Log in

 

updated 5:35 PM UTC, Apr 26, 2017
Headlines:

करंट की चपेट में आये युवक की तड़प-तड़प कर मौत, साथी झुलसा

नीरज मिश्रा/शाहजहांपुर- शाहजहाँपुर के मदनापुर थाना क्षेत्र में करंट की चपेट में आने से एक युवक की तड़प-तड़प कर मौत हो गई और साथी गंभीर रूप से झुलस गया। मौके पर पहुंची पुलिस को गांव वालों के विरोध का सामना करना पड़ा। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

 

मदनापुर थाना क्षेत्र के ग्राम सिकंदरपुर कला निवासी बड़े लल्ला(20)पुत्र महेश गांव के ही श्री कृष्ण के साथ मंगलवार की रात खेत की रखवाली करने गया था।रात में किसी समय खेत के ऊपर से गुजरी जर्जर हाईटेंशन लाइन टूटकर लोहे के तार की बाड़ पर गिर गई।इस बात से अनजान युवक बड़े लल्ला बुधवार की सुबह 5:00 बजे तार में दौड़ रहे करंट की चपेट में आ गया जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई और उसका साथी श्री कृष्ण करंट लगने से गंभीर रूप से झुलस गया। घटना की जानकारी होने पर ग्रामीण और परिवारीजनों ने बिजली विभाग को सूचना देकर बिजली बंद कराई। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते हुए हादसे से ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया।

 

सूचना पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों और परिवारीजनो ने दोषीकर्मचारियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने और मुआवजे की मांग करते हुए शव नहीं उठाने दिया। इसके बाद भाजपा विधायक मानवेंद्र सिंह के बेटे अरविंद सिंह और एसडीएम सदर ने गांव पहुंचकर ग्रामीणों को समझा बुझाकर तथा उनकी मांगे मानते हुए शांत कराया।तब जाकर पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम लिए लिए भेजा तथा घायल को इलाज के लिये जिला अस्पताल मे भर्ती कराया।


प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि बड़े लल्ला की करंट की चपेट में आने से हुई मौत के संबंध में उसके परिवजनो की ओर से बिजली बिभाग के एक्सईएन, एसडीओ,जेई आदि के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है।

मालेगांव धमाका: साध्वी प्रज्ञा को मिली ज़मानत

मुंबई: मंगलवार को मुंबई हाई कोर्ट ने साध्वी प्रज्ञा सिंह को मालेगांव धमाके में क्लीन चीट देते हुए ज़मानत दी है। हालाँकि साध्वी कुछ हाई दिनों के भीतर कोर्ट में अपना पासपोर्ट जमा करना होगा। 29 अप्रैल 2008 को हुए बम धमाकों में कुल छह लोगों की मौत हुई थी और 100 से अधिक गम्भीर रूप से घयल हुए थे। धमाकों से जुड़ी चार्ज शीट में 14 आरोपियों के नाम दर्ज किए गाए थे, जिसमें से मुख्य आरोपी कर्नल प्रसाद पुरोहित, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को गिरफ़्तार किया गया था

 

जुलाई 2009 में स्पेशल कोर्ट ने सभी आरोपियों मकोका लगाया था जिसे मुंबई हाई कोर्ट द्वारा जारी रखा गया था जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 15 अप्रैल 2015 को आरोपियों के ख़िलाफ़ पुख़्ता सबूत ना होने के कारण हटा दिया था।


एनआइए ने कर्नल पुरोहित की ज़मानत अर्जी का विरोध करते हुए बताया ऑडीओ, विडीओ और फ़ोन कॉल के रिकार्ड को देखते हुए पुरोहित का धमाकों में शामिल होने की बात काफ़ी हद तक सही है। हालाँकि कर्नल पुरोहित को कोर्ट से कोई भी राहत नहीं मिली है।

कोहिनूर वापसी को लेकर नहीं दे सकते आदेश: सुप्रीम कोर्ट

दिल्ली: ऑल इंडिया हुमन राइट्स एंड सोशल जस्टिस फ़्रंट और हेरीटेज बंगाल की कोहिनूर हीरे को भारत वापस लाने की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई बंद करने के आदेश दिए हैं। जस्टिस जेएस खेहर की अगुवाई वाली बेंच ने ब्रिटेन में होने वाली कोहिनूर की नीलामी को रोकने के ऑर्डर देने की बात का निपटारा करते हुए कहा, हम इसमें कुछ नहीं कर सकते हैं, हम ब्रिटेन में होने वाली नीलामी को कैसे रोक सकते है या फिर दूसरे देश की सरकार को नीलामी रोकने के आदेश कैसे दे सकते है।

 

भारत सरकार ने कहा है कोहिनूर लाने की हर संभव कोशिश सरकार करेगी क्योंकि कानूनी रूप से यह संभव नहीं  है। भारत ब्रिटेन संधि से बंधे हुए हैं लेकिन संधि में कोहिनूर से जुड़ी कोई बात ना होने के कारण इस मामले को भारत अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में नहीं ले जा सकता है।


इसके पहले याचिका में कहा गया था की राजा दिलीप सिंह ने कोहिनूर महारानी को तोहफ़े के रूप में कभी नहीं दिया था बल्कि उसे ईस्ट इंडिया कम्पनी द्वारा धोखे से ले जाया गया है, साथ ही भारत सरकार को अंतरराष्ट्रीय फ़ोरम जाकर कोहिनूर को वापस लाने की बात कही गई थी।

आजम खान ने भेजी राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रक ईंट

फैजाबाद: गुरुवार की रात अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए मुस्लिम समुदाय भी सामने आया है। मुस्लिम कारसेवक एक ट्रक में ईंट लेकर अयोध्या पहुँचे और राम मंदिर बनवाने की माँग करते हुए एक ट्रक ईंट को दान के तौर पर देने की बात कही है। मुस्लिम कारसेवक मंच के अध्यक्ष आज़म खान लखनऊ से अयोध्या पहुँचे जहाँ उन्होंने राम मंदिर के निर्माण कराने की बात कही साथ ही उन्होंने कहा, अब हम जाती धर्म कि राजनीति से ऊपर उठ गए हैं हम भगवान श्री राम में आस्था रखते हैं।

 

आज़म खान ने टेंट में रखे गए भगवान श्री राम को मंदिर में रखने की बात कहते हुए कहा, लोग आजकल एसी में रहते हैं तो भगवान टेंट में क्यूँ ? उन्होंने कहा श्री राम को भव्य मंदिर में रखा जाना चाहिए।


कारसेवक मंच के अयोध्या पहुँचते ही पुलिस हरकत में आ गई और कारसेवक मंच के लोगों को वहाँ से भेजने के लिए प्रयास करने लगी। कारसेवक मंच के सदस्यों ने अयोध्या के कई इलाक़ों में ईंटों से भरा ट्रक घुमाया और मुस्लिम समुदाय के लोगों से राम मंदिर के निर्माण के साथ होने की गुज़ारिश की।

पांच राज्यों की पुलिस सतर्क, तीन आतंकी गिरफ्तार

लखनऊ: यूपी एटीएस ने अन्य पांच राज्यों की पुलिस की स्पेशल सेल की टीम के साथ आतंकवाद के खिलाफ बड़ी जंगी कार्यवाही की है, जिसके चलते तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। यूपी एटीएस को मिली जानकारी के अनुसार, देश के भीतर कुछ आतंकि एक बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिरात में हैं जिसके लिए वे और लोगों को इस मिशन में जोड़ने का काम कर रहे हैं।

 

यूपी एटीएस ने दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के साथ तीन संदिग्ध आतंकियों को मुंबई, लुधियाना, और बिजनौर से धर दबोचा है। साथ ही छह संदिग्धों से पूछताछ जारी है। गौरतलब है की आतंकियों की धर पकड़ के दौरान किसी भी स्थानीय पुलिस का सहारा नही लिया गया था।


इसके पहले खबर आई थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आतंकियों के निशाने पर है, जिसके चलते बताया जा रहा है राज्यों की पुलिस समेत एटीएस और एसटीएफ खासी फुर्ती में है।

एक प्रेमी ने दूसरे प्रेमी को उतारा मौत के घाट

गणेश कुमार / सोनभद्र: चोपन थाना क्षेत्र के कुरुहुल गांव में एक युवक की प्रेम प्रपंच के मामले में हत्या होने का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक बबलू मौर्या पुत्र राजेंद्र प्रसाद मौर्या (27) निवासी बंधवा बाजार थाना जिला प्रतापगढ़। लोगों ने बताया कि सोमवार शाम करीब पांच बजे वह चोपन थाना क्षेत्र के कुरहुल गांव में पहुचा जहां पर उसका कुरुहुल की ही एक महिला से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

 

मंगलवार को सुबह उसका शव देखे जाने से हणकम्प मच गया। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस व फोरेंसिक टीम जा पहुची औऱ शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज कर जांच में जुट गई। हालांकि महिला का कहना है कि हम इसे नही जानते। बताया गया कि चोपन थाना क्षेत्र के कुरुहुल गांव में मंगलवार की सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में एक व्यक्ति की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। गांव के लोगों का कहना है कि महिला से दो लोगों से अवैध संबंध चल रहे थे। जिस कारण दूसरे प्रेमी ने हत्या की घटना को अंजाम दे डाला।

 

वही प्रेमिका प्रेम देवी का कहना है बबलू नाम के जिस शख्श की हत्या हुई है मै उसे नहीं जानती। ये आदमी पहली बार हमारे घर पर आया था। मेरे बार-बार मना करने के बावजूद वो जबर्दस्ती दरवाजा खोल कर रात करीब 10 बजे घर में घुस गया था। जिसकी सूचना गांव के ही मुंडन तिवारी पुत्र ननकू तिवारी को हो गई थी। मुंडन तिवारी रात लगभग 12 बजे घर में घुस गया और सीधा धारदार हथियार से बबलू पर हमला कर दिया मैंने भी बीच बचाव की कोशिश की लेकिन उसने मेरे ऊपर भी हमला कर दिया जिस कारण मैं बेहोश हो गई।


हालांकि महिला के लड़के के अनुसार जिस शख्श की हत्या हुई है वो कल शाम 5 बजे घर पर आया था और आरोपी ने उसे गांव से जाने के लिए कहा था लेकिन वो गया नहीं बल्कि घर पर ही रुक गया। मौके पर पहुची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है और महिला के तहरीर पर चोपन थाने में 87/17 धारा 302 के तहत मुकदमा कायम हो चूका है। फ़िलहाल आरोपी फरार बताया जा रहा है जिसकी धर पकड़ के लिए पुलिस की एक टीम लग गई है।

गोल्ड मॉनेटाइजेशन स्कीम ब्लूप्रिंट तैयार

अगर आपके कपबोर्ड और बैंक लॉकर्स में सालों से आपका सोना और जूलरी बेकार पड़ा हुआ है तो उसे बाहर निकाल लीजिए, अब मुनाफा कमाने का समय आ गया है। अगर आप सरकार की गोल्ड मॉनेटाइजेशन स्कीम में हिस्सा लेंगे तो सोने के अलावा हर तरह की जूलरी से आप अच्छी कमाई कर सकते हैं। गोल्ड मॉनेटाइजेशन स्कीम के विवरण की शीघ्र ही घोषणा की जाएगी।

इस स्कीम को तैयार करने वाले वित्त मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि इस बात का कोई डर नहीं है कि टैक्स अधिकारी आपसे उस जूलरी पर वेल्थ टैक्स मांगेगा। सरकार इस स्कीम को सबके लिए रुचिकर बनाना चाह रही है जिस कारण इस प्रकार का कोई खतरा नहीं है। वित्त मंत्रालय एक क्रांतिकारी योजना के ब्लूप्रिंट को अंतिम रूप देने में लगा हुआ है जिसके तहत भारतीय नागरिक से अपने बेकार पड़े स्वर्ण भंडार का कम से कम एक भाग बेचने के लिए प्रेरित किया जाएगा।भारतीय नागरिक सोने के दुनिया के सबसे बड़े उपभोक्ताओं में एक हैं। 31 मार्च 2015 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में कम से कम करीब 3.43 करोड़ डॉलर सोने का भारत में आयात किया गया है।

प्रस्तावित स्कीम के तहत जमा कीमती धातुओं को पिघलाया जाएगा और जूलरी में गोल्ड जितना होगा उसे जमाकर्ता के नाम में क्रेडिट किया जाएगा। जमाकर्ता को जमा करने के दिन से ही सोने के मूल्य पर ब्याज मिलेगा। अगर कोई निवेशक स्कीम से वापस निकलना चाहेगा या इसकी मच्योरिटी पर उसे उस दिन सोने की कीमत के बराबर नकदी राशि का भुगतान किया जाएगा।

इस स्कीम से उन लोगों को फायदा होगा जिन लोगों ने अपने पास सोना जमा कर रखा है। इससे जहां उनकी कमाई होगी वहीं सोना में उन्होंने जो निवेश किया, वह सुरक्षित रहेगा। इससे मंदिर ट्रस्टों जैसे संगठनों और कंपनियों को भी मदद मिलेगी और साथ ही देश में जमा सोना सर्कुलेशन में आने से बाहर से इंपोर्ट कम होगा। सोने का आयात न होने से देश की इकॉनमी को फायदा पहुंचेगा।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px