Log in

 

updated 1:07 PM UTC, Jan 21, 2017
Headlines:

दूध में मक्खी की तरह फेंके गए वरुण गाँधी,स्टार प्रचारक लिस्ट से नाम गायब

नयी दिल्ली,बीजेपी केन्द्रीय कार्यालय ने जो लिस्ट चुनाव आयोग को सौंपी है उस लिस्ट में सुल्तानपुर के सांसद और बीजेपी सरकार में कैबिनेट मंत्री मेनका गाँधी के पुत्र और फायरब्रांड नेता वरुण गाँधी का नाम नही है।आखिर तेजी से युवाओं के दिलों पर राज करने वाले वरुण गाँधी को बीजेपी का केन्द्रीय नेतृत्व ने क्यों किनारे कर रहा है ? इससे पहले भी वरुण गाँधी का सोशल मीडिया में किसी महिला के साथ अंतरंग होते हुए फोटो लीक कर दिया गय़ा था राजनैतिक गलियारों में यह भी चर्चा हुई की य सब बीजेपी के ही द्वारा लीक की गई। आखिर वरुण गाँधी का दुश्मन कौन है? कौन है जो वरुण गाँधी को बीजेपी में आगे नही बढने देना चाह रहा।

bjp star compaigner lis up election 2017.jpg

बीजेपी की स्टार कंपेनर लिस्ट से वरुण का नाम गायब होने के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म है। लोगों का कहना है कि अगर बसपा से आए स्वामी प्रसाद मौर्य स्टार प्रचारक हो सकते हैं तो वरुण क्यों नही..?

 

वरुण ही नही विनय कटियार को भी इस लिस्ट से गायब कर दिया गया है।

  • 0
  • वॉशिंगटन, टीवी स्टार और अरबपति बिजनेसमैन और रिपब्लिकल नेता डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार की रात (भारतीय समयानुसार) अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। और ह्वाईट हाऊस से ओबामा को बिदाई दी। उद्घाटन भाषण में अमेरिकी के नये राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकियों से वादा किया कि वो अमेरिका फर्स्ट की अपनी पाॅलिसी के तहत काम करेंगे सात ही वह वॉशिंगटन डीसी से ताकत लेकर जनता को सौंप रहे हैं।

  • उन्होंने कहा कि कभी अनदेखी नहीं की जाएगी। हालांकि डोनल्ड ट्रंप के शपथ ग्रहण के समारोह में देश भर से लाखों लोग वॉशिंगटन पहुंच लेकिन विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के 60 सदस्यों ने समारोह में आने से इंकार कर दिया। हिलेरी क्लिंटन समारोह में शामिल हुईं।

  • टर्ंप ने लोंगों से कहा कि इस बार देश की शासक जनता बनी है, यह शपथ सभी अमेरिकीवासियों के प्रति निष्ठा दिखाती है। सपथ ग्रहण में डेनाल्ड ने कुछ खास बातें कहीं। इनमें से कुछ इस प्रकार हैं। वहीं आतंकवाद पर डोनाल्ड अपने रुख पर कायम दिखे। उन्होंने कहा कि..

  • कट्टर इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ वो पूरी दुनिया को एकजुट करेंगे और उसे इस धरती से मिटाकर रहेंगे। हम ऐसा चमकेंगे कि सब हमारा अनुसरण करेंगे। मैं अपनी हर सांस के साथ आपके लिए लड़ूंगा और आपको निराश नहीं करूंगा।

  • ट्रंप ने कहा आज से...अमेरिका फर्स्ट! अमेरिका फर्स्ट! हम अपनी सीमा, अपनी नौकरियां और अपने सपनें वापस लाएंगे।अमेरिका एक बार फिर जीत की तरफ बढ़ेगा, कुछ ऐसे जैसा उसने पहला कभी नहीं किया। हम हमारी नौकरियां वापस लाएंगे।

  • हमने काफी लंबे समय तक अमेरिकी उद्योग को ताक पर रखकर विदेशी उद्योग को समृद्ध किया है।व्यापार, कर, विदेशी मामले और अप्रवासियों से जुड़े सारे फैसले अमेरिकी परिवारों और कर्मचारियों को ध्यान में रखकर लिये जाएंगे।

  • हम अपने देश को न बचाकर दूसरे देशों की सीमाओं की रक्षा कर रहे थे।सुरक्षा से खुशहाली और ताकत मिलेगी।अमेरिका की एक बार फिर पहले की तरह जीत होगी। हम ब्लैक, ब्राउन या व्हाइट कुछ भी हों, हम सभी देशभक्ती के लाल रंग को स्वीकार करते हैं।

  •  

  •  

  •  

  • 0

रघुराम राजन जारी करना चाहते थे 5000 और 10000 के नोट, हुआ खुलासा

नय़ी दिल्ली। RBI की ओर से लोक लेखा समिति को दी गई जानकारी से खुलासा हुआ है कि रघुरामराजन 2000 नही बल्कि 5000 और 10000 के नोट जारी करना चाह रहे थे। RBI  के पूर्वगवर्नर रघुराम राजन ने केंद्र सरकार को इस बारे में सुझाव भी दिया था। बतौर रघुरामराजन देश में बढ़ती महंगाई से कम हुई 1 हजार रुपए के नोट की कीमत के मद्देनजर यह सुझाव 2014 अक्टूबर में मोदी सरकार को दिया था।

हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ने इस सिफारिश को खारिज कर दिया और वह रीप्लेसमेंट करंसी के रुप में 2 हजार रुपए के नोट जारी करने का फैसला लिया गया।  जेटली ने कहा कि शुरु में 2,000 रुपए से खरीददारी करने में भी खुल्ले की समस्या सामने आ रही थी। ऐसे में यदि 5,000 या 10,000 रुपये के नोट जारी किए जाते तो यह समस्या और बढ़ सकती थी।

रघुरमराजन ने कहा था कि मंहगाई पर नियंत्रण पाया जा सके इसके लिए 5 हजार और 10 हजार रुपए के नोट जारी करने चाहिए। केंद्र सरकार ने मई, 2016 में RBI को बताया था कि वह 2 हजार रुपए के नए नोट लाने की तैयारी में है और जून में ही इन नोटों की छपाई के लिए प्रिंटिंग प्रेसों को निर्देश जारी कर दिए गए थे।

  • 0

आरक्षण को समाप्त करने की RSS की माँग अत्यन्त ही दुर्भाग्यपूर्ण एवं निन्दनीय-मायावती

नय़ी दिल्ली, 20 जनवरी,आर.एस.एस. के मनमोहन वैद्य द्वारा जयपुर में जारी लिटरेचर फेस्टिवेल के दौरान आरक्षण को समाप्त करने के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये मायावती जी ने कहा कि आर.एस.एस. का आरक्षण विरोधी बयान व दृष्टिकोण दुर्भाग्यपूर्ण व अति निन्दनीय भी है मायावती ने आर.एस.एस. के प्रवक्ता व प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य द्वारा दलितों व अन्य पिछड़ों को मिलने वाले आरक्षण का विरोध करने व इसे समाप्त करने की माँग की तीखी आलोचना करते हुये कहा कि संविधान व देशहित में आर.एस.एस. को अपनी गलत व जातिवादी मानसिकता बदलने की सख्त जरूरत है।

मायावती ने आरोप लगाया है कि केन्द्र की भाजपा व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार आर.एस.एस. की ही इशारों पर चलती है और यही कारण है कि दलितों व पिछड़ों को मिलने वाले आरक्षण की संवैधानिक सुविधा निष्क्रिय व निष्प्रभावी बनाने के साथ-साथ इसे समाप्त करने का प्रयास लगातार करती रहती है।

इतना ही नहीं बल्कि केन्द्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सरकार बनने के बाद भाजपा की नीति निर्धारक संस्था आर.एस.एस. के प्रमुख श्री मोहन भागवत ने भी आरक्षण की समीक्षा की आड़ में इस संवैधानिक व्यवस्था को समाप्त करने का प्रयास किया था, परन्तु देशभर में इसकी जबरदस्त विरोध के कारण फिर इनको अपना यह प्रयास रोकना पड़ गया था। किन्तु अब फिर इस मामले को छेड़ा गया है, जिसकी बी.एस.पी. कड़े शब्दों में निन्दा करती है।

मायावती जी ने कहा कि बी.एस.पी. आर.एस.एस. की आरक्षण सम्बन्धी गैर-संवैधानिक सोच को कभी सफल नहीं होने देगी तथा इनकी इस मंशा को देशहित में किसी भी कीमत पर सफल नहीं होने देगी।

  • 0

सीबीआई पड़ताल से सचिवालय में हडकम्प

नयी दिल्ली। सीबीआई की ताबड़तोड जांच पड़ताल ने दिल्ली सरकार में खलबली मचा दी है। Talk to AK प्रोग्राम के नाम पर सरकारी खजाने से भारी धन निकासी मामले में अधिकारियों से पूछताछ और कागजात खंगालने की प्रक्रिया जारी है। सूचना एवं प्रसार विभाग पूरी तरह रडार पर है। अधिकारियों में हडकम्प की स्थिति है। सरकारी खजाने से निकाले गए पैसों की पड़ताल में दिल्ली सरकार पर क्या असर पड़ता है इसका पता आने वाले दिनों में चलेगा मगर आम आदमी पार्टी सरकार ने सीबीआई को कोसना शुरू कर दिया है।

 

Talk to AK प्रोग्राम में खर्च हुई राशि का विवरण खंगालने में जुटी सीबीआई टीम इससे पहले लम्बे अर्से से दिल्ली सरकार में रहे आईएएस अधिकारी राजेन्द्र कुमार के केस पर काम कर रही थी। खबर है कि शूंगलू कमेटी की सिफारिशों को लेकर दिल्ली सरकार के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया पर भी शिकंजा कसने वाला है। पंजाब और गोवा चुनाव में आम आदमी पार्टी की बढ़ती सक्रियता पर विराम लगाने का सीबीआई दांव केन्द्र सरकार की नीयत पर सवाल खड़े करता है। दिल्ली सरकार के कामकाज पर सीबीआई जांच का क्या असर होगा देखना होगा।

 

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने एलानिया जंग छेड़ दी है कि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन के खिलाफ सीबीआई के पास माकूल दस्तावेज हैं। कांग्रेस इस मामले में तटस्थ भूमिका में हैं लेकिन प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने आप सरकार के भ्रष्टाचार की पोल खोलने का अभियान तेज कर दिया है साथ ही केन्द्र सरकार की नोटबन्दी के खिलाफ जनवेदना यात्राएं निकाली जा रही हैं।


दूसरी तरफ दिल्ली सरकार सोची समझी साजिश के तहत सीबीआई जांच कराए जाने की बात कहकर केन्द्र सरकार को लपेटने में लगी हुई है। दिल्ली सरकार के सूचना प्रसार विभाग पर सीबीआई छापेमारी से अन्य विभागों में दहशत का सा माहौल बना हुआ है।

  • 0

जल्लीकट्टू हिन्दुओं का धार्मिक मामला, किसी को नही हस्तक्षेप का अधिकार

नयी दिल्ली: राष्ट्रवादी शिवसेना और यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट (हिन्दू संगठनों का समूह) के एक शिष्टमंडल ने राष्ट्रपति से भेंट कर उन्हें एक ज्ञापन प्रस्तुत किया जिसमें हिन्दुओं के अदम्य साहस भरे खेल ‘जल्लीकट्टू’ पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिए तत्काल हस्तेक्षप करने का उन्हें आग्रह किया है। ज्ञापन की प्रति प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश को भी भेजी गई है।

 

राष्ट्रवादी शिवसेना के अध्यक्ष एवं यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट के राष्ट्रीय महासचिव श्री जय भगवान गोयल द्वारा प्रेषित ज्ञापन में कहा गया है कि आज पूरे देश में जल्लीकट्टू का मुद्दा छाया हुआ है। तमिलों ने इसके लिए व्यापक आंदोलन छेड़ रखा है। चेन्नई के मरीना बीच पर बडे़-बडे़े सितारे, बुद्धिजीवि और आम नागरिक जमा होकर संघर्षरत हैं और सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जल्लीकट्टू पर लगाई गई रोक हटाने की मांग कर रहे हैं।

 

ज्ञापन में कहा गया है। कि बकर ईद जैसे त्यौहारों पर लाखों-करोड़ों बकरों-ऊंटों की बलि के नाम पर हत्या कर दिए जाने की ओर कोई संज्ञान क्यों नही लिया जाता। यहीं नहीं पश्चिमी बंगाल के उच्च न्यायालय द्वारा राज्य में गौहत्या पर प्रतिबंध लगाए जाने के बावजूद वहां गऊओं को काटना क्यों जारी है? जानवरों को मार कर खाने को नजरान्दाज करके मात्र हिन्दुओं के उत्सव जल्लीकट्टू  पर रोक लगाना किसी स्थिति में उचित नहीं ठहराया जा सकता। ज्ञापन में आगे कहा गया कि संविधान के अनुच्छेद 25 के अनुसार हिन्दुओं को अपने धर्म को अबाध रूप से माने आचरण करने और प्रचार करने का मूलाधिकार मिला हुआ है। इसी के साथ अनुच्छेद 26 हिन्दुओं को अपने धार्मिक कार्यो के प्रबन्धन स्वयं करने का मूलाधिकार धार्मिक संस्थाओं को देता है। ज्ञापन में यह भी कहा गया कि जल्लीकट्टू हिन्दुओं का धार्मिक मामला है जिसमें हस्तक्षेप का अधिकार न तो किसी प्रशासन को है और न ही कोई न्यायालय इस मामले में कोई आदेश जारी कर सकता है।

 

ज्ञापन में हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ध्यान में रखते हुए जल्लीकट्टू पर लगी रोक को हटाने के लिए सर्वोच्च न्यायालय से पुर्नविचार करने की अपील की गई है। ज्ञापन देने वाले शिष्टमंडल में उपस्थित महानुभावों में गोयल के अतिरिक्त यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट के उपाध्यक्ष चन्द्र प्रकाश कौशिक, राष्ट्रवादी शिवसेना के राष्ट्रीय संगठन मंत्री गुलशन कुमार रात्रा, हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना कुमार शर्मा यू.एच.एफ.के प्रैस सचिव मुकेश जैन, अखिल भारतीय वैश्य महापंचायत के शंकर लाल अग्रवाल, राष्ट्रवादी शिवसेना दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष ईश्वर चैधरी एवं यूनाईटेड हिन्दू फ्रंट दिल्ली के संयोजक धर्मेन्द्र बेदी के नाम उल्लेखनीय हैं।

  • 0

सरकारी खर्च पर स्कूली बच्चों को दिखायी गई "दंगल"

नय़ी दिल्ली। बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ अभियान के तहत दक्षिण पश्चिमी जिले के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट अभिषेक देव ने स्कूली बच्चों को दंगल मूवी दिखाने के एक कैम्पेन का हरी झण्डी दिखाकर उद्घाटन किया। सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक स्कूली बच्चियों में सुरक्षा और आत्मरक्षा के कौशल का विकास करने के मकसद से नजफगढ़ क्षेत्र के स्कूली विद्यालयों में दंगल मूवी दिखाए जाने का फैसला लिया गया है।

 

प्रवक्ता के मुताबिक दंगल मूवी राजकीय कन्या विद्यालय नम्बर 1 नजफगढ़ प्रांगण में 500 बच्चों के प्रथम बैच ने एकसाथ दंगल फिल्म देखी। एसडीएम नजफगढ़ अदिति सहरावत ने इस दौरान प्रथम बैच को हरी झण्डी दिखाकर दंगल मूवी दिखायी। इस दौरान उन्होंने डीएम के संदेश से स्कूली बच्चों को रूबरू कराते हुए कहा कि लड़कियां किसी भी मामले में लड़कों से कम नहीं होती इसलिए उनमें असुरक्षा की भावना से बचने के लिए प्रेरणा दिया जाना आवश्यक है।

 

उन्होंने बताया कि इस तरह के 9 बैच लगाए जाएंगे। अंतिम बैच नजफगढ़ स्टेडियम में 24 जनवरी को लगाया जाएगा जहां राजकीय गर्ल्स चाईल्ड डे का भी आयोजन किया जाएगा। दंगल मूवी दिखाने के लिए 9 बैच लगाए जाने की जानकारी देते हुए प्रवक्ता ने बताया कि 21, 23 व 24 जनवरी को सरकारी कन्या विद्यालयों में ये बैच लगाए जाएंगे। इस दौरान अभिभावकों को भी ये संदेश देने की कोशिश की जाएगी कि वे लिंग के आधार पर भेदभाव न करें और लड़कियों को भी वही लाड-प्यार दें जो कि अपने लड़कों को देते हैं।

  • 0

सूचना आयुक्त पर पक्षपात का आरोप

नयी दिल्ली। सूचना आयुक्त डॉ. श्रीधर आचार्यालु पर पक्षपात फैसला सुनाने का आरोप लगाते हुए सच फाउण्डेशन के उमेश चन्द्र मौर्या ने कहा कि इसी पीठ के समक्ष जब नागरिक अधिकार चेतना मंच के जगदीश सक्सेना ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के बारे में जानकारी सार्वजनिक किए जाने की मांग की थी तो उन्हें गोपनीयता का हवाला देते हुए सूचना देने से इन्कार कर दिया गया था। गौरतलब है कि सूचना आयुक्त ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से पीएम नरेन्द्र मोदी की डिग्री सार्वजनिक करने का आदेश दिया है।

 

सच फाउण्डेशन के उमेश चन्द्र मौर्या ने मीडिया को जारी बयान में स्पष्ट किया है कि यह फैसला देश के सर्वोच्च नागरिक प्रधानमंत्री से जुड़ा है इसलिए ऐसे मामले की सूचना देने के लिए बाध्य किया जाना ठीक नहीं है। उन्होंने सूचना आयुक्त की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि उन्होंने जानबूझकर ऐसा आदेश पारित किया है जिसमें राजनीतिक बू आ रही है। पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह द्वारा जारी किए गए घोषणा पत्र से जुड़े एक मामले को नागरिक अधिकार चेतना परिषद ने आरटीआई के जरिए सूचना मांगी तो मामला सूचना आयुक्त तक पहुंचा तो उन्होंने मामले को गोपनीय बताते हुए सूचना देने से इंकार कर दिया गया। आज दोहरा मापदण्ड क्यों।

  • 0

देशद्रोह के आरोपी के इशारे पर नाच रही यूपी सरकार -प्रमोद कृष्णन

मनोज श्रीवास्तव /लखनऊ। सपा सरकार के इशारे पर मंदिर के गर्भगृह के निर्माण पर लगी रोक को हटवाने के लिए संतों ने राज्यपाल रामनाईक से गुहार लगाई। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर आंदोलन से जुड़े पूर्व भाजपा सांसद व विहिप नेता डॉ रामविलास वेदांती और कांग्रेस पृष्ठिभूमि के माने जाने वाले संत आचार्य प्रमोद कृष्णन ने राजभवन में गवर्नर को पत्र देकर संभल के अचोरा में बनाये जा रहे कल्कि मंदिर के गर्भ गृह के निर्माण पर लगी रोक को हटाने के लिए हस्तक्षेप करने की अपील किया।

 

राज्यपाल से मिलकर लौटे कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णन ने दो का सामना को बताया कि इनामुर्रहमान नाम के देश द्रोह के आरोपी की धमकी के आगे यूपी सरकार ने घुटने टेक दिए। उन्होंने कहा कि इनामुर्रहमान पर दो बार देश द्रोह व दो बार दंगा कराने का आरोप है। उसने यूपी सरकार को धमकी दी थी कि यदि कल्कि मंदिर का गर्भगृह बन गया तो वह दंगा करा देगा।

 

यूपी की निकम्मी सरकार उसे गिरफ्तार करने की जगह मंदिर पुलिस भेज कर मंदिर का निर्माण रोकवा दिया। इस संदर्भ में संभल के असमौली थानें के इन्स्पेक्टर ने दो का सामना को बताया कि इस मंदिर का निर्माण रोकने के लिए थाने पर कोई तहरीर नहीं आयी है। ७ नवम्बर २०१६ को उच्याधिकारियों के निर्देश पर शांति भंग की आशंका के मद्देनजर मंदिर का निर्माण रोकवा दिया गया है। तब से स्थित यथा पूर्वक बना है।

टिकट बँटवारे के बाद सपा से नाराज हुए यादव नेता, देंगे इस्तीफा

गौरव शर्मा/सीतापुर, समाजवादी पार्टी में रार थमने का नाम नहीं ले रही है आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के द्वारा प्रदेश में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों के टिकट की लिस्ट जारी किये जाने के बाद एक बार फिर से नया विद्रोह होते दिखाई दे रहा है।

 

सीतापुर जनपद में आज समाजवादी प्रत्यासियो के टिकट वितरण में यादव समाज के किसी भी नेता को टिकट न मिलना चर्चा का विषय बना है।वहीं पार्टी के इस फैसले से नाखुश कई समाजवादी पार्टी के नेता अपने समर्थकों के साथ पार्टी से इस्तीफा देने की तैयारी कर रहे है।

 

नमामि भारत से खास बातचीत में टिकट वितरण से नाखुश समाजवादी नेताओ ने बताया कि टिकट वितरण में यादव समाज की अनदेखी करते हुए जनपद में एक भी यादव नेता को टिकट नहीं दिया गया जिसका हम विरोध करते है और अगर मुख्यमंत्री जी ने जनपद में यादव समाज से किसी को प्रत्यासी को टिकट नहीं दिया तो हम और हमारे सभी साथी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जी के पास जाकर समाजवादी पार्टी से अपना इस्तीफा दे देंगे।

 

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने शुक्रवार को 208 कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी की इस लिस्‍ट के अनुसार 52 मुस्लिम (28%), 50 ओबीसी (24%), 34 सवर्ण (16%), 41 एससी (20%), 27 यादव (13%), मुस्लिम 58 (28%) कैंडिडे्टस को टिकट दिया गया है।

 

Subscribe to this RSS feed
loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px