Log in

 

updated 9:21 AM UTC, Oct 17, 2017
Headlines:

एक और रेल हादसा-पैसेंजर ट्रेन का इंजन पटरी से उतरा

बहराइच। बहराइच रेलवे स्टेशन से नेपालगंज रोड रेलवे स्टेशन तक पैसेंजर टे्रनों का संचालन होता है। मंगलवार रात नौ बजे बहराइच रेलवे स्टेशन से नेपालगंजरोड रेलवे स्टेशन के लिए पैसेंजर ट्रेन का इंजन बदला जा रहा था। इसी दौरान पैडमैन की गलती से इंजन चार नंबर लाइन पर चली गई। चार नंबर लाइन चालू हालत में न होने के कारण इंजन पटरी से नीचे उतर गई। बड़ा हादसा होते-होते बच गया। लापरवाही की जांच रेलवे अधिकारियों ने शुरू कर दी है। वहीं दूसरे इंजन से ट्रेन को नेपालगंज के लिए रवाना किया गया।

IMG_20170927_075654.jpg

गोंडा-मैलानी प्रखंड पर बहराइच से गोंडा के मध्य आमान परिवर्तन का कार्य चल रहा है। इससे बहराइच रेलवे स्टेशन से ही नेपालगंजरोड, पीलीभीत तथा मैलानी के लिए ट्रेनों का संचालन होता है। मंगलवार रात नौ बजे नेपालगंज जाने वाली ट्रेन का इंजन बदलकर आगे के भाग में जोड़ने के लिए उसे स्टेशन पर लगाया जा रहा था। स्टेशन पर तैनात पैडमैन ने स्टेशन के चार नंबर लाइन पर इंजन ले जाने का आदेश दे दिया। इंजन चार नंबर पर जाने लगी। कुछ दूर जाते ही इंजन पटरी से नीचे उतर गई। इससे अफरा-तफरी बन गई। रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे। दूसरा इंजन मंगाकर पैसेंजर ट्रेन को रात ११ बजे नेपालगंज रेलवे स्टेशन के लिए रवाना किया गया।

IMG_20170927_075320.jpg

वहीं स्टेशन पर ट्रेन के इंतजार में घंटो बैठे यात्रियों को सुकून महसूस हुआ। रेलवे कर्मचारियों के लापरवाही की जांच रेलवे विभाग ने शुरू कर दिया है। प्रथम दृष्टया पैडमैन की लापरवाही का मामला सामने आ रहा है।

कई वर्षो से बंद है चार नंबर लाइन

 

गोंडा-मैलानी प्रखंड पर स्थित बहराइच रेलवे स्टेशन का चार नंबर लाइन लगभग पांच वर्षों से बंद है। लेकिन मंगलवार रात को इंजन बदलने के लिए पैडमैन ने चार नंबर लाइन को क्लीयर कर दिया। जिससे इंजन पटरी से उतर गई। वहीं बड़ा हादसा होते-होते बचा।

 

इस्लामिक स्टेट ने ली लंदन हमले की जिम्मेदारी

लंदन। इस्लामिक स्टेट ने ब्रिटेन ने शुक्रवार को ट्रेन में हुए बम ब्लास्ट की जिम्मेदारी ली है। जिसके बाद लंदन में खतरे के स्तर को देखते हुई सरकार ने सुरक्षा के इंतजामों के बढ़ा दिया है और सैनिकों को महत्वपूर्ण स्थलों पर तैनात किया है।इस्लामिक स्टेट के द्वारा लंदन अंडरग्राउंड ट्रेन में बम विस्फोट होने के बाद कम से कम 29 लोगों को घायल हुए थे। छह महीने में ब्रिटेन में पांचवीं बार हुए आतंकवादी हमले में ट्रेन में हुए धमाके के बाद यात्रियों को चोटें आईं।

 

दक्षिण-पश्चिम लंदन के पर्सन्स ग्रीन स्टेशन पर हुए विस्फोट के 12 घंटे बाद, प्रधान मंत्री थेरेसा ने घोषणा की कि राष्ट्रीय खतरे का स्तर "गंभीर" के रूप में उठाया जाएगा, जिसका अर्थ है कि एक अन्य हमले का खतरा भी हो सकता है।बम विस्फोट से अब तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है, लेकिन आतंकवाद विरोधी पुलिस प्रमुख मार्क रॉली ने कहा कि जांच प्रगति पर है और हम संदिग्धों का पीछा कर रहे हैं।

 

इससे पहले मई में मैनचेस्टर में एक कॉन्सर्ट में बम विस्फोट हुआ था जिसकी जिम्मेदारी आईएस ने लिया था। शुक्रवार को एक बयान में आईएस ने कहा है कि एक "टुकड़ी" ने शुक्रवार को लंदन में हमला किया था।

 

ट्विटर उपयोगकर्ता @ र्रिग्ज ने ट्रेन में एक सफेद बाल्टी के स्वाद के चित्र पोस्ट किए और वर्णित किया कि कैसे एक "आग का गोला गाड़ी में दिखा और हम खुले दरवाजे से कूद गए" एक 51 वर्षीय शिक्षक सैली फाउल्डिंग ने कहा लोग एक-दूसरे पर पड़ रहे थे भगदड मच गई थी।

 

फोरेंसिक वैज्ञानिकों द्वारा बम के अवशेषों की जांच की जा रही है।ब्रिटिश मीडिया ने बताया कि यह टाइमर था लेकिन पूरी तरह से विस्फोट करने में असफल रहा।

WhatsApp पर इस्लाम का मजाक उडाने पर पाक कोर्ट ने ईसाई व्यक्ति को दिया मृत्युदंड

लाहौर-पूर्वी पाकिस्तान के एक अदालत ने 35 वर्षीय नदीम जेम्स नाम के व्यक्ति को ईशनिंदा करने के जुर्म में मौत की सजा सुनाई है। व्यक्ति पर आरोप है कि उसने अपने व्हाट्सएप ग्रुप से पैगम्बर मोहम्मद पर हास्यास्पद सामग्री साझा की थी। यह संदेश अपने मुस्लिम दोस्त को भेजा था जिसने यह मैसेज भेजने पर उसकी शिकायत कर दी थी।मैसेज सामने आने के बाद उग्र भीड़ ने जेम्स को घेरकर मारने की कोशिश की लेकिन वो बच निकला और बाद में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।  जेम्स को जुलाई 2016 में गिरफ्तार किया गया था।

 

गौरतलब है कि ईशनिन्दा मुस्लिम बहुसंख्यक पाकिस्तान में एक आपराधिक कृत्य माना जाता है, और पैगंबर का अपमान करने पर मृत्युदंड का प्रावधान है। जेम्स के वकील वकील रियाज अंजुम का कहना है कि उनके मुवक्किल फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट में अपील करेंगे।

 

इससे पहले पिछले साल अप्रैल में पाकिस्तान भर में बड़े पैमाने पर आक्रोश था जब धर्म के बारे में एक छात्रावास के बहस के बाद छात्र मशहल खान को विश्वविद्यालय में मार डाला गया था।

 

हत्या के सिलसिले में पुलिस ने 20 से अधिक छात्रों और कुछ संकाय सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया था। तब से, संसद ने ईशनिंदा कानूनों के लिए सुरक्षा उपायों को शामिल करने पर विचार किया है।

 

एक रिसर्च के आंकड़ों के अनुसार 1990 के बाद से अब तक पाकिस्तान में ईशनिंदा करने के कथित आरोपों पर कम से कम 67 हत्याएं हो चुकी हैं। अदालत के एक अधिकारी ने बताया कि जेम्स मसीह को मृत्युदंड के साथ ही 3,00000 रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

लंदन में अंडरग्राउंड ट्रेन में धमाका कई घायल

लंदन की भूमिगत ट्रेन में शुक्रवार की सुबह पार्सन्स ग्रीन स्टेशन पर धमाका हुआ है जिससे कई यात्रियों के घायल होने की खबर है। ब्रिटिस आॅनलाइन मीडिया के अनुसार पुलिस ने पश्चिम लंदन में पार्सन्स ग्रीन स्टेशन पर हुई विस्फोट की पुष्टि कर दी है। अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और जाँच जारी है।

 

ब्रिटिश मीडिया के अनुसार पार्सन्स ग्रीन स्टेशन पर धमाके के बाद ट्रेन सर्विस को स्थगित कर दिया गया है। चश्मदीदों के अनुसार सुबह 8.20 पर धमाका हुआ जिकसे बाद ट्रेन में आग और धुआँ फैल गया किसी को कुछ समझ नही आया और लोग बदहवास इधर उधर भागने लगे। कई यात्रियों को गंभीर चोटें आई हैं। खबरों के मुताबिक धमाका ट्रेन में रखे एक कंटेनर मेंहुआ था।

धर्म वह पवित्र अनुष्ठान है जिससे चेतना का शुद्धिकरण होता - डॉ जगदीश गाँधी

लखनऊ की ऐतिहासिक धरती पर 11 सितम्बर 1893 को शिकागो में स्वामी विवेकानन्द द्वारा विश्व धर्म सभा में दिये गये ऐतिहासिक शब्द जहां सर्वधर्म सम्भाव एवं मानव कल्याण का मार्ग प्रशस्त करेंगे वहीं ष्भारत विश्व मानव कल्याण की अगुवाई भी करेगाष् साथ ही विश्व धर्म सभा में मानवता की रक्षा का जो संकल्प पारित हुआ था उस संकल्प को भी अब भारत पूर्ण करते हुए विश्व नेतृत्व करेगा। आज जहाँ विश्व की कुछ शक्तियां जातिए धर्मए भाषाए क्षेत्र पर आधारित अमानवीय सोच से ग्रस्त हैं वहीं व्यक्ति अपनी भौतिक संसाधनों की अतृप्त आकांक्षाओं से त्रस्त

है इस प्रकार सम्पूर्ण मानवता विविध दुःखों एवं समस्याओं से पीड़ित है इस समस्या की मुक्ति के लिए 11 सितम्बर 1893 को शिकागो ;अमेरिकाद्ध में विश्व धर्म सभा का आयोजन हुआ था।

 

इस विश्व धर्म सभा में महान भारतीय यशस्वी मनीषी स्वामी विवेकानन्द के विश्व प्रसिद्ध शब्द विश्व में गूंजें कि ष्ष्भारत ने संसार को सहिष्णुता तथा सभी धर्मों को मान्यता प्रदान करने की शिक्षा दी है हम लोग सब धर्मों के प्रति केवल सहिष्णुता में ही विश्वास नहीं करते वरन् समस्त धर्मों को सच्चा मानकर ग्रहण करते हैं। मुझे ऐसे देश का व्यक्ति होने का अभिमान हैए जिसने इस पृथ्वी की समस्त पीड़ित और शरणागत जातियों तथा विभिन्न धर्मों के बहिष्कृत मतावलम्बियों को आश्रय दिया।ष्ष्आज पुनः लखनऊ ;भारतद्ध की ऐतिहासिक धरती पर यह शब्द सर्वधर्म सम्भाव एवं मानव कल्याण के रूप में गूजें जिससे जहां विश्व मानव कल्याण व निःस्वार्थ सेवा का मार्ग प्रशस्त हुआ वहीं ष्ष्भारतष्ष् विश्व मानव कल्याण के लक्ष्य की पूर्ति की अगुवाई भी करेगा। कार्यक्रम के अध्यक्षता करते हुए रामकृष्ण मिशन लखनऊ के वरिष्ठ सन्यासी स्वामी धर्मग्यानन्द ने कहा कि आज विश्व को स्वामी विवेकानन्द के विचारों की बहुत जरूरत है स्वामी विवेकानन्द ने विश्व को मानवता एवं शान्ति का संदेश दिया है। मुख्य अतिथि कौशल किशोर सांसद ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द के मार्ग पर चलकर जहां हम मानवता को दुखों से मुक्त कर सकते हैं वहीं हम स्वर्णिम भारत का निर्माण कर सकते हैं स्वामी विवेकानन्द ने धर्म के नाम पर संकुचित सीमाओं से ऊपर उठकर मानवता एवं मानव कल्याण का संदेश दिया है। आज आर्थिक असमान्ता सम्पूर्ण मानवता के लिए अभिशाप है। मुख्यवक्ता डा0 जगदीश गांधी ने कहा कि धर्म केवल एक है और ईश्वर एक है धर्म के नाम पर नफरत एवं अमानवीय कृत्य मानवता के लिए अत्यन्त दुखदायी है एवं यह धर्म का रास्ता नहीं है। डॉ गाँधी ने कहा कि आज धर्म के जिस रूप को प्रचारित एवं व्याख्यायित किया जा रहा है उससे बचने की जरूरत है। मूलतः धर्म संप्रदाय नहीं है। जिंदगी में हमें जो धारण करना चाहिएए वही धर्म है। नैतिक मूल्यों का आचरण ही धर्म है। धर्म वह पवित्र अनुष्ठान है जिससे चेतना का शुद्धिकरण होता है। धर्म वह तत्व है जिसके आचरण से व्यक्ति अपने जीवन को चरितार्थ कर पाता है। यह मनुष्य में मानवीय गुणों के विकास की प्रभावना हैए सार्वभौम चेतना का सत्संकल्प है। मध्ययुग में विकसित धर्म एवं दर्शन के परम्परागत स्वरूप एवं धारणाओं के प्रति आज के व्यक्ति की आस्था कम होती जा रही है।यहाँ हिन्दू धर्म के अगणित रूपों और संप्रदायों के अतिरिक्तए बौद्धए जैनए सिक्खए इस्लामए ईसाईए यहूदी आदि धर्मों की विविधता का भी एक सांस्कृतिक समायोजन देखने को मिलता है।जो की कम होती आस्था के बीच भी हमको बचाए हुए है विशिष्ट अतिथि अभिनन्दन पाठक उर्फ नन्दन मोदी ने कहा कि आज इस विश्व धर्म संसद के माध्यम से जो संदेश मानव कल्याण का दिया जा रहा है एवं सभी धर्मों की एकता का दिया जा रहा है वह प्रशंसनीय है। महन्त स्वामी विद्या चैतन्य ने कहा कि आज सम्पूर्ण मानवता कराह रही है धर्म मार्ग से ही इसका निराकरण होगा राम कथा वाचक आनन्द महाराज ने कार्यक्रम की प्रशांसा करते हुए कहा कि आज यह विश्व धर्म संसद पूरी दुनिया के लिए मानवता का संदेश है एवं स्वामी विवेकानन्द के सपनों को साकार करने के पथ पर दूसरा कदम है। भन्ते सुमन रतन ने कहा कि अब समय आ गया है कि सभी धर्मों के अनुयायी एक होकर मानवता के पथ पर आगे बढ़े। ज्ञानी हरिवन्दर सिंह ने कहा कि सिख धर्म का कारवां सभी धर्मों के मानव कल्याण के लक्ष्य को पूर्ण करने में सदैव सहयोग करता है हम मानवता की मशाल बुझने नहीं देगें। मौलाना सुफियान निजामी ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस्लाम ने सदैव शांती व मानवता का संदेश दिया है। इंजीनियर राजेश चन्द्रा ने भगवान बुद्ध के मानवीय धम्म को विस्तृत रूप से प्रस्तुत कर मानवता का संदेश दिया। मीडिया फोटो ग्राफर क्लाब के अध्यक्ष एसण्एमण्पारी ने कहा कि मानव कल्याण का यह करवां निरंतर अपने लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है जो शीघ्र ही अपने लक्ष्य को प्राप्त करेगा। मानव कल्याण सेवा धर्म के संस्थापक एम इकबाल ने कहा कि मानवता के उत्कर्ष के महान् मकसद के लिए आपका सहयोग उल्लेखनीय है इस दिशा में आपका कदम न केवल मानवता के इतिहास को गौरवशाली बनायेगा बल्कि विश्व मानवता की एकता और अखण्डता के लिए आने वाली पीढ़ियों को मार्गदर्शक संदेश है। राष्ट्रीय किसान मंच के अध्यक्ष शेखर दीक्षितए वीरेन्द्र पाण्डेयए सरस्वती प्रसाद रावतए जगजीवन प्रसादए आर0बी0 राॅव मतलूब अहमद आदि ने सम्बोधित किया सभा में मानव कल्याण के लिए कार्य करने वालों को सम्मानित किया गया तथा विश्व धर्म संसद में मानव कल्याण का प्रस्ताव पारित किया गया। सभा का सचालन केपी चैधरी ने किया।

ब्लू हेव्ल गेम के चक्कर में किशोर ने फाँसी लगाई

उन्नाव। ब्लू ह्वेल गेम के भँवर में फसकर कल रात  एक किशोर ने फाँसी लगा ली ।वो तो गनीमत रही घर वालो की समय रहते किशोर को फाँसी के फंदे से उतार जिला अस्पताल ले गए । जहाँ उसकी जान बच गई।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार आवास विकास कालोनी के A  ब्लॉक में रहने वाला जयेन्द्र अवस्थी (17) पुत्र संतोष अवस्थी बृहस्पतिवार करीब 9 बजे अचानक कमरे का दरवाजा बंद किया और दुपट्टे से फांसी लगाकर जान देने की कोशिश की तभी पिता ने दरवाजा खटखटाया ना खुलने पर दरवाजा तोड़ दिया ! कमरे के अंदर जयेन्द्र दुपट्टे से लटक रहा था। तभी  पिता ने जल्दी से बेटे को नीचे उतारा और जिला अस्पताल ले गए।

 

जहाँ परिजनों ने घटना की वजह बताने से इंकार किया यहां इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा करने लगे। बवाल बढ़ता देख डाक्टरो ने कानपूर के लिए रेफर कर दिया । वही  इस घटना के पीछे ब्लू ह्वेल गेम की चर्चा बताई गई है।

इन 10 खूबियों के साथ 12 सितंबर को लॉन्च हो सकता है एप्पल आईफोन 8

एप्पल आईफोन 8 संभवत: 12 सितंबर को लॉन्च होगा जो आईफोन 7 एस, आईफोन 7 एस प्लस और एक सिम कार्ड सपोर्ट वाले ऐप्पल वॉच के साथ लांच किया जाएगा। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने यह पुष्टि की है।

 

अमेरिका के कारोबारी समाचार पत्र को इसके सूत्रों ने अगले आईफोन लॉन्च के बारे में बताया है रिपोर्ट में आईफोन 7 के साथ-साथ नए आईफोन 8 भी लांच होगा और अनावरण के लगभग 10 दिनों के बाद इसकी बिक्री शुरु होगी। हालांकि फ़ोन की कीमतों का खुलासा नहीं किया गया है लेकिन अफवाहों के अनुसार आईफोन 8 अब तक का सबसे महँगा आईफोन होगा।

 

आईफोन 8 संभवत: एक नए डिज़ाइन में आएगा जो पिछले माॅडल से अलग होगा जबकि आईफोन 7 एस और आईफोन 7 एस प्लस वर्तमान आईफोन 7 और आईफोन 7 प्लस का अपडेट वर्जन होगा।

 

आईफोन 8 के बारे में 10 बातें-

 

  1. ऐप्पल आईफोन 8 में गैलेक्सी एस 8 की तरह वायरलेस चार्जिंग हो सकती है।

 

  1. आईफोन 8 में एपल A 11 प्रोसेसर होगा और कम से कम 32 जीबी की इंटरनल मेमोरी होगी। 3 जीबी रैम होगा।

 

  1. एप्पल आईफोन 8 में face recognition होगा जो उपयोगकर्ता चेहरा पहचानकर उसे अनलॉक करेगा।

 

  1. आईफोन 8 के बारे में अनुमान है कि इसकी कीमत करीब 1000 डॉलर (भारत की लगभग 1 लाख रुपये) की हो सकती है।

 

  1. आईफोन 8 संभवतः एक नए डिजाइन और ग्लाॅसी लुक में आएगा जिसमें कहा जाता है कि धातु फ्रेम के साथ कांच की दो परतें सैंडविच होंगी।

 

  1. वर्तमान में, यह स्पष्ट नहीं है कि आईफोन 8 का स्क्रीन आकार कितना बड़ा होगा। हालांकि कुछ अफवाहें संकेत देती हैं कि यह 5.8 इंच की स्क्रीन हो सकती है।

 

  1. यह भी पता चला है कि आईफोन 8 में ओएलईडी पैनल है, जो वर्तमान आईफोन के एलसीडी पैनल से ज्यादा बेहतर है। ओएलईडी पैनल, सैमसंग गैलेक्सी एस 8 और गैलेक्सी नोट 8 जैसी फोनों में पहले से उपलब्ध है।

 

  1. आईफोन 8 में होम बटन बैककवर के पीछे ऐप्पल लोगो पर हो सकता है। वही दूसरी अफवाह कहती है कि यह स्क्रीन पर कांच के नीचे होगा।

 

  1. आईफोन 8 को फिर से डिज़ाइन किए गए कैमरे के साथ आने की उम्मीद है। आईफोन 7 प्लस की तरह, इसके पीछे दो कैमरे होंगे: एक रेगुलर कैमरा, और दूसरा एक पोर्ट्रेट फोटो और क्लोज़अप के लिए टेलीफ़ोटो लेंस के साथ होगा।

 

  1. एप्पल 8 में भी आईफोन 8 में बडा इमेज सेंसर हो सकता है ताकि यह Google पिक्सेल और गैलेक्सी एस 8 के कैमरे के प्रदर्शन के साथ एक बेहतर तरीके से कॅम्पटीशन कर सके, खासकर जब कम लाईट कम होती है।



बाबा राम रहीम पर सीबीआई कोर्ट के फैसले से पहले प्रशासन चुस्त

नयी दिल्ली। हरियाणा में डेरा प्रमुख के ऊपर लगे यौन शोषण के आरोपों पर 25 अगस्त को आने वाले फैसले को लेकर 2,000 से अधिक सुरक्षा कर्मियों पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों को मंगलवार को चंडीगढ में तैनात किया गया है। जिला प्रशासन ने डेरा सच्चा के खिलाफ बलात्कार के मामले में 25 अगस्त को आने वाले फैसले के मद्देनजर ये इंतजाम किए हैं जिससे फैसला डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के खिलाफ फैसला आने पर समर्थकों द्वारा प्रायोजित किसी अप्रिय घटना को रोका जा सके। इसके साथ फैसले के दिन कोर्ट के एक गेट को छोडकर सभी को बंद कर दिया जाएगा। प्रशासन ने 500 सुरक्षा कर्मियों को कोर्ट के अंदर तैनात किया है।

 

चंडीगढ़-ओल्ड पंचकुला लिंक रोड एनएच -222 सहित सभी सड़कों पर आवागमन रोक दिया गया है जो सेक्टर 1 और जिला अदालतों की ओर जाता है। मेजर संदीप शंकाल मेमोरियल पार्क के चौराहे से मुख्य सड़क, सेक्टर 1 तक, मजरी चौक से मुख्य सड़क भी बंद कर दी गई है।

 

डेरा के अनुयायियों को जिला अदालत परिसर में इकट्ठा होने से रोकने का प्रयास किया जा रहा है, जहां सीबीआई की विशेष अदालत में फैसला आना है। गुरमीत राम रहीम को इस अंतिम सुनवाई में शामिल होना है, और उनके हजारों अनुयायियों ने पहले ही पंचकुला के विभिन्न हिस्सों में एकत्र होना शुरु कर दिया है। राज्य सरकार ने पंचकुला समेत सभी जिलों में सीआरपीसी की धारा 144 लगा दी है। हथियारों और अन्य विस्फोटक वस्तुओं सहित लोगों को इकट्ठा करने पर रोक लगाई गई। पुलिस ने पेट्रोल पंप के मालिकों को भी बोतलों में पेट्रोल और डीजल नहीं बेचने के निर्देश दिए हैं।

 

3 दिनों के लिए काम बंद।

 

जिला बार एसोसिएशन, पंचकुला ने 25 अगस्त को बलात्कार मामले में फैसले को ध्यान में रखते हुए, 23 अगस्त से 25 अगस्त तक अगले तीन दिनों तक कार्य स्थगित कर दिया है। डीबीए द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि कोर्ट परिसर में कानून और व्यवस्था बनाए रखने और परिसर में फरियादियों और वकीलों को होने वाली तकलीफ को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

 

वही पंचकूला के डिप्टी कमिश्नर गौरी पराशर जोशी ने कहा, "पंजीकरण और लाइसेंसिंग प्राधिकरण समेत कुछ विभागों के कामकाज को सामान्य जनता के असुविधा को देखते हुए 25 अगस्त को बंद किया जा सकता है। इस पर एक आदेश शीघ्र ही जारी किया जाएगा। "

 

क्रिकेट स्टेडियम अस्थायी जेल

 

चंडीगढ़ में सेक्टर 16 के क्रिकेट स्टेडियम को चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा 25 अगस्त को एक अस्थायी जेल बना दिया जाेगा है। जिसमें आपात स्थिति में, डेरा के अनुयायियों को 25 अगस्त को रखा जाएगा।

 

राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार 2017 की घोषणा जानिए पुरस्कार पाने वाले खिलाडियों की पूरी लिस्ट

नयी दिल्ली। राष्‍ट्रीय खेल पुरस्‍कार प्रति वर्ष खेलों में बेहतरीन प्रदर्शन को पहचानने और सम्‍मानित करने के लिए प्रदान किया जाता है। राजीव गांधी खेल रत्‍न पुरस्‍कार चार वर्ष की अवधि में खिलाड़ी द्वारा शानदार और उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन के लिए,  अर्जुन पुरस्‍कार लगातार चार वर्ष तक बेहतरीन प्रदर्शन के लिए, द्रोणाचार्य पुरस्‍कार प्रतिष्ठित अंतर्राष्‍ट्रीय खेल स्‍पर्धाओं में पदक विजेता तैयार करने के लिए कोचों को और खेल विकास के क्षेत्र में जीवन भर योगदान देने के लिए ध्‍यानचंद पुरस्‍कार प्रदान किया जाता है।

 

इस वर्ष इन पुरस्‍कारों के लिए बड़ी संख्‍या में नामांकन प्राप्‍त हुए थे, जिन पर पूर्व ओलंपिक खिलाडि़यों, अर्जुन पुरस्‍कार प्राप्‍त खिलाडि़यों, द्रोणाचार्य पुरस्‍कार प्राप्‍त कोचों, ध्‍यानचंद पुरस्‍कार प्राप्‍त व्‍यक्तियों, खेल पत्रकारों/जानकारों/कमेंटेटरों और खेल प्रशासनिक अधिकारियों की चयन समिति ने विचार किया था। राजीव गांधी खेल रत्‍न पुरस्‍कार और अर्जुन पुरस्‍कार की चयन समिति के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति सी.के. ठक्‍कर (उच्‍चतम न्‍यायालय के पूर्व न्‍यायाधीश, हिमाचल और बाम्‍बे उच्‍च न्‍यायालय के मुख्‍य न्‍यायाधीश) थे। द्रोणाचार्य और ध्‍यानचंद पुरस्‍कारों की चयन समिति के अध्‍यक्ष श्री पुलेला गोपीचंद थे।

 

समिति की सिफारिशों के आधार पर और उचित जांच के बाद सरकार ने निम्‍नलिखित खिलाडि़यों/कोचों/संगठनों को पुरस्‍कार प्रदान करने का निर्णय लिया है:-

 

(i)         राजीव गांधी खेल रत्‍न 2017

 

क्रं.सं.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल विधा

1.

श्री देवेन्‍द्र

पैरा एथलिट

2.

श्री सरदार सिंह

हॉकी

 

(ii)        द्रोणाचार्य पुरस्‍कार 2017

 

क्रं.सं.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल विधा

1.       

स्‍वर्गीय डॉ. आर. गांधी

एथलेटिक्‍स

2.       

श्री हीरा नंद कटारिया

कबड्डी

3.       

श्री जी.एस.एस.वी प्रसाद

बैडमिंटन (लाइफ टाइम)

4.       

श्री ब्रिज भूषण मोहंती

बॉक्सिंग (लाइफ टाइम)

5.       

श्री पी.ए. राफेल

हॉकी (लाइफ टाइम)

6.       

श्री संजॉय चक्रवर्ती

निशानेबाजी (लाइफ टाइम)

7.       

श्री रोशन लाल

कुश्‍ती (लाइफ टाइम)

 

(iii)       अर्जुन पुरस्‍कार 2017

 

क्रं.सं.

पुरस्‍कृत का नाम

खेल विधा

1.

सुश्री वी.जे. सुरेखा

तीरंदाजी

2.

सुश्री खुशबीर कौर

एथलेटिक्‍स

3.

श्री अरोकिया राजीव

एथलेटिक्‍स

4.

सुश्री प्रशांति सिंह

बास्‍केट बॉल

5.

सूबेदार लैशराम दे‍बेन्‍द्रो सिंह

मुक्‍केबाजी

6.

श्री चेतेश्‍वर पुजारा

क्रिकेट

7.

सुश्री हरमनप्रीत कौर

क्रिकेट

8.

सुश्री ओइनम बेम्‍बम देवी

फूटबॉल

9.

श्री एस.एस.पी. चौरसिया

गोल्‍फ

10.

श्री एस.वी. सुनील

हॉकी

11.

श्री जसवीर सिंह

कबड्डी

12.

श्री पी.एन. प्रकाश

निशानेबाजी

13.

श्री ए. अमलराज

टेबल टेनिस

14.

श्री साकेतमिनेनी

टेनिस

15.

श्री सत्‍यवर्त कादियान

कुश्‍ती

16.

श्री मरियप्‍पन

पैरा-एथलिट

17.

श्री वरुण सिंह भाटी

पैरा-एथलिट

 

 

(iv)       ध्‍यान चंद पुरस्‍कार

 

क्रं.सं.

नाम (श्री/सुश्री)

खेल विधा

1 .

श्री भूपेन्‍द्र सिंह

एथलेटिक्‍स

2.

श्री सैयद शाहिद हकीम

फूटबॉल

3.

सुश्री सुमाराई टेटे

हॉकी

 

29 अगस्‍त, 2017 को राष्‍ट्रपति भवन में आयोजित होने वाले विशेष कार्यक्रम में राष्‍ट्रपति पुरस्‍कृत खिलाडि़यों और व्‍यक्तियों को ये पुरस्‍कार प्रदान करेंगे।

 

राजीव गांधी खेल रत्‍न से सम्‍मानित खिलाडि़यों को पदक और अलंकरण के अलावा 7.5-7.5 लाख रुपये के नकद पुरस्‍कार से नवाजा जाएगा। अर्जुन, द्रोणाचार्य और ध्‍यान चंद पुरस्‍कार से सम्‍मानित प्रत्‍येक खिलाड़ी/व्‍यक्ति को प्रतिमा, प्रमाण पत्र और 5-5 लाख रुपये नकद पुरस्‍कार प्रदान किये जाएंगे।



“छोटे लोहिया“ पर ई-बुक का विमोचन में बोले शिवपाल-समाजवाद की वैचारिक ताकत थे जनेश्वर

महान समाजवादी चिन्तक व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राममनोहर लोहिया के अनन्य अनुयायी जनेश्वर मिश्र की जयंती की पूर्व संध्या के उपलक्ष्य में वरिष्ठ समाजवादी नेता शिवपाल सिंह यादव ने “छोटे लोहिया“ के व्यक्तित्व व कृतित्व पर केन्द्रित ई-बुक http://www.janeshwarji.in का विमोचन किया। इस अवसर पर आयोजित परिचर्चा को संबोधित करते हुए श्री यादव ने जनेश्वर मिश्र को याद करते हुए कहा कि जनेश्वर मिश्र आचार्य नरेन्द्रदेव-डा० लोहिया व लोकनायक जयप्रकाश की समाजवादी विचारधारा के युगप्रवर्तक थे। उनके अनुसार गरीबों के आँसू पोंछना ही समाजवाद है।

 

जनेश्वर जी की कमी धन-दौलत व सुविधाओं के पीछे नहीं भागे। वे संसद व राजपथ पर आम जनता के दुःख-दर्द-दंश व चुभन की सशक्त आवाज थे। वे नई पीढ़ी के राजनीतिक कार्यकर्ताओं के पठन-पाठन व अध्ययन-चिन्तन पर काफी जोर देते थे। उनके महाप्रयाण के बाद समाजवादी आन्दोलन की वैचारिक ताकत काफी के बाद समाजवादी आन्दोलन की वैचारिक ताकत काफी कमजोर हुई। उन्होंने पहले डा० लोहिया फिर जयप्रकाश नारायण तत्पश्चात् लोकबन्धु राजनारायण एवं मुलायम सिंह यादव के साथ मिलकर समाजवाद व लोकतंत्र को मजबूत करते रहे। श्री यादव ने कहा कि छोटे लोहिया से नई पीढ़ी विशेषकर युवा समाजवादियों को सैद्धान्तिक प्रतिबद्धता की सीख लेना चाहिए। वे मुलायम सिंह के साथ “कवच“ की भाँति रहे। छोटे लोहिया पर ई-बुक से जनेश्वर जी के बहाने नई पीढ़ी भारत के गौरवशाली इतिहास से अवगत होगी। जनेश्वर जी जीवनपर्यन्त समाजवादियों की एका के लिए प्रयत्नशील रहे। समाजवादी विचारधारा को निरन्तर मजबूती प्रदान करना ही छोटे लोहिया को दी गई हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

 

समाजवादी चिन्तक व चिन्तन सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र ने कहा कि जनेश्वर जी समाजवादियों में घटती वैचारिक अभिरूचि पर काफी चिन्तित रहा करते थे। वे चाहते थे कि राजनीतिक शिक्षण-प्रशिक्षण से निकले युवा आगे आयें और समाज व राजनीति में व्याप्त विकृतियों को दूर करें। चिन्तन सभा लोहिया-स्मृति दिवस (12 अक्टूबर) से विचारशालाओं की श्रृंखला चलायेगी।

श्री मिश्र ने कहा कि छोटे लोहिया समाजवादी विचारधारा  व चिन्तन को जहाँ छोड़ गए थे, उससे आगे बढ़ाना व गुणातमक ताकत देना हमारा नैतिक दायित्व है। श्री मिश्र ने कहा कि ई-बुक का प्राक्कथन जनेश्वर जी के शिष्य शिवपाल सिंह यादव ने लिखा है। इसमें सर्वश्री मुलायम सिंह यादव, बृजभूषण तिवारी, मोहन सिंह, न्यायमूर्ति राजेन्द्र सच्चर, प्रो० सत्यमित्र दूबे, राजीव राय, अंजना गुप्ता के लेख हैं। वरिष्ठ समाजवादी नेता मोहम्मद शाहिद ने कहा कि छोटे लोहिया के जीवन-दर्शन से सेकुलरिज़्म की सीख मिलती है। उन्होंने युवाओं को बड़ी संख्या में समाजवाद व समभाव से जोड़ा।

 

परिचर्चा में प्रख्यात इतिहासकार डा० पंकज कुमार, अम्बेडकर सभा के अध्यक्ष डा० लालजी निर्मल, अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष फरहत हसन (फरहत मियाँ), मजदूर नेता आर०बी० शुक्ला, प्रभानंद यादव, अग्रवाल सभा के अध्यक्ष राजेश अग्रवाल, युवा नेता राजीव गुप्ता, देवी प्रसाद यादव, राकेश यादव दंत-चिकित्सक डा० सुनील, हर्षवर्धन, वरिष्ठ नेता रघुनन्दन काका, श्यामदेव यादव, अमरेश प्रताप सिंह, लैकफेड के चेयरमेन कुंवर वीरेन्द्र सिंह समेत कई युवा सामाजिक व राजनीतिक कार्यकर्ता मौजूद थे।

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px