Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

आज भारत में लांच होंगे नोकिया के ये धमाकेदार एंड्राएड फोन जानिए क्या है कीमत

नयी दिल्ली। नोकिया ब्रांड के संरक्षक एचएमडी ग्लोबल, आज भारत में नोकिया 6, नोकिया 5 और नोकिया 3 एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स का लांच करने के लिए तैयार है। पिछले महीने भारत में नोकिया 3310 लॉन्च के बाद, नोकिया 6, नोकिया 5 और नोकिया 3 बजट वाले स्मार्टफोन का मंगलवार दोपहर नई दिल्ली में एक समारोह में अनावरण किया जाएगा, जहां भारत में इसकी कीमत के बारे में घोषणा की जाएगी। गौरतलब है कि नोकिया 3, नोकिया 5, और नोकिया 6 एंड्रॉइड स्मार्टफोन्स को विश्वभर में लांच करने की घोषणा एमडब्ल्यूसी 2017 में वर्ष की शुरुआत में बार्सिलोना में किया गया था।

 

नोकिया 3, नोकिया 5, भारत में नोकिया 6 की कीमत

यह अफवाह है कि भारत में नोकिया 6 का मूल्य रु।5,000 और रु 16,000 जबकि नोकिया 5 की लागत लगभग रू12,000। नोकिया 3, जो की सबसे सस्ता होगा की कीमत 9, 000 हो सकती है। निश्चित तौर यह कीमतें पूरी तरह से अनआँफिसियल हैं। लेकिन आज लॉन्च के साथ कुछ ही घंटों में आधिकारिक कीमतों का खुलीसा हो जाएगा।

 

नोकिया 6 की विशेषताएं

नोकिया 6, में कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास

5.5 इंच की फुल-एचडी 2.5 D स्क्रीन

फिंगरप्रिंट सेंसर शामिल है।

नोकिया 6 एंड्रॉइड 7.0 नोगाट पर चलता है

इसमें 3 जीबी रैम

स्नैपड्रैगन 430 प्रोसेसर है।

हैंडसेट 32 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज के साथ आ जाएगा, और इसे 128 जीबी तक माइक्रोएसडी कार्ड सपोर्ट करेगा

3000 एमएएच बैटरी

नोकिया 6 एक 16-मेगापिक्सेल रियर कैमरा है, जबकि फ्रंट कैमरा का रिज़ॉल्यूशन 8 मेगापिक्सेल है।

कंपनी ने नोकिया 6 आर्टे ब्लैक विशेष संस्करण मॉडल की भी घोषणा है जिसमें 64 जीबी के इंटरनल स्टोरेज के साथ, 4 जीबी रैम के साथ चमकदार ब्लैक बॉडी है।

 

 

नोकिया 5 की विशेषताएं

यह 5.2 इंच के एचडी डिस्प्ले और एंड्रॉइड 7.1.1 नोगाट के साथ आता है।

नोकिया 5 को 2 जीबी रैम

स्नैपड्रेगन 430 प्रोसेसर

16 जीबी इनबिल्ट स्टोरेज के साथ आता है। (128 जीबी तक बढा सकते हैं)

13 मेगापिक्सेल रेयरऔर 8 मेगापिक्सेल फ्रंट कैमरा।

माइक्रो-यूएसबी 2.0,पोर्ट

3000 एमएएच बैटरी,

4 जी एलटीई सपोर्ट।

 

नोकिया 3 की विशेषताएं

नोकिया 5 में 5 इंच का एचडी डिस्प्ले,

एंड्रॉइड 7.0 नोगाट,

1.3GHz क्वाड-कोर मीडियाटेक 6737 एसओसी प्रोसेसर

16 जीबी इंटरनल स्टोरेज, 128 जीबी माइक्रोएसडी

 

 

TOPS ग्रुप का होम सर्विसेज मोबाइल एप्प "CHEEP" लांच

नई दिल्ली। सिक्योरिटी सर्विस देने वाले सबसे बड़े ग्रुप, टॉप्स ग्रुप को घर-घर में पहचाना जाने वाला नाम बनाने के बाद ग्रुप चेयरमेन डॉ. दीवान राहुल नंदा ने अब कंज्यूमर-टू-कंज्यूमर क्षेत्र में कदम रखा है। उन्होंने एक ऑन-डिमांड होम सर्विसेज मार्केट प्लेस ऐप ‘चीप’ लॉन्च किया। ‘चीप’ एक ही जगह सभी समाधान उपलब्ध कराता है। यह उपभोक्ताओं और घरेलू सेवाएं देने वाले पेशेवर लोगों को एक ही तकनीक संचालित प्लेटफॉर्म पर लाता है, जिससे इस ऐप को उपयोग करने वाले एक बटन दबाकर कोई भी घरेलू सेवा प्राप्त कर सकते हैं।

 

 

‘चीप’ के संस्थापक एवं ग्रुप चेयरमेन डॉ. नंदा ने कहा कि इस ऐप का उद्देश्य आपकी ऊंगलियों के इशारे पर सही और सुरक्षित सेवाएं प्रदान करना और यह सुनिश्चित करना है कि उपभोक्ताओं को किसी भी तरह की परेशानी ना हो। चीप भारत के 7 शहरों में उपलब्ध है और मध्य-अगस्त तक हम देश के 20 शहरों में संचालन करने लगेंगे। हमारा विजन ‘चीप’ को दुनिया भर में ले जाना है।

भारत सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था ना रहा! जाने वजह

दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मोदी सरकार के एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए, अपने 3 साल के कार्यकाल पूरा कर अपने मंत्रालय की प्रमुख उपलब्धियों पर प्रकाश डाला । वित्तमंत्री ने विकास पर गतिरोध का प्रमुख कारक दुनिया भर में जारी आर्थिक मंदी को ठहराया है। उन्होंने कहा कि 7-8% विकास बहुत उचित है, उन्होंने स्पष्ट किया कि जनवरी से मार्च के तीन महीनों में जीडीपी विकास दर 6.1% की वृद्धि के लिए वैश्विक कारक जिम्मेदार हैं साथ ही कहा, मुझे विश्वास है, वर्तमान वैश्विक परिस्थिति में 7 से 8% विकास जो की भारत में सामान्य है, वह उचित वृद्धि भी है।

 

उन्होंने कहा हमें सरकार बनाने से पहले ख़राब अर्थ व्यवस्था का सामना करना पड़ा था, अर्थ व्यवस्था का ढाँचा इतना ख़राब था की विदेशी भारत में निवेश करने से कतराते थे। बुधवार को जारी जीडीपी आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी से मार्च तिमाही में विकास दर घटकर 6.1% हो गया और यह 2016-17 के दौरान तीन वर्षों में सबसे कम था।

 

चुनौतियों का जिक्र करते हुए, जेटली ने बैंकिंग क्षेत्र में खराब ऋण के मुद्दे और निजी क्षेत्र के निवेश को शुरू करने की बात कही। जेटली के मुताबिक़ जब जेटली ने 2014 में पदभार संभाला था, तो भारत सरकार को कई आर्थिक लड़ाई लड़नी थी। नीतिगत पक्षाघात से, एक वैश्विक मंदी के कारण जो कि उच्च मुद्रास्फीति के लिए देश के तट पर पहुंच गया था। उन्होंने निर्णायक नीति बनाने, काले धन पर कार्रवाई करने और सरकारी नियमों को बदलकर भ्रष्टाचार की जांच के रूप में महत्वपूर्ण पहलुओं को सूचीबद्ध किया।

 

जेटली ने कहा, नोट बंदी के बाद हम एक नया सामान्य स्थापित कर चुके हैं, नोट बंदी के बाद लोग डिजिटल ट्रांजैक्शन करने लगे हैं साथ हाई पहले के मुक़ाबले ज़्यादा कर भरने लगे है।

 

 

भारत का सफल एलईडी व्‍यवसाय मॉडल अपनाएगा ब्रिटेन

दिल्‍ली,केन्‍द्रीय विद्युत मंत्री पीयूष गोयल और ब्रिटेन के, ऊर्जा मंत्री ग्रेग क्‍लार्क ने आज साझा रूप में भारत-ब्रिटेन संवाद विकास के लिए ऊर्जा की अध्‍यक्षता की। गोयल और क्‍लार्क ने भारत की ऊर्जा क्षेत्र में ब्रिटेन की जारी वचनबद्धता का स्‍वागत किया। 4 अप्रैल, 2017 को दोनों देशों ने संयुक्‍त कोष में 120 मिलियन पाउन्‍ड के निवेश की पुष्टि की थी। इसका उद्देश्‍य 500 मिलियन पाउन्‍ड जुटाना है। यह घोषणा की गई थी कि कोष का फोकस भारत के तेजी से बढ़ रहे ऊर्जा और नवीकरणी ऊर्जा बाजार में निवेश पर होगा।

 

दोनों मंत्रियों ने एनर्जी इफिशियंसी सर्विसिज लिमिटेड के कदमों की सराहना की। ईईएसएल ने 7 मिलियन पाउन्‍ड के निवेश से ऊर्जा बचत करने वाली परियोजनाओं में संचालन शुरू किया। परियोजनाएं पिछले दो साल से अधिक समय से चल रही हैं और लाभ प्राप्‍त हो रहा है। दोनों देशों के मंत्रियों ने सफल एलईडी व्‍यवसाय मॉडल के भारत के सफल मॉडल को ब्रिटेन में उतरने में दिलचस्‍पी दिखाई।

 

भारत और ब्रिटेन ने जलवायु परिवर्तन से मुकाबले के महत्‍व को स्‍वीकार किया और विभिन्‍न स्रोतों से वित्‍त एकत्रित करने तथा जलवायु परिवर्तन के दुष्‍प्रभाव को मिटाने के महत्‍व को स्‍वीकार किया। दोनों देशों ने जी-20 ग्रीन फाइनेंस स्‍टडी ग्रुप के कार्य का स्‍वागत किया। यह ग्रुप ग्रीन फाइनेंस को प्रोत्‍साहित करता है और ग्रीन फाइनेंस के अन्‍य रूपों में ग्रीन बांड जारी करने को प्रोत्‍साहन देता है

Tagged under

फिर लौट आया नोकिया 3310 जानिए क्या हैं नये फीचर और कीमत

नोकिया ने अपने 17 साल पुराने सबसे पाॅपुलर मोबाइल को मोबाइल वर्ल्ड कांग्रेस मेंलाॅच किया है। जी हाँ  Nokia 3310 लॉन्च कर दिया गया है।इस मोबाइल का डिजाइन पहले से ज्यादा अच्छा और स्मूथ है साथ ही देखने में ज्यादा खूबसूरत है।हाँ फील औपको पुरानी वाली ही मिलेगी।Nokia 3310 चार नए कलर वैरिएंट में मिलेगा,वॉर्म रेड और यलो जिसमें ग्लॉस फिनिश है. जबकि डार्क ब्लू और ग्रे है कलर वाला हैंडसेट मैट फिनिश है।

 

ज्यादा मेमोरी

पूरी तरह से फीचर फोन में कंपनी ने वो सबकुछ है जो पुराने 3310 में था। चाहे सांप वाला गेम हो या फिर दमदार मजबूती इसकी स्क्रीन चमकदार सूरज की रौशनी में भी देखी जा सकेगी और साइज 2.4 इंच कर्व्ड है।इसकी इंटरनल मेमोरी 16GB है जिसे माइक्रो एसडी कार्ड के जरिए 32GB के बढ़ाया जा सकता है.

 NOKIA 3310 launched.jpg

बैटरी बैकअप दमदार

इस फोन को ज्यादा चार्ज करने की जरुरत नहीं होगी, क्योंकि इसका है. कंपनी का दावा है कि इस फोन में 24 घंटे का टॉक टाइम देने वाली बैटरी है जबकि महीने भर का स्टैंडबाइ बैअकप है।

 nokia-3310-new nokia.jpg

वही पुराना स्नेक गेम

कलर स्क्रीन में कलर स्नेक गेम मिलेगा। पहले वाली स्क्रीन ब्लैक थी। कलर स्क्रीन और भी बेहतर होगा। इसके अलावा इसमें नया यूजर इंटरफेस है और 2G कॉलिंग और टेक्सटिंग के कनेक्टिविटी दी गई है। इसमें एफएम रेडियो के साथ एमपी3 प्लेयर भी दिया गया है.

वही पुरानी कीमत

भारत में इसकी कीमत कितनी होगी वो फिलहाल तय नही है लेकिन अगर  49 यूरो को रुपये में तब्दील करें तो 3,448 रुपये कीमत पडती है।

सिर्फ 849 रुपये में लें हवाई यात्रा का आनंद

इंडियन एयर लाइन्स अपने घरेलू यात्रियों के लिए बंपर ऑफर लेकर आयी है। Air India यह ऑफर नये साल पर यात्रियों को लुभाने के लिए लायी है। यात्री अब एयर इंडिया के जरिए सिर्फ 849 रुपये में हवाई सफर का आनंद ले सकते हैं। इसके लिए एयर इंडिया आज से ही बुकिंग सेवा की शुरुआत कर दी है, जो इस साल के आखिरी यानी 31 दिसंबर तक चलेगा। एयर इंडिया के अलावे गो एयर 999 रुपये में औऱ एयर एशिया 917 रुपये में यह बंपर ऑफर लेकर आया है।

अगर आप देश के अंदर किसी खास जगह पर घूमने का प्लान बना रहे हैं,तो इस ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। इतना ही नहीं अगर आप देश के अंदर किसी खास जगह से होली में अपने घर आना चाहते हैं तो 31 दिसंबर तक एयर इंडिया के इस ऑफर का फायदा उठा सकते हैं। आप कम खर्च कर हवाई यात्रा के जरिये अपने घर आ सकते हैं,या फिर किसी खास जगह घूमने जा सकते हैं।

बताया जा रहा है कि इकोनॉमी क्लास में एक तरफ की यात्रा के लिए सिर्फ 849 रुपये देना होगा। 27 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच टिकट बुकिंग पर ये ऑफर मान्य होगा। साथ ही यात्रा की अवधि 15 जनवरी से 30 अप्रैल के बीच का होना जरूरी है।

भारतीय रेलवे को कार्बन रहित मिशन विद्युतीकरण रफ्तार तेज

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने भारतीय रेलवे को कार्बन रहित करने- मिशन विद्युतीकरणपर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया, जिसे एसोचैम इंडिया की साझेदारी में रेल विद्युत अभियंता संस्थान ने आयोजित किया। इस अवसर पर रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने एक मोबाइल एप रेल सेवरलांच किया। इस एप से ऊर्जा खपत में 15-20 फीसदी की कमी आने की आशा है। 

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि भारतीय रेलवे अगले कुछ वर्षों में मौजूदा 28,000 किलोमीटर के अलावा 24,000 किलोमीटर और रेल लाइनों को विद्युतीकृत करके रेलवे को और ज्‍यादा हरित बनाए जाने को लेकर आशान्‍वित है। उन्‍होंने यह भी कहा कि ऊर्जा का सबसे बड़ा उपयोगकर्ता होने के नाते भारतीय रेलवे लगभग 18 अरब विद्युत यूनिटों और तकरीबन 2.4 अरब लीटर र्इंधन ऑयल की खपत करती है, जो देश की कुल ऊर्जा खपत का लगभग 2 फीसदी है। भारतीय रेलवे की ऊर्जा मांग के वर्ष 2030 तक तिगुना हो जाने की आशा है। भारतीय रेलवे की विद्युत मांग का मौजूदा स्‍तर 49 अरब यूनिट है। रेलवे को कार्बन रहित करने से पेरिस समझौते के तहत भारत द्वारा व्‍यक्‍त की गई प्रतिबद्धता को पूरा करने में मदद मिलेगी। भारत ने पेरिस समझौते में ग्रीन हाउस गैस के उत्‍सर्जन को वर्ष 2005 के स्‍तर के मुकाबले वर्ष 2030 तक 33-35 फीसदी घटाने की प्रतिबद्धता व्‍यक्‍त की है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हरित ऊर्जा के उत्‍पादन और रेलवे के व्‍यापक विद्युतीकरण जैसे कदमों से रेलवे का स्‍वरूप काफी हद तक बदल जाएगा। विद्युतीकरण से आयातित तेल की खपत कम हो जाएगी, जिससे राजकोष पर बोझ घट जाएगा। उन्‍होंने यह भी कहा कि विद्युतीकरण की रफ्तार तेज होने से इसका र्इंधन बिल 10,000 करोड़ रुपये वार्षिक घट जाएगा। 

“उड़ान” योजना लॉन्च, 2500 रुपये में लीजिये हवाई सफर का लुफ्त

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने आज छोटे शहरों के साधारण जन की हवाई यात्रा का सपना पूरा करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। नागरिक उडड्यन मंत्री पी.अशोक गजपति राजू ने आज नई दिल्ली में मंत्रालय की बहुप्रतीक्षित क्षेत्रीय कनेक्टविटी योजना उड़ानलॉन्च की। उड़ान क्षेत्रीय उड्डयन बाजार विकसित करने के लिए एक नवाचारी योजना है। यह बाजार आधारित व्यवस्था है जिसमें एयरलाइन्स सीटों की सब्सिडी के लिए बोली लगाएंगी। यह विश्व की अपने किस्म की पहली योजना है जो क्षेत्रीय हवाई मार्गों पर किफायती और आर्थिक रूप से व्यावहारिक उड़ाने प्रस्तुत करेंगी और इससे छोटे शहरों के साधारण व्यक्ति को किफायती दर पर हवाई सेवा की सुविधा मिलेगी। इस अवसर पर राजू ने आशा व्यक्त की कि योजना के अंतर्गत अगले वर्ष जनवरी में पहली उड़ान भरी जाएगी। उड़ान योजना में सेवा रहित और क्षमता से कम सेवा वाले देश के हवाई अड्डों को वर्तमान हवाई पट्टियों तथा हवाई अड्डों का पुनर्रोद्धार कर कनेक्टविटी प्रदान करना है। यह योजना 10 वर्षों के लिए होगी। विमान से 500 किलोमीटर की एक घंटे की यात्रा तथा हैलीकॉप्टर से 30 मिनट की यात्रा के लिए किराये की सीमा 2,500 रूपये होगी।

 

विमान सेवा में चयनित एयरलाइन ऑपरेटर को न्यूनतम 9 और अधिकतम 40 उडान सीटें सब्सिडी दरों पर देनी होंगी और हैलीकॉप्टर के लिए न्यूनतम 5 और अधिकतम 13 सीटें सब्सिडी दर पर देनी होंगी। ऐसे प्रत्येक मार्ग पर विमान सेवा की गति प्रतिसप्ताह न्यूनतम 3 और अधिकतम 7 प्रस्थान सेवा होगी। आर्थिक और विमान की उपयोग क्षमता को हासिल करने के लिए योजना के तहत मार्ग नेटवर्कों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत राज्यों की एक महत्वपूर्ण भूमिका है। उड़ान योजना का संचालन जिन हवाई अड्डों से शुरू किया जाएगा उनका चयन राज्य सरकार के साथ विचार-विमर्श करके और उनकी रियायतों की पुष्टि के बाद ही किया जाएगा। 

ये हुआ कमाल, 10 साल बाद एयर इंडिया मुनाफे में

नयी दिल्ली। कई सालों के बाद भारत सरकार की एयर इंडिया को 105 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। 2014 में मोदी सरकार आने के बाद एयर इंडिया की हालत पर पहली बार चर्चा शुरु हुई सरकार ने एयर इंडिया की वित्तीय स्थिति को सुधारने के लिए काम ळुरु तो हुआ लेकिन एयरलाइन को वर्ष 2014.15 में परिचालन कार्य में 2,636 करोड़ रुपए का भारी नुकसान सहना पड़ा । 

मगर कंपनी ने पिछले वित्तीय वर्ष में दस साल में पहली बार लाभ हासिल करने में सफलता पाई है। 2015 में एयर इंडिया की आय घट कर 20,526 करोड़ रुपए रह गई जो कि एक साल पहले 20,613 करोड़ रुपए थी। यात्रीयो की संख्या में बढोतरी तथा ईंधन खर्च में कमी से इस वर्ष यह सफलता मिली।

सन 2007 के बाद वित्त वर्ष 2015-16 की वित्तीय वर्ष में 105 करोड़ रुपए का परिचालन लाभ मिला है। जो एक शुभ संकेत है।साल 2007 में घरेलू विमानन सेवा कंपनी इंडियान एयरलाइन्स को एयर इंडिया में मिलाया गया था।

बता दें कि पिछले साल इसके इर्ंधन खर्च में 31 प्रतिशत की कमी आयी  थी। इसके परिचालन लाभ में इसका बड़ा योगदान है। सूत्रों के अनुसार कंपनी ने ईंधन की दर में गिरावट का लाभ यात्रियों को भी दिया। यह तथ्य इस बात से उजागर होता है कि इस दौरान इसके टिकट औसतन 7.7 प्रतिशत सस्ते हुए हैं।

आलोच्य अवधि में इसके यात्रियों की संख्या 1.8 करोड़ रही जो एक साल पहले की तुलना में 6.6 प्रतिशत अधिक है। वर्ष 2014-15 में एयर इंडिया से कुल 1.688 करोड़ यात्रियों ने सेवा ली थी। यह एयरलाइन इस समय सरकार के सहारे चल रही है जिसमें सरकार ने इसे 30,000 करोड़ रुपए की सहायता पैकेज प्रदान की है।

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 372 अरब डॉलर के पार

एक ओर जहां भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है, वहीं दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन का विदेशी मुद्रा भंडार सितंबर महीने मे घट गया हैं। भारत का विदेशी मुद्रा भंडार बढ़कर 372 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया है। आरबीआई की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 23 सितंबर तक यह आंकड़ा 370.76 अरब डॉलर था, लेकिन 30 सितंबर तक यह 372 अरब डॉलर के स्तर पर आ गया है। सितंबर महीने के अंतिम सप्ताह के बाद विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियां 30 सितंबर तक 346.71 अरब डॉलर, सोना 21.40 अरब डॉलर, स्पेशल ड्राइंग राइट्स 1.48 अरब डॉलर और अंतरराष्ट्री य मुद्रा कोष में भंडारण 2.38 अरब डॉलर रहा है।

 

चीन के विदेशी मुद्रा भंडार लगातार तीसरे महीने में भी कम हुआ है। इससे पहले के दो महीने जुलाई और अगस्त में भी चीन को मुद्रा भंडारण में घाटा हुआ था। ये चीन के लिए बड़ा झटका माना जा रहा हैं, दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था यानी चीन से लोग तेजी से पैसा खींच रहे हैं। लगातार तीन महीनों से विदेशी मुद्रा भंडारण में घाटे का सौदा होने पर भी चीन का दुनिया में सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार हैं।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px