Log in

 

updated 10:09 AM UTC, Jan 18, 2017
Headlines:

सिर्फ 849 रुपये में लें हवाई यात्रा का आनंद

इंडियन एयर लाइन्स अपने घरेलू यात्रियों के लिए बंपर ऑफर लेकर आयी है। Air India यह ऑफर नये साल पर यात्रियों को लुभाने के लिए लायी है। यात्री अब एयर इंडिया के जरिए सिर्फ 849 रुपये में हवाई सफर का आनंद ले सकते हैं। इसके लिए एयर इंडिया आज से ही बुकिंग सेवा की शुरुआत कर दी है, जो इस साल के आखिरी यानी 31 दिसंबर तक चलेगा। एयर इंडिया के अलावे गो एयर 999 रुपये में औऱ एयर एशिया 917 रुपये में यह बंपर ऑफर लेकर आया है।

अगर आप देश के अंदर किसी खास जगह पर घूमने का प्लान बना रहे हैं,तो इस ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। इतना ही नहीं अगर आप देश के अंदर किसी खास जगह से होली में अपने घर आना चाहते हैं तो 31 दिसंबर तक एयर इंडिया के इस ऑफर का फायदा उठा सकते हैं। आप कम खर्च कर हवाई यात्रा के जरिये अपने घर आ सकते हैं,या फिर किसी खास जगह घूमने जा सकते हैं।

बताया जा रहा है कि इकोनॉमी क्लास में एक तरफ की यात्रा के लिए सिर्फ 849 रुपये देना होगा। 27 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच टिकट बुकिंग पर ये ऑफर मान्य होगा। साथ ही यात्रा की अवधि 15 जनवरी से 30 अप्रैल के बीच का होना जरूरी है।

भारतीय रेलवे को कार्बन रहित मिशन विद्युतीकरण रफ्तार तेज

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने भारतीय रेलवे को कार्बन रहित करने- मिशन विद्युतीकरणपर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया, जिसे एसोचैम इंडिया की साझेदारी में रेल विद्युत अभियंता संस्थान ने आयोजित किया। इस अवसर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने एक मोबाइल एप रेल सेवरलांच किया। इस एप से ऊर्जा खपत में 15-20 फीसदी की कमी आने की आशा है। 

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि भारतीय रेलवे अगले कुछ वर्षों में मौजूदा 28,000 किलोमीटर के अलावा 24,000 किलोमीटर और रेल लाइनों को विद्युतीकृत करके रेलवे को और ज्‍यादा हरित बनाए जाने को लेकर आशान्‍वित है। उन्‍होंने यह भी कहा कि ऊर्जा का सबसे बड़ा उपयोगकर्ता होने के नाते भारतीय रेलवे लगभग 18 अरब विद्युत यूनिटों और तकरीबन 2.4 अरब लीटर र्इंधन ऑयल की खपत करती है, जो देश की कुल ऊर्जा खपत का लगभग 2 फीसदी है। भारतीय रेलवे की ऊर्जा मांग के वर्ष 2030 तक तिगुना हो जाने की आशा है। भारतीय रेलवे की विद्युत मांग का मौजूदा स्‍तर 49 अरब यूनिट है। रेलवे को कार्बन रहित करने से पेरिस समझौते के तहत भारत द्वारा व्‍यक्‍त की गई प्रतिबद्धता को पूरा करने में मदद मिलेगी। भारत ने पेरिस समझौते में ग्रीन हाउस गैस के उत्‍सर्जन को वर्ष 2005 के स्‍तर के मुकाबले वर्ष 2030 तक 33-35 फीसदी घटाने की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हरित ऊर्जा के उत्‍पादन और रेलवे के व्‍यापक विद्युतीकरण जैसे कदमों से रेलवे का स्‍वरूप काफी हद तक बदल जाएगा। विद्युतीकरण से आयातित तेल की खपत कम हो जाएगी, जिससे राजकोष पर बोझ घट जाएगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि विद्युतीकरण की रफ्तार तेज होने से इसका र्इंधन बिल 10,000 करोड़ रुपये वार्षिक घट जाएगा। 

“उड़ान” योजना लॉन्च, 2500 रुपये में लीजिये हवाई सफर का लुफ्त

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने आज छोटे शहरों के साधारण जन की हवाई यात्रा का सपना पूरा करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। नागरिक उडड्यन मंत्री पी.अशोक गजपति राजू ने आज नई दिल्ली में मंत्रालय की बहुप्रतीक्षित क्षेत्रीय कनेक्टविटी योजना उड़ानलॉन्च की। उड़ान क्षेत्रीय उड्डयन बाजार विकसित करने के लिए एक नवाचारी योजना है। यह बाजार आधारित व्यवस्था है जिसमें एयरलाइन्स सीटों की सब्सिडी के लिए बोली लगाएंगी। यह विश्व की अपने किस्म की पहली योजना है जो क्षेत्रीय हवाई मार्गों पर किफायती और आर्थिक रूप से व्यावहारिक उड़ाने प्रस्तुत करेंगी और इससे छोटे शहरों के साधारण व्यक्ति को किफायती दर पर हवाई सेवा की सुविधा मिलेगी। इस अवसर पर राजू ने आशा व्यक्त की कि योजना के अंतर्गत अगले वर्ष जनवरी में पहली उड़ान भरी जाएगी। उड़ान योजना में सेवा रहित और क्षमता से कम सेवा वाले देश के हवाई अड्डों को वर्तमान हवाई पट्टियों तथा हवाई अड्डों का पुनर्रोद्धार कर कनेक्टविटी प्रदान करना है। यह योजना 10 वर्षों के लिए होगी। विमान से 500 किलोमीटर की एक घंटे की यात्रा तथा हैलीकॉप्टर से 30 मिनट की यात्रा के लिए किराये की सीमा 2,500 रूपये होगी।

 

विमान सेवा में चयनित एयरलाइन ऑपरेटर को न्यूनतम 9 और अधिकतम 40 उडान सीटें सब्सिडी दरों पर देनी होंगी और हैलीकॉप्टर के लिए न्यूनतम 5 और अधिकतम 13 सीटें सब्सिडी दर पर देनी होंगी। ऐसे प्रत्येक मार्ग पर विमान सेवा की गति प्रतिसप्ताह न्यूनतम 3 और अधिकतम 7 प्रस्थान सेवा होगी। आर्थिक और विमान की उपयोग क्षमता को हासिल करने के लिए योजना के तहत मार्ग नेटवर्कों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत राज्यों की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। उड़ान योजना का संचालन जिन हवाई अड्डों से शुरू किया जाएगा उनका चयन राज्य सरकार के साथ विचार-विमर्श करके और उनकी रियायतों की पुष्टि के बाद ही किया जाएगा। 

ये हुआ कमाल, 10 साल बाद एयर इंडिया मुनाफे में

नयी दिल्ली। कई सालों के बाद भारत सरकार की एयर इंडिया को 105 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। 2014 में मोदी सरकार आने के बाद एयर इंडिया की हालत पर पहली बार चर्चा शुरु हुई सरकार ने एयर इंडिया की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए काम ळुरु तो हुआ लेकिन एयरलाइन को वर्ष 2014.15 में परिचालन कार्य में 2,636 करोड़ रुपए का भारी नुकसान सहना पड़ा । 

मगर कंपनी ने पिछले वित्तीय वर्ष में दस साल में पहली बार लाभ हासिल करने में सफलता पाई है। 2015 में एयर इंडिया की आय घट कर 20,526 करोड़ रुपए रह गई जो कि एक साल पहले 20,613 करोड़ रुपए थी। यात्रीयो की संख्या में बढोतरी तथा ईंधन खर्च में कमी से इस वर्ष यह सफलता मिली।

सन 2007 के बाद वित्त वर्ष 2015-16 की वित्तीय वर्ष में 105 करोड़ रुपए का परिचालन लाभ मिला है। जो एक शुभ संकेत है।साल 2007 में घरेलू विमानन सेवा कंपनी इंडियान एयरलाइन्स को एयर इंडिया में मिलाया गया था।

बता दें कि पिछले साल इसके इर्ंधन खर्च में 31 प्रतिशत की कमी आयी  थी। इसके परिचालन लाभ में इसका बड़ा योगदान है। सूत्रों के अनुसार कंपनी ने ईंधन की दर में गिरावट का लाभ यात्रियों को भी दिया। यह तथ्य इस बात से उजागर होता है कि इस दौरान इसके टिकट औसतन 7.7 प्रतिशत सस्ते हुए हैं।

आलोच्य अवधि में इसके यात्रियों की संख्या 1.8 करोड़ रही जो एक साल पहले की तुलना में 6.6 प्रतिशत अधिक है। वर्ष 2014-15 में एयर इंडिया से कुल 1.688 करोड़ यात्रियों ने सेवा ली थी। यह एयरलाइन इस समय सरकार के सहारे चल रही है जिसमें सरकार ने इसे 30,000 करोड़ रुपए की सहायता पैकेज प्रदान की है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 372 अरब डॉलर के पार

एक ओर जहां भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है, वहीं दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन का विदेशी मुद्रा भंडार सितंबर महीने मे घट गया हैं। भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर 372 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। आरबीआई की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 23 सितंबर तक यह आंकड़ा 370.76 अरब डॉलर था, लेकिन 30 सितंबर तक यह 372 अरब डॉलर के स्तर पर आ गया है। सितंबर महीने के अंतिम सप्ताह के बाद विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां 30 सितंबर तक 346.71 अरब डॉलर, सोना 21.40 अरब डॉलर, स्पेशल ड्राइंग राइट्स 1.48 अरब डॉलर और अंतरराष्ट्री य मुद्रा कोष में भंडारण 2.38 अरब डॉलर रहा है।

 

चीन के विदेशी मुद्रा भंडार लगातार तीसरे महीने में भी कम हुआ है। इससे पहले के दो महीने जुलाई और अगस्त में भी चीन को मुद्रा भंडारण में घाटा हुआ था। ये चीन के लिए बड़ा झटका माना जा रहा हैं, दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था यानी चीन से लोग तेजी से पैसा खींच रहे हैं। लगातार तीन महीनों से विदेशी मुद्रा भंडारण में घाटे का सौदा होने पर भी चीन का दुनिया में सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार हैं।

एससीआई और बीओआई बैकों के बीच समझौता, 100 मिलियन डॉलर व्यापार की उम्मीद

केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वाशिंगटन डीसी में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष मुख्यालय में आयोजित राष्ट्रमंडल वित्त मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की। बैठक के दौरान दो मुख्य मुद्दों 'जलवायु परिवर्तन और फाइनेंसिंग जलवायु अनुकूलन और शमन का अर्थशास्त्र' तथा 'अंतर्राष्ट्रीय कराधान पनामा पेपर्स के बारे में चर्चा की । इस बैठक में स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा ने राष्ट्रमंडल लघु राज्य व्यापार वित्त सुविधा के बारे में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए । इस वित्त सुविधा से अगले तीन वर्षों के दौरान 100 मिलियन अमेरिकी डॉलर का व्यापार वित्त उपलब्ध होने की उम्मीद है।

 

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ब्रिक्स आकस्मिक रिजर्व प्रबंध की संचालन परिषद की बैठक की भी अध्यक्षता की। सभा को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री ने यह घोषणा की कि सीआरए अब परिचालन में हैं और ब्रिक्स सदस्य केन्द्रीय बैंक लेन-देन करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। सदस्यों ने केन्द्रीय बैंकों की अनुसंधान इकाइयों के नेटवर्क की स्थापना के प्रस्ताव का स्वागत किया और कहा कि इससे ब्रिक्स सीआरए के कार्य में मदद मिलेगी। बैठक में वित्त मंत्री ने ब्रिक्स देशों के वित्त मंत्रियों और सेंट्रल बैंक गवर्नरों को इस महीने गोवा में आयोजित होने वाली बैठक में भाग लेने का निमंत्रण दिया। वित्त मंत्री ने इंग्लैंड, अमेरिका, भूटान, बांग्लादेश के विदेश मंत्रियों और जापान बैंक फॉर इंटरनेशनल कॉरपोरेशन के साथ कई द्विपक्षीय बैठकों में भाग लिया। द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों में अधिक से अधिक आर्थिक सहयोग सुनिश्चित करने के लिए इन सभी बैठकों में मुख्य रूप से ध्यान दिया गया।

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 371.30 अरब डॉलर के पार

भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में लगातार इजाफा हो रहा हैं। आरबीआई के नए गवर्नर उर्जित पटेल ने रघुराम राजन की मुद्रा भंडार नीति को कायम रखा और इसी नीति के तहत 9 सितंबर को समाप्त हुए हफ्ते में भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 371.30 अरब डॉलर तक पहुंच गया। भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में 3.5 अरब डॉलर की बढोत्तरी हुई हैं।

यह भारत का अब तक का विदेशी मुद्रा भंडारण का उच्चतम स्तर हैं। इससे पहले के हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार 98.95 डॉलर बढ़ गया था तब भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 368 अरब डॉलर हो गया था। यह मुद्रा भंडार अगले 13 महीनों तक विदेशी आयात को जारी रखने के लिए काफी हैं। भारतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक विदेशी मुद्रा नौ सितंबर को समाप्त हुए बीते सप्ताह में 3.509 अरब डॉलर बढ़कर 345.747 अरब डॉलर हो गईं थीं। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष में देश का विशेष निकासी अधिकार भी 53 लाख डॉलर बढ़कर 1.493 अरब डॉलर हो गया है।

Tagged under

आ रहा है JIO को टक्कर देने EUBB 249

नयी दिल्ली, खबर है कि बीएसएनएल ने जियो को टक्कर देने के लिए जल्द ही एक्सपिरियंस  अनलिमडेट बीबी 249 नाम की ब्रॉडबैंड प्लान लॉन्च करने जा रही है। रिलायंस ने जियो 4जी लांच कर टेलीकॉम बाजार में हलचल मचा दी है, माना जा रहा कि जियो को जबाव देने के लिए अन्य टेलीकॉम कंपनियां भी ऐसे ही धमाकेदार प्लान ला सकती हैं। जिससें ग्राहकों का फायदा होगा।

 

9 सितंबर 2016 को BSNL बेहद सस्ता अनलिमिटेड प्रमोश्नल अनलिमिटेड ब्रॉडबैंड प्लान लाने जा रही है, एक्सपिरियंस अनलिमडेट बीबी 249 नाम के इस प्लान के तहत एक महीने में 300 जीबी तक डेटा इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए डेटा लागत एक रुपए प्रति जीबी से भी कम पड़ेगी। BSNL ने बताया कि वह जल्द ही अनलिमिटेड वायरलाइन ब्राडबैंड प्लान लेकर आएगी, जिसके तहत ग्राहक एक महीने में 300 जीबी तक डेटा इस्तेमाल कर सकेंगे। ऑफर के तहत डेटा कॉस्ट एक रुपए प्रति जीबी से भी कम पड़ेगी। ग्राहक बिना डेटा लिमिट डेटा डाउनलोड कर सकेंगे और उन्हें 2एमबीपीएस की स्पीड दी मिलेगी।

Tagged under

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 27918 के अंक से नीचे बंद

शेयर बाजार में गिरावट के साथ कारोबार बंद हुआ है, शेयर बाजार में मुनाफावसूली हावी रही जिसके चलते निफ्टी 8620 के नीचे फिसल गया, तो सेंसेक्स 27918 के अंक से नीचे पहुंच गया। निचले स्तरों तक पहुच गया था। कारोबार के दौरान निफ्टी 8614 तक नीचे आया और सेंसेक्स 28000 के नीचे ही बंद हुआ।

 

बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 91.5 अंक गिरावट के साथ 27985.5 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 38 अंक की गिरावट के साथ 8629 के स्तर पर बंद हुआ है. आज के कारोबार में बीएसई का मिडकैप इंडेक्स, लार्जकैप इंडेक्स और स्मॉलकैप इंडेक्स हल्की गिरावट के साथ बंद हुआ है। आज के कारोबार में बाजार में एफएमसीजी को छोड़कर बाकी सभी सेक्टोरियल इंडेक्स में गिरावट के लाल निशान के साथ कारोबार बंद हुआ है. रियलिटी शेयरों में भी मामूली तेजी के साथ कारोबार बंद हुआ। 

दालें होगी सस्ती,समाप्त होगा दालों पर प्रादेशिक कर

केंद्र सरकार दाल की कीमतों पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ठोस कदम उठाने जा रही है। केंद्र सरकार ने राज्यों से दालों और खाद्य तेलों सहित सभी आवश्यक खाद्य वस्तुओं से सभी स्थानीय कर समाप्त करने को कहा है। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति उचित मूल्य पर सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है। खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने बयान में कहा कि दालों, खाद्य तेल और अन्य आवश्यक खाद्य वस्तुओं की उचित मूल्य पर आपूर्ति सुनिश्चित करने को केंद्र ने राज्यों से आवश्यक खाद्य वस्तुओं से सभी स्थानीय कर समाप्त करने को कहा है। 

 उपभोक्ता मामलों के सचिव हेम पांडा ने राज्यों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा है कि वे तत्काल आधार पर बाजार में हस्तक्षेप करें और प्राथमिकता के आधार पर एपीएमसी कानून की समीक्षा कर दालों तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं को प्राथमिकता के आधार पर गैर सूचीबद्ध करें जिससे किसान अपनी उपज की बिक्री अपनी पसंद के स्थान पर कर सकें जिससे खेत से उपभोक्ता तक आपूर्ति श्रंखला के चरण घटें। मूल्य नीति पर खाद्य मंत्रियों ने किया था विचार मंत्रालय ने कहा कि इससे उपभोक्ता को उचित मूल्य पर खाद्य वस्तुएं मिल सकेंगी तथा किसानों को भी बेहतर मूल्य सुनिश्चित हो सकेगा। 

 

 

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px