Log in

 

updated 1:03 PM UTC, Aug 18, 2017
Headlines:

“छोटे लोहिया“ पर ई-बुक का विमोचन में बोले शिवपाल-समाजवाद की वैचारिक ताकत थे जनेश्वर

महान समाजवादी चिन्तक व स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राममनोहर लोहिया के अनन्य अनुयायी जनेश्वर मिश्र की जयंती की पूर्व संध्या के उपलक्ष्य में वरिष्ठ समाजवादी नेता शिवपाल सिंह यादव ने “छोटे लोहिया“ के व्यक्तित्व व कृतित्व पर केन्द्रित ई-बुक http://www.janeshwarji.in का विमोचन किया। इस अवसर पर आयोजित परिचर्चा को संबोधित करते हुए श्री यादव ने जनेश्वर मिश्र को याद करते हुए कहा कि जनेश्वर मिश्र आचार्य नरेन्द्रदेव-डा० लोहिया व लोकनायक जयप्रकाश की समाजवादी विचारधारा के युगप्रवर्तक थे। उनके अनुसार गरीबों के आँसू पोंछना ही समाजवाद है।

 

जनेश्वर जी की कमी धन-दौलत व सुविधाओं के पीछे नहीं भागे। वे संसद व राजपथ पर आम जनता के दुःख-दर्द-दंश व चुभन की सशक्त आवाज थे। वे नई पीढ़ी के राजनीतिक कार्यकर्ताओं के पठन-पाठन व अध्ययन-चिन्तन पर काफी जोर देते थे। उनके महाप्रयाण के बाद समाजवादी आन्दोलन की वैचारिक ताकत काफी के बाद समाजवादी आन्दोलन की वैचारिक ताकत काफी कमजोर हुई। उन्होंने पहले डा० लोहिया फिर जयप्रकाश नारायण तत्पश्चात् लोकबन्धु राजनारायण एवं मुलायम सिंह यादव के साथ मिलकर समाजवाद व लोकतंत्र को मजबूत करते रहे। श्री यादव ने कहा कि छोटे लोहिया से नई पीढ़ी विशेषकर युवा समाजवादियों को सैद्धान्तिक प्रतिबद्धता की सीख लेना चाहिए। वे मुलायम सिंह के साथ “कवच“ की भाँति रहे। छोटे लोहिया पर ई-बुक से जनेश्वर जी के बहाने नई पीढ़ी भारत के गौरवशाली इतिहास से अवगत होगी। जनेश्वर जी जीवनपर्यन्त समाजवादियों की एका के लिए प्रयत्नशील रहे। समाजवादी विचारधारा को निरन्तर मजबूती प्रदान करना ही छोटे लोहिया को दी गई हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

 

समाजवादी चिन्तक व चिन्तन सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र ने कहा कि जनेश्वर जी समाजवादियों में घटती वैचारिक अभिरूचि पर काफी चिन्तित रहा करते थे। वे चाहते थे कि राजनीतिक शिक्षण-प्रशिक्षण से निकले युवा आगे आयें और समाज व राजनीति में व्याप्त विकृतियों को दूर करें। चिन्तन सभा लोहिया-स्मृति दिवस (12 अक्टूबर) से विचारशालाओं की श्रृंखला चलायेगी।

श्री मिश्र ने कहा कि छोटे लोहिया समाजवादी विचारधारा  व चिन्तन को जहाँ छोड़ गए थे, उससे आगे बढ़ाना व गुणातमक ताकत देना हमारा नैतिक दायित्व है। श्री मिश्र ने कहा कि ई-बुक का प्राक्कथन जनेश्वर जी के शिष्य शिवपाल सिंह यादव ने लिखा है। इसमें सर्वश्री मुलायम सिंह यादव, बृजभूषण तिवारी, मोहन सिंह, न्यायमूर्ति राजेन्द्र सच्चर, प्रो० सत्यमित्र दूबे, राजीव राय, अंजना गुप्ता के लेख हैं। वरिष्ठ समाजवादी नेता मोहम्मद शाहिद ने कहा कि छोटे लोहिया के जीवन-दर्शन से सेकुलरिज़्म की सीख मिलती है। उन्होंने युवाओं को बड़ी संख्या में समाजवाद व समभाव से जोड़ा।

 

परिचर्चा में प्रख्यात इतिहासकार डा० पंकज कुमार, अम्बेडकर सभा के अध्यक्ष डा० लालजी निर्मल, अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष फरहत हसन (फरहत मियाँ), मजदूर नेता आर०बी० शुक्ला, प्रभानंद यादव, अग्रवाल सभा के अध्यक्ष राजेश अग्रवाल, युवा नेता राजीव गुप्ता, देवी प्रसाद यादव, राकेश यादव दंत-चिकित्सक डा० सुनील, हर्षवर्धन, वरिष्ठ नेता रघुनन्दन काका, श्यामदेव यादव, अमरेश प्रताप सिंह, लैकफेड के चेयरमेन कुंवर वीरेन्द्र सिंह समेत कई युवा सामाजिक व राजनीतिक कार्यकर्ता मौजूद थे।

4 महीने की योगी सरकार ने इतनी बडी संख्या में किया पुलिसवालों को सस्पेंड, जानकर हैरान होंगे आप

लखनऊ। योगी सरकार आने के बाद जहाँ अपराधियों पर नकेल कसी जा रही है वहीं भ्रष्टाचार और घूसखोरी, लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मियों पर भी कारवाई की जा रही है योगी सरकार इन्हे भी नही बख्श रही है। योगी सरकार के 4 महीनों की सरकार में अब तक 511 कर्मियों पर कार्यवाई कर दी गी है।

 

शास्त्री भवन में आयोजित एक बैठक के दौरान प्रमुख सचिव गृह तथा पुलिस महानिदेशक द्वारा यह जानकारी साझा की गई। उन्होंने बताया कि यू०पी०-100 सेवा के तहत वाहनों पर नियुक्त पुलिस कर्मियों द्वारा भ्रष्टाचार, लापरवाही, कदाचार एवं अनुशासनहीनता के लिए उनके विरुद्ध की गयी,उन्होंने बताया कि ऐसे कार्मिकों के खिलाफ निलम्बन, पदच्युत करना, लघुदण्ड, दीर्घदण्ड तथा गिरफ्तारी की कार्रवाई की गयी। उन्होंने कहा कि 31 जुलाई, 2017 तक यू०पी०-100 के भ्रष्टाचार में लिप्त 252 कार्मिक निलम्बित किये जा चुके हैं, जबकि 2 कार्मिक नौकरी से निकाले जा चुके हैं। इसके अलावा, 240 कार्मिकों को लघुदण्ड जबकि 10 कार्मिकों को दीर्घदण्ड दिया जा चुका है। इसके अलावा, 7 कार्मिक गिरफ्तार किये जा चुके हैं। इस प्रकार कुल 511 कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है।

 

बैठक में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए मौजूद योगी जी ने कहा कि ‘यू०पी०-100’ परियोजना को और अधिक प्रभावी बनाया जाए। मामलों में भेदभाव के बिना निष्पक्ष कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। साथ ही, पुलिस और जनता के बीच बेहतर सामंजस्य सुनिश्चित किया जाए। यातायात व्यवस्था दुरुस्त की जाए और लोगों को हेल्मेट लगाने, सीट बेल्ट बांधने के लिए प्रेरित किया जाए। साथ ही, चार-पहिया वाहनों में काली, रंगीन फिल्म, लाल-नीली बत्ती, हूटर इत्यादि का उपयोग रोकने से सम्बन्धित नियम सख्ती से लागू किये जाएं। उन्होंने साम्प्रदायिक सद्भाव बनाये रखने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिये।

लंदन में इंक्रेडिबल इंडिया स्टार ऑफ मिलेनियम अवार्ड से सम्मानित हुए मनोज तिवारी

लंदन। मॉरिशस और दुबई के बाद लंदन के इंडिडो 2 में आयोजित हुई भोजपुरी के अंतरराष्ट्रीय फिल्म अवार्ड समारोह (आइबीफा) भोजपुरी सितारों का जलवा दिखा।यशी फिल्मस् और ढिशुम टीवी चैनेल द्वारा आयोजित आईबीफा भोजपुरी फिल्म अवार्ड समारोह में भोजपुरी सितारों ने लंदन में जलवा बिखेरा।इस समारोह की शान रहे भोजपुरी के मेगास्टार और दिल्ली के भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व सांसद मनोज तिवारी। मनोज तिवारी को इंक्रेडिबल इंडिया स्टार ऑफ मिलेनियम अवार्ड से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही रवि किशन को आईबीफा क्रीटिक्स अवार्ड से सम्मानित किया गया। पवन सिंह को बेस्ट एक्टर तथा मधु शर्मा को बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड ,बेस्ट फिल्म का अवार्ड आशिक आवारा को मिला।

 

इस  तीसरे अंतर्राष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवार्ड समारोह में भोजपुरी फिल्म स्टार्स के अलावा सीबीआई के पूर्व निदेशक रंजीत सिंहा  बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा और लंदन के भारतीय उच्चायुक्त यश सिन्हा कार्यक्रम में मौजूद रहे।मुंबई भाजपा के  महामंत्री अमरजीत मिश्रा  भी कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में मौजूद थे। इसके साथ ही आईबीफा 2018 मलेशिया में आयोजित करने की घोषणा की गयी।

ibfa-2017 london.jpg

लंदन में पहली बार इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवार्ड समारोह (आईबीएफए) अपने आप में ऐतिहासिक और धमाकेदार रहा। बिहारी बाबू शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने सम्बोधन में भोजपुरी समाज के लिए महत्वपूर्ण संदेश में 'भोजपुरी को आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग की और आशा व्यक्त की  कि सरकार जल्द ही  भोजपुरी को आठवीं अनुसूचि में शामिल कर देगी।

 

 

अवार्ड समारोह में हिन्दी और भोजपुरी सिनेमा के कलाकारों में रवि किशन,शत्रुध्न सिन्हा, गोविन्दा, मनोज तिवारी, रविकिशन, दिनेश लाल यादव निरहुआ, मालिनी अवस्थी, पवन सिंह, समीर अफताब और नायिकाओं में मधु शर्मा, दिव्या देशाई, पाखी हेगड़े, आम्रपाली दुबे, संभावना सेठ, अक्षरा सिंह, शिविका दीवान, अंजना सिंह और आइटम क्वीन सीमा सिंह आदि ने अपने नाच-गाने और अभिनय से यूके वासियों का दिल जीत लिया।

प्रभु की रेल: अयोध्या से रामेश्वरम तक जल्द शुरू होगी ट्रेन

फैजाबाद: अयोध्या से रामेश्वरम तक की ट्रेन यात्रा का सपना जल्द पुरा होने वाला है। अगर सब कुछ ऐसे ही ठीकठाक  रहा तो 6 अगस्त से अयोध्या से रामेश्वरम तक ट्रेन की शुरुआत हो जाएगी। खुद रेल मंत्री सुरेश प्रभु इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएगें। इसको लेकर सांसद लल्लू सिंह ने रेलमंत्री सुरेश प्रभु से मुलाकात की और अयोध्या से रामेश्वरम तक ट्रेन शुरू करने का भरोसा दिलाया था जो अब साकार होता नजर आ रहा है और साथ ही यह आश्वासन भी दिया था कि वह स्वयं इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे।

 

सांसद लल्लू सिंह ने रेलमंत्री को दिए पत्र में कहा था कि दक्षिण भारत से प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु अयोध्या आते हैं। सीधी ट्रेन नहीं होने से दक्षिण भारत से आने वाले श्रद्धालुओं को खासी समस्या का सामना करना पड़ता है। इसलिए रामेश्वरम तक की ट्रेन चलाई जानी चाहिए। जो अब चलने जा रही है यह ट्रेन रामेश्वरम से रविवार को चलेगी व बुधवार को अयोध्या पहुंचेगी। इसमे रेल प्रबंधन ने कुल 18 ठहराव बनाए है।

 

43 की उम्र में एक्टर इंदर कुमार का निधन, ये है मौत कि वजह

मुंबई: सलमान खान और अक्षय कुमार के को स्टार रहे एक्टर इंदर कुमार का आज सुबह निधन हो गया। 'वॉन्टेड' 'तुमको न भूल पाएंगे' और खिलाडी जैसी फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं। इंदर ने शुक्रवार सुबह अपनी आखिरी सांस ली।

इंदर कुमार केवल 43 साल के थे। बता दें कि आज सुबह इंदर कुमार को मुंबई में स्थित उनके घर में बेहोशी की हालत में पाया गया जिसके बाद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। कहा जा रहा है कि उनकी मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई। आज शाम 4 बजे मुंबई में ही इंदर कुमार का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

 

प्रणब मुखर्जी की विदाई में शानदार भोज, नीतीश कुमार भी होंगे शामिल

 राकिब हुसैन/दिल्ली: भारत के 13वें राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की विदाई के मौके पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक शाही डिनर का आयोजन किया गया है। जिसमे विहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार को निमंत्रण मिला है। यह सम्मान पूर्व राष्ट्रपति के विदाई के अवसर पर पीएम मोदी के द्वारा रखा गया है। भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की विदाई के उपलक्ष्य में आयोजित डिनर में नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद समेत एनडीए के सहयोगी दलों के कई बडें नेता भी शामिल रहेंगे।

 

आज विहार के मुख्यमंत्री चार दिन के लिए दिल्ली रवाना हो गहे है, ऐसा दूसरी बार होगा जब मोदी और नीतिश आमने-सामने होगें। दिल्ली के हैदराबाद हाउस में आयोजित डिनर में नीतीश आज यानि शनिवार को शिरकत करने वाले है। विपक्ष की ओर से नीतिश कुमार इकलोते नेता जो इस विदाई भोजन मे शामिल होगें। इसके बाद 25 जुलाई को होने वाली राम नाथ कोविंद के सपथ ग्रहण मे भी आमंत्रित है। बताया जा रहा है कि नीतिश कुमार कांग्रस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मिल सकते है और पार्टी के बीच चल रही महागठबंधन को लेकर चर्चा हो सकती है।

 

महामहिम रामनाथ: देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में 25 जुलाई को लेंगे सपथ विपक्ष को दी करारी मात

नई दिल्ली: देश के 14वें राष्‍ट्रपति के तौर पर एनडीए के रामनाथ कोविंद का नाम तय हो गया है। गुरुवार सुबह 11 बजे से संसद भवन में चल रही मतगणना में उन्‍हें 65% फीसदी से ज्‍यादा वोट मिले हैं। अब से कुछ देर बाद रामनाथ कोविंद के देश के राष्‍ट्रपति बनने का औपचारिक ऐलान कर दिया जाएगा। लोकसभा के जनरल सेक्रेटरी इसका ऐलान करेंगे और उन्‍हें प्रमाणपत्र प्रदान करेंगे।

 

परौंख से राष्ट्रपति भवन तक’ ऐसा रहा कोविंद का सफ़र

  • राम नाथ कोविंद का जन्म 01 अक्टूबर 1945 को यूपी के कानपुर देहात के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था।

  • कानपुर यूनिवर्सिटी छत्रपति साहू जी महाराज विश्वविद्यालय से बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है।

  • इनका विवाह 30 मई 1974 को सविता कोविंद के साथ हुआ था। इन दोनों के एक बेटा और एक बेटी है। बेटे का नाम प्रशांत और बेटी का नाम स्वाति है।

  • राम नाथ कोविंद पेशे से वकील रहे हैं और दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत की प्रेक्टिस भी कर चुके हैं।

  • राम नाथ कोविंद नें दिल्ली हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में 16 साल तक प्रेक्टिस की।

  • 1977 से 1979 तक केंद्र सरकार के वकील रहे थे।

  • वकील रहने के दौरान कोविंद ने गरीब दलितों के लिए मुफ़्त में क़ानूनी लड़ाई लड़ी।

  • 1980 से 1993 तक केंद्र सरकार के स्टैंडिग काउंसिल में रहे हैं।

  • आदिवासी, होम अफ़ेयर, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, सामाजिक न्याय, क़ानून न्याय व्यवस्था और राज्यसभा हाउस कमेटी के भी चेयरमैन रहे हैं।

  • कोविंद गवरनर्स ऑफ इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के भी सदस्य रहे हैं। 2002 में कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र के महासभा को भी संबोधित किया था।

 

  • 08 अगस्त 2015 को इन्हें बिहार के राज्यपाल पद पर नियुक्त किया गया था।

  • इससे पहले वो दो बार राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। यूपी से 1994 से 2000 और फिर 2000 से 2006 तक राज्यसभा सांसद रहे हैं।

  • 1998 से 2002 तक कोविंद बीजेपी के दलित मोर्चा और ऑल इंडिया कोली समाज के अध्यक्ष रह चुके हैं।

  • इसके अलावा वो बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी रह चुके हैं।

  • 25 जुलाई को 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेंगे।

राष्ट्रपति चुनाव live: रामनाथ कोविंद आंकड़ों में काफी आगे, ऐसे हो रही वोटों की गिनती

नई दिल्ली: देश के 14वें राष्‍ट्रपति के नाम का ऐलान आज शाम 5 बजे तक हो जाएगा। सुबह 11 बजे से मतगणना शुरू हो चुकी है, जो कि शाम तक पूरी हो जाएगी शाम पांच बजे तक परिणाम अा जाएगा। इसके साथ ही देश को नया राष्ट्रपति मिल जाएगा। राज्यों से आने वाले सभी बैलेट बॉक्स संसद भवन मंगलवार को ही पहुंच गए थे। वोटों की गिनती में पहले लोकसभा और राज्यसभा के सांसदों के वोट गिनती हो रही है। इसके बाद राज्यवार विधायकों के वोट की गिनती की जाएगी। सियासी समीकरण ही नहीं आंकड़ों में काफी आगे होने की वजह से एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का अगला राष्ट्रपति चुना जाना तय है। हालांकि संख्‍याबल के हिसाब से सत्‍तारूढ़ गठबंधन के राम नाथ कोविंद को विपक्ष की मीरा कुमार पर भारी माना जा रहा है। वोटिंग की गिनती खत्म होने के साथ ही कोविंद को निर्वाचित राष्ट्रपति का सर्टिफिकेट प्रदान कर दिया जाएगा।

ऐसे होगी वोटों की गिनती

  • सबसे पहले संसद भवन की मतपेटी खोली जाएगी और फिर राज्यों से आई मतपेटियों को वर्णमाला के आधार पर खोला जाएगा।

  • वोटों की गिनती चार अलग- अलग मेजों की जाएगी, यानी चार जगह पर एक साथ वोटों की गिनती होगी।

  • राष्‍ट्रपति चुनाव की मतगणना आठ चरणों में की जाएगी, इसके लिए कुल साढ़े दस लाख वोट हैं।

  • राष्ट्रपति चुने जाने के लिए कुल वोटों के आधे से एक वोट अधिक हासिल करना ज़रूरी है। यानी इस चुनाव में सबसे ज्यादा वोट हासिल करने से ही जीत तय नहीं होती है। राष्‍ट्रपति वहीं बनता है, जो सांसदों और विधायकों के वोटों के कुल वेटेज का आधा से ज्यादा हिस्सा हासिल करे।

  • इस समय राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए कुल वेटेज 10,98,882 है। यानी जीत के लिए उम्‍मीदवार को 5,49,442 वोट हासिल करने होंगे।

 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक वोटों की गिनती आठ राउंड में पूरी की जाएगी। हर राउंड की गिनती खत्म होने के बाद राष्ट्रपति चुनाव के दोनों उम्मीदवारों रामनाथ कोविंद और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को मिलने वाले वोटों का आंकड़ा जारी किया जाएगा। मतगणना की तैयारियों के आधार पर अनुमान है कि शाम 5 बजे तक राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे का एलान हो जाएगा। इस एलान के साथ ही एनडीए प्रत्याशी कोविंद को निर्वाचित राष्ट्रपति का दर्जा मिल जाएगा।

बंद होने जा रही ये सरकारी बैंक आपके लिए जानना बहुत जरुरी

नई दिल्ली: अगर आपका खाता सरकारी बैंक में है तो यह खबर जानना आपके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि देश कि मोदी सरकार बड़े पैमाने पर वैश्विक आकार के 3-4 बैंक खोलने कि तैयारी में है। जिसके लिए सरकार स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की तरह ही कई और सरकारी बैंकों का विलय करने की योजना बना रही है।

 

केंद्र सरकार सरकारी स्वामित्व वाले बैंकों की संख्‍या को 21 से घटाकर करीब 10 से 12 करना चाहती है। सरकार बैंकों के विलय पर काम कर रही है। इस विलय की दिशा में काम कर रही है। हालांकि इसमें अभी कुछ सालों का वक्त लगने वाला है। सरकार की योजना के मुताबिक आने वाले कुछ सालों में सरकार सरकारी बैंकों की संख्या को 21 से घटाकर 10 से 12 तक लाने की योजना बना रही है।

 

सरकार चाहती है कि पूरे देश में एसबीआई की तरह कम से कम 3-4 बैंक हों।

अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमला- RAW आईबी सहित गृहमंत्री की आपातकालीन बैठक

राकिब हुसैन/जम्मू: जम्मू और कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार रात अमरनाथ यात्रिंयों पर आतंकवादी हमला हुआ जिसमे 7 यात्री मारे गए और तकरीबन 20 लोगो की घायाल होने की आशंका जताई जा रही है। हमले के बाद जम्मू के आस-पास के इलाकों की सुरक्षा बड़ा दी गई है पुलिस के साथ-साथ सेना के जवान और सीआरपीएफ को तैनात कर दिया गया है।

 

दरअसल सोमवार रात अमरनाथ जा रही बस पर अचानक आतंकी हमला हुआ। जिसमे 7 लोग मारे गए और लगभग 20 अन्य लोगो की घायाल होने की आशंका जताई जा रही है। एक चश्मदीद के अनुसार सभी लोग सो रहे थे, अचानक से गोलियाँ चलने की आवाज़ आई। मीडिया रिर्पोट के मुताबिक आईबी ने कहा है कि इस घटना को 4 लोगो ने अंजाम दिया है।

 

गृह मंत्री की आपतकालीन बैठक

 

गृह मंत्री राजनाथ सिहं ने इस हमले की कडी निंदा की है, और मंगलवार सुबह गृह मंत्रालय के अधिकारियों की आपतकालीन बैठक बुलाई जिसकी अध्यक्षता अजीत डोभाल करेंगे। इस अहम बैठक मे एनएसए, सीआरपीएफ, आईबी और RAW के सुरक्षा एजेंसियों के प्रमुख पहुँच गए है। बैठक मे सुरक्षा के इंतजामोंं की फिर से समीक्षा की जाएगी।

 

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px