Log in

 

updated 12:34 PM UTC, Jun 23, 2017
Headlines:

इबोबी की राजनीति से जल रहा मणिपुर

नयी दिल्ली। पिछले कई दिनों से हिंसा की आग में झुलस रहे मणिपुर में हालात सामान्य नही हो पा रहे हैं,केंद्र ने नाकेबंदी के खत्म करने के लिए केंद्रीय बलों के 4000 और जवानों को इंफाल भेजा है। यूनियन नगा कौंसिल (यूएनसी) ने आर्थिक नाकेबंदी के तहत 1 नवंबर से मणिपुर को जाने वाली एनएच-2 को जाम कर रखा है। जिससे मणिपुर की राजधानी इंफाल सहित राज्य के अन्य हिस्सों में आवश्यक उपभोक्ता वस्तुओं की जबरदस्त किल्लत हो गई है। ईबोबी सरकार द्वारा 7 नये जिले गठन के बाद नगा समूहों का आरोप है कि सरकार नगाओं की पैतृक जमीनें छीन रही है।

 

नगाओं ने सदर हिल (कांगपोकपी) और जिरीबाम जिले बनाए जाने के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया।गौरतलब है कि -2017 में होने वाले असेंबली चुनावों के ठीक पहले 7 नए जिलों कांगपोकपी,नोनी,कामजोंग,तेंगनुपाल,फेरजॉल जिरिबाम और काकचिंग के गठन को इबोबी सरकार द्वारा बहुसंख्यक मीतई समुदाय को लुभाने के लिए किये गये कार्य के तौर पर देखा जा रहा है। दरअसल इस 7 जिलों में नागा और आदिवासी बहुल हैं। जिनकी दलील है कि यह जमीन नागाओं की पैतृक संपत्ति है। ऐसे में उनसे सलाह-मशविरा किए बिना अलग जिलों के गठन से उनके हित प्रभावित हो सकते हैं।

 

यूएनसी की इस कार्यवाही के खिलाफ इंफाल सहित मणिपुर के अन्य हिस्सों के लोग सड़कों पर उतर आए और जमकर हिंसा हुई। हालात ये हैं कि खाने पीने के सामान से लेकर तेल और सिलेंडर की कीमतें 5 गुनी तक बढ चुकी हैं।

 

वहीं केंद्र ने नाकेबंदी के खत्म करने के लिए केंद्रीय बलों के चार हजार और जवानों को इंफाल भेजा है। इसको लेकर केंद्र इस अशांत राज्य में अब तक 17,500 जवान तैनात हो चुके हैं।

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार ‘हमारी पहली प्राथमिकता मणिपुर को नगालैंड से जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग-2 (एनएच-2) को खुलवाना है।’

कर्फ्यू के बावजूद हालात बेकाबू होते देख केंद्र को हस्तक्षेप करना पड़ा। गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने भी राज्य का दौरा कर सरकार को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि जाम खुलवाने में राज्य सरकार असफल साबित हुई है गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मणिपुर के मुख्यमंत्री इबोबी सिंह को कड़ी फटकार लगाई।


सूत्रों का कहना है कि मणिपुर में कांग्रेस सरकार को पता है कि मुकाबला कड़ा होने वाला है। क्योंकि बीजेपी ने इंफाल म्युनिसिपल चुनावों में 27 में से 10 सीटें जीकर कांग्रेस के इबोबी सरकार की नींद उडा दी है। वहीं दूसरी तरफ नगा समुदाय का झुकाव बीजेपी की तरफ ज्यादा है हालांकि नगा पीपल्स फ्रंट से गठबंधन का ऐलान बीजेपी ने नही नहीं किया है।

Last modified onTuesday, 27 December 2016 12:50

Leave a comment

Make sure you enter the (*) required information where indicated. HTML code is not allowed.

loading...

New Delhi

Banner 468 x 60 px