाद गाजियाबाद के लोगों को यातायात जाम से मुक्ति मिल जाएगी। इस दौरान मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा बनाए गए मेरठ रोड तिराहे पर रोटरी व ग्रैड सैपरेटर क परियोजना का भी लोकार्पण किया। 35 करोड़ की लागत से तैयार हुई इस परियोजना के साथ ही उन्होंने 8.13 करोड़ की लागत से पुरानी पारम्परिक लाईटों के स्थान पर एलईडी लाईटों का भी लोकार्पण किया। 20 ंकरोड़ की लागत से प्राईमरी व जूनियर हाई स्कूलों को आदर्श विद्यालय के रूप में विकसित किए जाने की परियोजना का भी मुख्यमंत्री ने लोकार्पण किया। जनपद गाजियाबाद में अग्निशमन हेतु 42 मीटर ऊंचे हाइड्रोलिक प्लेटफार्म एवं स्मार्ट फायर कंट्रोल के कार्य का भी लोकार्पण किया इस परियोजना पर 4.50 करोड़ की लागत आयी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 131 करोड़ रूपए की लागत से प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत मधुबन बापूधाम में बनाए 856 ईडब्लूएस भवनों के निर्माण कार्यों का भी शिलान्यास किया। 112.24 करोड़ की लागत से एकीकृत ऊर्जा विकास योजना व 40 करोड़ की लागत से दिल्ली यमुनोत्री मार्ग के 18 किलोमीटर लम्बे खजूरी पुश्ता मार्ग के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य का भी शिलान्यास किया। 16.90 करोड़ की लागत से अक्षय पात्र द्वारा मिड डे मिल हेतु किचन घर के निर्माण कार्य का भी शुभारंभ किया।

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण द्वारा विकसित किए जा रहे ग्राम सिरोरा सलेमपुर में हिन्डन नदी पर आरसीसी पुल के निर्माण कार्य का भी मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शिलान्यास किया। इस परियोजना पर 18.53 करोड़ की लागत आने का अनुमान है। हिण्डन एयरफोर्स स्टेशन से आईटीएसटी प्वाईंट तक सड़क निर्माण कार्य की परियोजना का भी शिलान्यास किया गया। यह परियोजना 8 करोड़ की लागत से तैयार की जानी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 6 करोड़ की लागत से गाजियाबाद शहर के अन्दर बने पुरानेगेटों के रिनोवेशन, जीडीए व कलेक्ट्रेट भवनों के फसाड लाईटिंग कार्याें का भी शिलान्यास किया। राजेन्द्र नगर में लोहिया पार्क के पास आरसीसी नाले के निर्माण कार्य का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने सिटी फारेस्ट के जीर्णोद्वार के कार्य का भी शुभारंभ किया। ग्राम बेगमाबाद बुढ़ाना में कान्हा गौशाला एवं आवारा पशु आश्रय स्थल के निर्माण कार्य की परियोजना का भी शिलान्यास किया, जिसकी लागत .48 करोड़ रूपए आंकी गयी है।

 

सिग्‍नेचर ब्रिज के अलावा इन 3 परियोजनाओं का पीएम ने किया शिलान्यास

द्वारका। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज गुजरात के द्वारका में 5825 करोड़ रुपये की लागत वाली चार राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, शिपिंग और जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, शिपिंग और रसायन एवं उर्वरक राज्‍य मंत्री मनसुख एल. मंडाविया भी इस अवसर पर प्रधानमंत्री के साथ मौजूद थे। ओखा और बेत द्वारका के बीच पुल का शिलान्यास करने पहुंचे PM मोदी ने कहा  द्वारका नगरी में जिस काम का आरंभ हो रहा है, यह सिर्फ ब्रि‍ज नहीं है, ईंट पत्थर से बनने वाली स्ट्रक्चरल व्यवस्था नहीं है। यह सांस्कृतिक इतिहास का सबूत है।

 

प्रधानमंत्री एनएच-51 पर बेत द्वारका और ओखा के बीच केबल धारित सिग्‍नेचर ब्रिज के निर्माण की आधारशिला रखी। इस पुल की परियोजना लागत 962 करोड़ रुपये है। इसके अलावा 3 परियोजनाओं की आधारशिला रखी उनमें

 

1600 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-51 के 116.24 किलोमीटर लम्‍बे पोरबंदर-द्वारका खंड को चार लेन का बनाना,

370 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-51 के 93.56 किलोमीटर लम्‍बे गडू-पोरबंदर खंड को 2/4 लेन का बनाना और

 

2893 करोड़ रुपये की लागत से एनएच-47 एवं एनएच-27 के 201.31 किलोमीटर लम्‍बे अहमदाबाद-राजकोट खंड को छह लेन का बनाना शामिल हैं।

 

1200 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा "चारधाम महामार्ग" ,प्रधानमंत्री करेंगे शिलान्यास

चारधाम परियोजना के तहत उत्तराखंड में कुल 1200 करोड़ रुपये की लागत से 900 किमी. के राष्ट्रीय राजमार्ग का विकास किया जाना है।प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 27 दिसंबर, 2016 को देहरादून के परेड ग्राउंड में महत्वाकांक्षी 'चारधाम महामार्ग विकास परियोजना' की आधारशिला रखेंगे। इस परियोजना का उद्देश्य चार धाम तीर्थयात्रा केन्द्रों के लिए कनेक्टिविटी में सुधार लाना है ताकि इन केंद्रों तक यात्रा और सुरक्षित, तेज व और सुविधाजनक हो सके।राजमार्ग की चौड़ाई कम से कम 10 मीटर होगी। राजमार्ग पर यातायात में सुगमता के लिए सुरंग, बायपास, पुल, सब-वे आदि होंगे।

 

चारधाम रूट के साथ-साथ विभिन्न सुविधाओं और सार्वजनिक सुविधाओं का भी निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा यहां पार्किंग के लिए रिक्त स्थान और आपातकालीन निकास के लिए हेलीपैड भी बनाए जाएंगे


कुल 3000 करोड़ु रुपये की लागत वाली 17 परियोजनाओं को पहले ही मंजूरी दे दी गई है और उनके निविदाएं जारी की जा चुकी है। एक टीम को भूस्खलन वाले संवेदनशील क्षेत्र की पहचान करने के लिए लगाया जाएगा। ये टीम इन क्षेत्रों को सुरक्षित बनाने के लिए यहां के डिजाइन को लेकर सुझाव देगी।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px