Log in

 

updated 9:21 AM UTC, Oct 17, 2017
Headlines:

हाथियों ने पुरे गांव को किया बेघर दहशत के साये ग्रामीण

Hathi sabka sathi Hathi sabka sathi

रायगढ़ धरमजयगढ़- छत्तीसगढ़ के रायगढ़ वन मंडल धरमजयगढ़ के वन परिक्षेत्र बोरो के ग्राम  पोरिया के आश्रीत ग्राम राईतराई में बीते दस दिनों से 12 हाथियो ने इस कदर उत्पात मचाया की गांव में बसे 21 परिवार में से 17 घरो को पूरा नस्ट कर दिया। ग्रामीण सुबह होने के बाद अपने घर में दबे सामानों को निकालने का प्रयास करते दिखे तो कहीं मासूम बच्चे के साथ टूटे घरों में अपने परिवार के साथ,ग्रामीण दहशत के साय में जीने मजबूर हैं।

 

आलम ये है की दिन भर अपने टूटे फूटे घर ओर सामान को सहेजते हैं और रात में सोने के लिए समरसुता नाला को पैदल पार करके दूसरे गाँव सोने के लिए जाते हैं।

 

राईतराई ग्रामीण के समरसुता नाला बना आफत

 

कभी भी ग्रामीण बारिश होने से नाला में पानी भर जाने के कारण अपने छोटे छोटे बाल बच्चों के साथ रात भर अपने गांव में हाथियो के दहशत के साये में रात बिताने में मजबूर दिखे,गांव को देखने से ऐसा लगता है की गांव मूल भुत सुविधाओं से बिलकुल वंचित है। जबकि हाथी प्रभावित क्षेत्र में शासन को जल्द ध्यान देने की जरुरत है।

 

हाथी सबका साथी के सजल मधु राइतराइ बस्ती में पहुंच कर हाथी प्रभावित ग्रामीणों की हालात का जायज़ा लिया तथा हालात को देख कर दुःख व्यक्त किया। उनका हाल चाल जानने के बाद लगभग 2 घंटे तक ग्रामीणों के साथ वार्तालाप के दौरान उन्हें हाथियों से बचने के उपाय सुझाया,हाथी प्रभावित गांव वासियों को  बताया की हाथी क्यों उत्तेजित होते हैं ,उन्हें कभी न छेड़े ,शराब पीकर हाथी के सामने कभी भी न जायें।

 

ग्रामीणों को आश्वासन दिलाते हुए विभाग को जानकारी देकर जल्द मुवावजा दिलाने का भरोसा दिलाया। हाथी सबका साथी के सजल मधु वनमंडलाधिकारी प्रणय मिश्रा से तत्काल मिल कर ग्रामीणों की हालात से अवगत कराया,पश्चात राईतराई गांव में डी.एफ.ओ.डॉ.प्रणय मिश्रा पंहुचा ग्रामीणों का हालात का जायजा लियाऔर ग्रामीणों को नुकसान का जल्द से जल्द नुकसानी का मुआवजा दिलाने का भरोसा दिया।

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px